लाइफस्टाइल

स्मॉग से बचने के लिए ऐसे करें अपने आप को सुरक्षित.

मौसम बदलने के साथ ही बढ़ने लगता है वायु प्रदूषण


 

जैसे-जैसे मौसम बदलता है. बड़े शहरों में प्रदूषण के कारण स्मॉग का खतरा बढ़ जाता है. आपने देखा होगा हर साल अक्टूबर के महीने से जैसे ही मौसम बदलता है दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण की मात्रा बढ़ जाती है. स्मॉग होने लगता है. यह स्थिर हवा की घनी परत है. जो अत्यधिक प्रदूषण होने के कारण जमीनी स्तर पर बनने लगती है . यह तब और हानिकारक होने लगती है जब सूर्य की रोशनी गैसों के साथ प्रतिक्रिया करती है. जिसके कारण छातीफेफड़े या दिल की शिकायतें होने लगती है. स्मॉग के पहले चरण में  गलेनाकआंखों या फेफड़ों में जलन हो सकती हैं और श्वास लेने में भी परेशानी हो सकती है. इसलिए जरुरी है कि ऐसे खतरनाक परेशानियों से बचा जाएं .आपको ऐसी परेशानी न हो इसके लिए आज आपको बताते हैं इससे बचाने का उपाय.

अच्छे पौधे लगाएं घर में

स्मॉग होने बाद सिर्फ ऐसा नहीं है आप स्वयं को घर के बाहर ही सुरक्षित रखें. ब्लकि बाहर के साथ-साथ घर के अंदर की हवा भी साफ होनी चाहिए. ऐसी में जरुरी है कि घर को सुरक्षित रखने के लिए इसमें एयर प्यूरिफायर का इस्तेमाल करें. इसके अलावा घर में कुछ अच्छे पौधे लगाएं. जो अंदर के वातावरण के शुद्ध रखें.  

और पढ़ें: ये पौधे ऑक्सीजन देने के साथ-साथ बदल सकते है आपके घर और वर्क प्लेस का माहौल 

yoga

बाहर वर्कआउट करने से बचें

हेल्थ एक्सपर्ट की माने तो  स्मॉग के  कारण घर के बाहर बहुत ज्यादा प्रदूषण होता है. ऐसे में बाहर वर्कऑउट करना आपकी सेहत के लिए अच्छा नहीं है. इससे सांस संबंधी परेशानियों हो सकती है. इसलिए जरुरी है आप शरीर को स्वास्थ्य रखने के लिए वर्कआउट जरुर करें लेकिन ऑउटडोर नहीं इनडोर ही करें और सुरक्षित रहें.

स्वयं का ख्याल रखकर

हेल्थ एक्सपर्ट की माने तो अगर आपके घर में कोई सदस्य सांस की बीमारी की समस्या से जूझ रहा है तो ऐसे में आप आवश्यक दवाओंइनहेलर्स और नेबुलाइज़र के साथ एलर्जी किट को हमेशा तैयार रखें. स्मॉग से बचने के लिए खुद को सुरक्षित रखना बेहद आवश्यक है.

 

मास्क लगाने की आदत डालें

कोरोना ने हम सबको मास्क लगाने की आदत को डाल दी है. लेकिन ऐसा माना जाता कि जब स्मॉग होता है तो मास्क लगाना चाहिए. यह स्मॉग से हमें सुरक्षित रखता है. जिसके करण पहले से ही सांस संबंधी बीमारी से परेशान लोगों को कम परेशानी होती है. इसके साथ ही खुद के बचाव के साथ –साथ सामने वाले को भी सुरक्षित रख सकते हैं.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button