बिना श्रेणी

PCOS : भारत की चार में से एक महिला पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम से ग्रस्त

क्या होता है PCOS?


भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के आंकड़ों के अनुसार, चार में से एक महिला पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम से ग्रस्त होती हैं। बेहद आम बीमारी होते हुए भी महिलाये इस बीमारी के लक्षणों और कारणों के बारे में नहीं जानती हैं। आइये जानते है क्या होती है पॉली सिस्टिक ओवरी सिंड्रोम या पॉली सिस्टिक ओवरी डिसऑर्डर।

क्या है पॉली सिस्टिक ओवरी सिंड्रोम/ पॉली सिस्टिक ओवरी डिसऑर्डर 

(PCOS/PCOD)-
पॉली सिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) या पॉली सिस्टिक ओवरी डिसऑर्डर (PCOD) लड़कियों और महिलाओं में होने वाली स्वास्थ्य समस्या है ।पीसीओएस या पीसीओडी एक ऐसी मेडिकल समस्या है जिसमे महिलाओ को मेटाबोलिक और हार्मोनल असंतुलन के कारण अन्य समस्याएं जैसे उच्च रक्तचाप, उच्च कोलेस्ट्रॉल, चिंता और अवसाद, स्लीप एप्निया, दिल का दौरा, मधुमेह और एंडोमेट्रियल, स्तन कैंसर आदि हो जाता हैं।

जब किसी महिला की ओवरी (अंडाशय) में पुरुष हार्मोन टेस्टोस्टेरोन का उत्पादन महिलाओं के हार्मोन एस्ट्रोजन की तुलना में अधिक होता है तो उस समस्या को PCOS / PCOD कहते हैं। पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम में आमतौर पर महिला के शरीर में पुरुष हॉरमोन एण्ड्रोजन का स्तर बढ़ने से महिला की ओवरी में एक से ज्यादा सिस्ट बन जाते हैं।

PCOS/PCOD के लक्षण 

PCOS/PCOD के लक्षण पीरियड्स की समस्या से जुड़ें होते हैं। इसके अन्य लक्षण हैं –
• अत्यधिक वजन बढ़ना या कम होना
• पीरियड्स का अनियमित होना
• जरूरत से जायदा थकान
• फेसिअल हेयर ग्रोथ होना
• बालों का पतले होना
• पेल्विक दर्द उठना
• चेहरे और कमर पर मुंहासे
• सिर दर्द बने रहना
• नींद की समस्या
• गर्भधारण ना कर पाना
• मूड स्विंग होना आदि

PCOS के कारण 


पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम के मुख्य तीन कारण होते हैं :

• अनुवांशिकता – जब किसी महिला के गर्भ में पल रहे बच्चे में यह बीमारी होती है तो इसे अनुवांशिक कहते हैं। इसमें बच्चा मां के जीन्स से इस बीमारी को अपने अंदर संचरित केर लेता हैं।

• इंसुलिन क्षमता –  जब किसी महिला का शरीर इंसुलिन को  शोषित करने की क्षमता को नहीं बनाये रख पाता या  इंसुलिन  प्रतिरोधि हो जाता हैं तो PCOS हो  जाती है। ऐसे में शरीर मवे कोशिकाएं इंसुलिन का इस्तेमाल नहीं कर पाती है और इसके कारण डायबिटीज और मोटापे जैसी समस्याएं आती हैं।

• शरीर पर सूजन  – किसी महिला के शरीर में पुरुष हार्मोन का अधिक उत्पादन होने से सूजन आती है।

PCOS का उपचार करने के उपाय

• संतुलित आहार का सेवन
• वज़न कम करें
• तनाव से दूर रहें
• नियमित व्यायाम या मेडिटशन करे
• धूम्रपान और शराब  से दूर रहें

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।