Jannah Theme License is not validated, Go to the theme options page to validate the license, You need a single license for each domain name.
हॉट टॉपिक्स

Narcotic jihad: जानें नारकोटिक्स जिहाद के पीछे की राजीनीति और ईसाई समाज में इसका विरोध

Narcotic jihad: सिस्टर्स कर रही है बिशप का विरोध


Narcotic jihad: लव जिहाद एक ऐसा शब्द जिसका जिक्र होते ही एक दरार सी दिखने लगती है। पहले पहल इसकी चर्चा ज्यादातर हिंदी पट्टी में सुनने को मिलती है। लेकिन अब इसकी गूंज दक्षिण में भी गुंजने लगी है। केरल की हादिया तो आपको याद होगी ही न जिसके लव मैरिज के मामले में सुप्रीम कोर्ट को अपना फैसला सुनाना प़ड़ा था। बीच-बीच से सुन्ना पड़ता यह शब्द अपनी मौजूदी को किसी न किसी की जुबान से दर्ज करा ही देता है। अब इस शब्द ने अपनी मौजूदी से केरल की सामाजिक और राजनीति स्थिति में खलबली मचा दी है। कैसे मचाई है आपको बताते हैं।

Narcotic jinhad

रविवार के दिन एक खबर आई है कि केरल के एक बिशप ने लव और नारकोटिक जिहाद का जिक्र किया है। अब बयान के बाद तो राज्य में लोग दो गुट्टों में बंट गए। यहां तक की ईसाई समाज की नन(सिस्टर्स) ही इनके विरोध में खड़ी हो गई। मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने भी अपनी प्रतिक्रिया इस पर दी है।

क्या कहा बिसप का बयान

केरल राज्य के कैथोलिक बिशप जोसेफ कल्लारनगट्ट ने अपने विवादित बयान में कहा कि बड़ी संख्या में ईसाई समाज की लड़कियों को लव जिहाद और नारकोटिक जिहाद में फंसाया जा रहा है। राज्य में यह सारी साजिशें गैर मुस्लिम समुदाय समाज और धर्म को खत्म करने की साजिश रची जा रही है। ये सभी लोग भारत जैसे लोकतांत्रिक देश में हथियारों को प्रयोग नहीं कर सकते हैं। इसलिए हमारी युवतियों को टारगेट किया जा रहा है। उन्हें लव जिहाद के मामले में फंसाकर अपने मिशन को कामयाब किया जा रहा है। बिशप ने यह सारी बातें एक प्रार्थना सभा के दौरान कही थी। इस बयान के बाद से ही इसको लेकर लगातार विरोध किया जा रहा है।

Benefits of dahi for skin: ऐश्वर्या राय से लेकर कियारा आडवाणी तक अपनी खूबसूरती के लिए इस तरह इस्तेमाल करते है दही

आपको बता दें कि लव जिहाद्द शब्द का प्रयोग राइट विंग के चरमपंथियों से किया जाता है। ऐसे में किसी बिशप द्वारा ऐसे शब्द के प्रयोग के बाद ही इसको लेकर तरह –तरह के विरोध देखने को मिल रहे हैं। सिंतबर के दूसरे सप्ताह में बिशप जोसेफ द्वारा दिए गए इस बयान के बाद 13 सितंबर को कोटंयम की कुछ नन से प्रार्थना सभा का यह कहते हुए यह विरोध किया कि चैपल में जो धर्मगुरु थे वह बिशप का समर्थन कर रहे थे। मीडिया से बात करते हुए एक सिस्टर ने कहा कि बिशप का समर्थन करने का मतलब है हम साम्प्रदायिकता के बीच को बढ़ा रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह पहली बार नहीं है जब बिशप ने ऐसा बयान दिया है। इससे पहले भी धर्म प्रचार के दौरान उन्होंने कहा कि मुस्लिम सब्जी वाले से सब्जी न लें। उनके रिक्शे पर न जाएं।

Narcotic jinhad

सिस्टर यही नहीं रुकी उन्होंने कहा कि क्रिश्चिन होने का मतलब है एक दूसरे से प्यार करना सेवा करना। बाइबल सीखती है कि हमें अपने पड़ोसी से अपने सामान प्यार करना चाहिए। न कि साम्प्रदायिकता का बीच बोना।

Women empowerment: जाने कौन है 18 साल की उम्र में इतिहास रचने वाली एम्मा रादुकानू के बारे में

बिशप के इस बयान के बाद भाजपा को टारगेट करने का एक और मौका मिल गया केरल के भाजपा प्रवक्ता टॉम वडाक्कन ने कहा कि लव जिहाद और ड्रग अब्यूजिंग के मामले केरल बिशप कांउसिल में उठते रहे हैं। इससे साफ समझ में आता है कि आंतकवाद और ड्रग के मामले राज्य में लगातार बढ रहे हैं। राज्य सरकार को कई बार इस बारे में बताया गया है लेकिन उनका इस पर कोई भी एक्शन नहीं है।

मुख्यमंत्री का बयान

बिशप के इस बयान के बाद राज्य की राजनीति ने तूल पकड़ लिया है। मुख्यमंत्री ने अपनी बात को रखते हुए कहा है कि नारकोटिक शब्द पहली बार सुना है। यह खतरा केवल एक समुदाय तक सीमित नहीं है, बल्कि यह हरेक समाज की समस्या है। इसलिए इसकी चिंता करने की जरुरत नहीं हैं।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Back to top button