रिलेशनशिप में कभी न अनदेखी करें ये बातें


कभी न हल्के में लें ये 5 बातें


कोई भी रिलेशन चाहे वह पति पत्नी का हो या फिर गर्लफ्रेंड बियफ़्रेंड वाला, वह बहुत सुंदर ख़्वाबों जैसा लगता है अगर सब कुछ स्मूद चलता रहे परंतु क्या आप यह जानते है यही सुन्दर दिखने वाले रिलेशनशिप कभी कभी डरावने सपमे की तरह काठने को दौड़ते हैं। आखिर यह समय रहते कैसे रोका जाए ? इसका उत्तर है परिस्थितियो पर पहले से ही नज़र रखना। और उन्हें सही करना।

जब हम किसी के साथ रिलेशनशिप में होते हैं तब उनकी न जाने कितनी ही गलतियों को अनदेखा कर देते हैं जिसके पीछे हमारी सोच होती है की यदि हमारे थोड़ा कोम्प्रोमाईज़ करने से बात सुलझ जाती है तो इसमें गलत क्या है, वैसे भी जब दो अलग स्वाभाव के लोग साथ रहते हैं तो लड़ाई होनी भी स्वाभाविक है। और यह उतनी समस्या की बात भी नहीं है। दिक्कत तब होती है जब आप इससे उभर ही नहीं पाते। रिलेशन इतने ओपन होने चाहिए की अगर तारीफ करने में झिजक न हो तो कमियाँ निकलने में भी झिजक न हो।

hipwee-bertengkar

यह बात बिलकुल सच है कि एक रिलेशन में भरोसा और प्यार बेहद ज़रूरी होते हैं लेकिन प्यार में इतना भी अँधा होना उचित नहीं है कि सामने वाला बन्दा अपनी सभी हदें लांग जाये और आप मुँह बन्द क्र के सब सहते रहे। अगर आप उन्हें ऐसे ही माफ़ करते रहेंगे तो उनकी हिम्मत बढ़ेगी और यह भविष्य में आपके लिए ही हानिकारक होगा। कुछ बातों पर शांत रहना सही है पर लेकिन कुछ ऐसी बातें होती हैं जिन्हें बिलकुल भी नज़रंदाज़ नही करना चाहिए तो आइये जाने वे कोनसी बातें है।

मारपीट- कभी कभी सम्बन्ध इतने खराब हो जाते हैं की आपका साथी आप पर हाथ उठाने से नही कतराता। आप इसे तो बिलकुल भी अनदेखा नही कर सकते क्योकि इससे केवल आपका ही नुक्सान होगा। यह देखा गया है कि बिगड़ैल शादी शुदा मर्द अपनी बीवी पर हाथ उठाने से नही डरते तो आपकी भलाई भी इसी में है कि आप इस रिश्ते को खत्म कर दें।
इमोशनल या वर्बल एब्यूज- फिजिकल वायलेंस या फिर एब्यूज के निशान बड़ी ही आसानी से शरीर पर नज़र आ जाते हैं। पर उन चोट का क्या जो दिखते नही केवल महसूस किये जा सकते हैं। मेन्टल एब्यूज कुछ ऐसा ही काम करती है। इससे मनुष्य तनाव से युक्त रहने लगता है। अगर आपको कुछ ऐसी बातें रोज़ बोली जाती हैं जिनसे आपको तकलीफ पहुचती है तो खुद की इस रिश्ते से दूर कर लें।

अगर वह धोखा दे रहा है- अगर आपका साथी आपको चीट क्र रहा है तो आपका पूरा हक है उस रिश्ते को वही खत्म कर देने का। जो इंसान एक बार धोका दे सकता है वह कितनी भी बार धोका दे सकता है। इसलिए ऐसी परिस्थिति में खुद के दिल पर पत्थर रख कर एक कठोर फैसला लें । शादी होने का मतलब यह नही की आप अपने साथी की गलतियाँ माफ़ करते रहे इसलिए ऐसी परिस्थिति में आशा न खोए।

यदि वह ज़बरदस्ती करता है तो- कई लोगों की यह सोच होती है कि बीवी का कर्त्तव्य ही पति को खुश रखना होता है। परंतु ऐसा बिल्कुल भी नहीं है क्योंकि पत्नी भी इंसान ही है। लोगों को लगता है कि जब भी पति शारीरिक सम्बन्ध की पहल करे तब पत्नी को मानना चाहिए पर नहीं यदि आपकी मर्ज़ी के विरुद्ध वह आपसे ज़बरदस्ती सम्बन्ध बनाता है तो यह बलात्कार ही है।

क्या वह दूसरे रिश्तों को लेकर आपको कंट्रोल करता है- कई पति या बॉयफ्रेंड अपनी साथी पर कई लोगो से बात न करने की पाबन्दी लगा देते हैं। आखिर यह पाबंदी क्यों क्या वे आप पर विश्वास नही करते यदि आपका इस वजह से दम घुटने लगे तो उसे खत्म कर दें।

Story By : AvatarKajal Sumal
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
%d bloggers like this: