हॉट टॉपिक्स

Live update on omicron- भारत में बढ़ रहा है ओमिक्रॉन का खतरा, महाराष्ट्र सबसे ज्यादा प्रभावित अब तक 28 लोग संक्रमित

Live update on Omicron- पश्चिम बंगाल में 7 साल बच्चा संक्रमित


भारत में ओमिक्रॉन का खतरा दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। इसी बीच देश में ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमितों की संख्या 64 हो गई है। जिससे सबसे अधिक प्रभावित महाराष्ट्र है। महाराष्ट्र में अबतक 28 मामले मिल चुके हैं। दूसरे नंबर पर राजस्थान है जहां 13 मामले है। इसके अलावा दिल्ली में 6, गुजरात में 4 कर्नाटक में 3, केरल में 1 आंध्रप्रदेश 1, चंडीगंड में 1 मामला संक्रमण का सामने आया है। ओमिक्रॉन के बढ़ते संक्रमण के बीच क्रेंद्र सरकार की चिंता  बढ़ा दी है।

इसी को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने बूस्टर डोज पर तेजी से काम शुरु कर दिया है। ताकि इस खतरनाक वैरिएंट से निपटा जा सके। मेट्रो शहरों में लगातार बढ़ते केस के बीच तेलगांना की राजधानी हैदराबाद में दो नए संक्रमितों की पुष्टि हुई है।

तेलगांना सरकार सार्वजनिक स्वास्थ्य निदेशक श्रीनिवास राव ने कहा कि संक्रमितों में एक पुरुष और एक महिला है। जिसमें पुरुष सोमालिया का है और महिला केन्या की निवासी है।  भारत में बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रण के 6,984 नए मामले सामने आए हैं और 247 लोगों की मौत हो गई है। वहीं पश्चिम बंगाल में आज कोरोना के पहला मामला मुर्शिदाबाद में 7 साल के बच्चे के बीच पाया गया है।

नोएडा में पांच लोग संक्रमित

देश में एक बार फिर कोरोना का खतरा बढ़ता जा रहा है। न्यूज एजेंसी एएनआई (ANI) के अनुसार हाल में ब्रिट्रेन से वापस आए पांच लोग क्रोरोन संक्रमित पाए गए है। जिसे पुष्टि सीएमओ डॉ. सुनील शर्मा ने की है। उन्होंनें बताया कि संक्रमितों के सैंपल जीनो सीक्वेंसिग के लिए भेज दिए गए हैं। जिसमें ओमिक्रॉन संक्रमण की जांच की जा सके।

महाराष्ट्र सबसे ज्यादा प्रभावित

जब से कोरोना का आगमन हुआ है। इसका सबसे ज्यादा प्रभाव महाराष्ट्र में देखने को मिला था। डेल्टा वेरिएंट के बाद अब ओमिक्रॉन का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। बुधवार तक राज्य में 28 लोग संक्रमित हो गए हैं। जिसमें 3 महिलाएं और 5  पुरुष शामिल है। इन सबकी उम्र 24 से 41 तक है। इनमें से कोई भी विदेश की यात्रा से नहीं आया है। बल्कि एक शख्स बेंगलूरु से आया था। जबकि दूसरा दिल्ली से लौटा था।

दूसरी डोज लेने के बाद भी लोग संक्रमित हुए

ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे के बीच कोरोना वैक्सीन के दो डोज काफी नहीं है। ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में कोरोना वैक्सीन का ओमिक्रॉन पर असर का अध्ययन किया गया जिसके अनुसार ओमिक्रोन पर वैक्सीन के दो डोज ले चुके लोगों पर जो अध्ययन किया गया उसके अनुसार ओमिक्रोन के खिलाफ वैक्सीन की दो डोज प्रभावी नहीं है। कम एंटीबॉडी होने पर दोबारा संक्रमण होने का खतरे की संभावना है।

ये अध्ययन उन्होंने एस्ट्राजेनेका –ऑक्सफोर्ड या फाइजर बायो एनटेक की दो डोज ले चुके लोगों के खून के सैंपल इकट्ठा करके किया है। ऐसे वैक्सीनेटेड लोगों के खून के सैंपल से पाया गया कि इन लोगों मे ओमिक्रॉन से लड़ने के लिए एंट्रीबॉडी की पर्याप्त मात्रा की कमी है।

डब्ल्यूएचओ (WHO) की चेतावनी

डब्ल्यूएचओ ने कहा कि अब तक 77 देशों में ओमिक्रॉन के केस की पुष्टि हुई है। पिछले 24 घंटे के 7, 850 मामले सामने आए हैं। जिसमें से 70 लोगो की मौत हो चुकी है। ओमिक्रॉन पिछले वैरिएंट के ज्यादा तेजी से  बढ़ रहा है। जिसके कारण 964 मरीजों की हालात गंभीर है।

Live update on omicron

ब्रिट्रेन में सबसे अधिक खतरा

ब्रिट्रेन में ओमिक्रॉन का खतरा सबसे अधिक है। अब तक ब्रिट्रेन में 5000 संक्रमित हुए हैं। जिसमें 10 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अब तक एक शख्स की मौत हो गई है।  ब्रिट्रेन के स्वास्थ्य मंत्री कहा कि ओमिक्रॉन इतनी तेजी से फैल रहा है कि स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा सकती है। ऐसे  कोरोना वायरस प्रतिबंधो को और कड़े करने और  बूस्टर वैक्सीन शॉट्स में तेजी लाने का वक्त है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Back to top button