World Polio Day 2020: बेहद खतरनाक होता है पोलियो का वायरस, जाने कितनी जरूरी है इसकी वैक्सीन

0
21
polio

जाने क्यों मनाया जाता है विश्व पोलियो दिवस


डब्ल्यूएचओ यानि की विश्व स्वास्थ्य संगठन पोलियो उन्मूलन के लिए हमेशा प्रयासरत रहा है और इसी के साथ हम लोग हर साल इस लक्ष्य के करीब पहुँचते जा रहे है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने लोगों को जागरूक करने के लिए जो कदम उठाए हैं उससे हर व्यक्ति अपने स्तर पर पोलियो को खत्म करने में मदद कर सकता हैं. पोलियो को रोकने और खत्म करने के लिए हर साल पूरी दुनिया में 24 अक्टूबर को विश्व पोलियो दिवस मनाया जाता है. जोनास सॉक ने पोलियो के खिलाफ़ वैक्सीन का विकास किया था. इसलिए जोनास सॉक को याद करते हुए और उनको श्रद्धांजलि देने के लिए हर साल विश्व पोलियो दिवस मनाया जाता है।

विश्व पोलियो दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य

विश्व पोलियो दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य पोलियो जैसी खतरनाक बीमारियों के विषय में लोगों में जागरूकता फैलाना है। क्या आपको पता है पोलियो एक संक्रामक बीमारी है जो आपके पूरे शरीर को प्रभावित करती है. इस बीमारी का शिकार अधिकाश बच्चे ही होते है. साथ ही आपको बता दे कि पोलियो को ‘पोलियोमाइलाइटिस’ या ‘शिशु अंगघात’ के नाम से भी जाना जाता है पोलियो एक ऐसी बीमारी है जिससे अभी तक बहुत सारे राष्ट्र बुरी तरह से प्रभावित हो चुके हैं. जबकि कई सारे देश पोलियो से पूरी तरह मुक्त हो चुके है। साथ ही साथ आज भी बहुत सारे ऐसे देश है जो इस खतरनाक बीमारी को खत्म करने पर लगे हुए है।

और पढ़ें: जाने क्यों मनाया जाता है विश्व विकास सूचना दिवस, और इसका महत्व

पोलियो का कोई इलाज नहीं

हमारा देश पोलियो मुक्त होने के बावजूद भी, आज यहाँ हमें अपने बच्चे को इस वायरस से बचाने के लिए कुछ बातों का ध्यान विशेष ध्यान रखना पड़ता है। सबसे अहम बात यह है कि इस बीमारी का कोई इलाज नहीं है, इसे सिर्फ होने से रोका जा सकता है. हमारे देश में आज भी बच्चों में इस वायरस से बचाने के लिए पोलिया की ऑरल वैक्सीन दी जाती है. जैसे की हम सभी लोग जानते है कि पोलियो एक संक्रामक बीमारी है.  जो कि पोलियो के वायरस से फैलती है यह वायरस सीधे सेंट्रल नर्वस सिस्टम को प्रभावित करता है. इस पोलियो के वायरस से सांस लेने में तकलीफ, पैरालाइसिस और मौत तक का खतरा रहता है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com