Jannah Theme License is not validated, Go to the theme options page to validate the license, You need a single license for each domain name.
लाइफस्टाइल

Vitamin-E Benefits: इम्यूनिटी को बूस्ट करेगी विटामिन-ई से भरपूर सब्जियां-फल, चेहरा भी दमकेगा

Vitamin-E Benefits: बालों और स्किन के लिए विटामिन ई को काफी फायदेमंद माना गया है। विटामिन-ई, इम्यूनिटी को बूस्ट करता है, जिससे बैक्टीरिया से लड़ने में मदद मिलती है।

Vitamin-E Benefits: बाल झड़ रहे हैं तो डाइट में शामिल करें विटामिन ई से भरपूर चीजें, तुरंत दिखेगा फर्क

सेहतमंद रहने के लिए पोषक तत्वों से भरपूर भोजन करना बहुत जरूरी है। विटामिन्स हमें कई रोगों से बचाने में मदद करते हैं। खासतौर पर विटामिन-ई, अगर शरीर में इसकी कमी हो जाए तो आप कई खतरनाक बीमारियों का शिकार हो सकते हैं। आपको बता दें कि विटामिन-ई, इम्यूनिटी को बूस्ट करता है, जिससे बैक्टीरिया से लड़ने में मदद मिलती है।

इतना ही नहीं यह कोलेस्ट्रॉल की समस्याओं से बचाने में भी मदद करता है। साथ ही बालों और स्किन के लिए भी विटामिन ई काफी फायदेमंद माना गया है। तो चलिए जानते हैं कि विटामिन-ई की कमी को पूरा करने के लिए आप डाइट में किन चिजों का सेवन कर सकते हैं।

बादाम

बादाम को स्वास्थ्य का खजाना माना जाता है। इसमें हेल्दी फैट पाया जाता है, जो स्किन को ड्राईनेस और झुर्रियों से बचाता है। इतना ही नहीं बादाम में एंटी-ऑक्सीडेंट्स होने की वजह से यह आपके शरीर में होने वाले फ्री रेडिकल डैमेज से आपकी रक्षा करते हैं। रोजाना महज 4 से 5 बादाम खाने से शरीर पर सूरज की हानिकारक किरणों की वजह से होने वाली समस्याओं से भी बचा जा सकता है।

सीड्स

बीज भी विटामिन ई से भरपूर होते हैं। सूरजमुखी के बीज, कद्दू के बीज और अलसी के बीज महत्वपूर्ण विटामिन ई के सबसे अच्छे स्रोतों में से एक हैं।

वनस्पति तेल

कुछ वनस्पति तेलों में विटामिन ई की मात्रा अधिक होती है। गेहूं के बीज का तेल, सूरजमुखी का तेल, कुसुम तेल और बादाम का तेल अपनी विटामिन ई सामग्री के लिए जाने जाते हैं। ज्यादा कैलोरी से बचने के लिए आप इन्हे कम मात्रा में ही लें।

ब्रोकली

ब्रोकली में भी पर्याप्त मात्रा में विटामिन ई पाया जाता है। जो स्किन को ग्लोइंग और हेल्दी बनाए रखने में मदद करता है। इसके अलावा ब्रोकली में जिंक, फाइबर भी प्रचुर मात्रा में होता है, जो गट को हेल्दी रखकर स्किन को ग्लोइंग बनाने में मदद करता है।

मछली

कुछ प्रकार की मछलियां, जैसे ट्राउट और सैल्मन में विटामिन ई होता है। ये मछलियां ओमेगा -3 फैटी एसिड से भी भरपूर होती हैं, जिनके विभिन्न स्वास्थ्य लाभ होते हैं। आप इसका भी सेवन कर सकते हैं।

पीनट बटर

पीनट बटर फिटनेस को पसंद करने वाले लोगों को बहुत पसंद होता है। बिना चीनी या हाइड्रोजनीकृत तेल के मूंगफली से बना प्राकृतिक पीनट बटर विटामिन ई का स्रोत हो सकता है।

We’re now on WhatsApp. Click to join

एवोकाडो

एवोकाडो उन फलों में शामिल है जिसे आम लोगों से लेकर सेलिब्रिटीज तक खाना पसंद करते हैं। आपको बता दें कि एवोकाडो में भरपूर मात्रा में विटामिन ई पाया जाता है। इसे डाइट में शामिल कर विटामिन ई की कमी को पूरा कर सकते हैं।

टमाटर

टमाटर हर घर में हर दिन इस्तेमाल होने वाली सब्जी में से एक है। टमाटर को सलाद, सब्जी, सूप और जूस के रूप में डाइट में शामिल कर विटामिन ई की कमी को दूर कर सकते हैं। इतना ही नहीं टमाटर में विटामिन सी भी पाया जाता है, जो इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद कर सकता है।

सूरजमुखी के बीज

सूरजमुखी के बीज में विटामिन-ई प्रचुर मात्रा में होता है। अगर आपको बाल झड़ने और ड्राई स्किन की समस्या है, तो नियमित रूप से खाने में सीमित मात्रा में इसके बीज को शामिल कर सकते हैं। इसमें एंटी ऑक्सीडेंट गुण भी पाए जाते हैं, जिससे फ्री-रेडिकल्स से लड़ने में मदद मिलती है।

मूंगफली

मूंगफली विटामिन-ई से भरपूर होने की स्किन के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। मूंगफली का सेवन करने से स्किन पर होने वाले इंफेक्शन से भी बचा जा सकता है। इसके अलावा यह स्किन को ड्राई होने से भी बचाते हैं। एक्सपर्ट का कहना है कि नियमित तौर पर मूंगफली का सेवन करने से एक्ने और पिंपल्स की समस्या नहीं होती है।

कीवी

कीवी स्वाद और सेहत से भरपूर फल है। कीवी में मौजूद विटामिन सी, विटामिन ई जैसे गुण शरीर को कई समस्याओं से बचाने में मदद कर सकते हैं। कीवी को आप सीधे फल के रूप में, सलाद और स्मूदी के रूप में डाइट में शामिल कर सकते हैं।

पालक

हरा साग यानी कि पालक सेहत से लबरेज होती है। इसका रोजाना सेवन करने से शरीर में खून की कमी नहीं होती है। इसके अलावा पालक में विटामिन-ई के साथ और भी कई पोषक तत्व जैसे, विटामिन-सी, विटामिन-ए, आयरन, कैल्शियम और विटामिन के पाया जाता है। विटामिन-ई की वजह से यह फाइन लाइन को कम करने में मदद करता है।

डॉक्टर्स की सलाह जरूर लें

न्यूट्रिशनिस्ट की मानें तो विटामिन ई युक्त आहार लेने से स्किन संबंधित समस्याओं से बचा जा सकता है, लेकिन जिन लोगों को बार-बार स्किन और गट से जुड़ी समस्या होती है उन्हें अपनी डाइट में किसी भी तरह का बदलाव करने से पहले एक्सपर्ट या डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

ये हैं कुछ और फायदे

आंखों की रोशनी बनाए रखता है

विटामिन ई उम्र से संबंधित धब्बेदार अंधेपन के लिए फायदेमंद हो सकता है, जो कि वृद्ध वयस्कों में दृष्टि हानि का प्रमुख कारण है। 2016 के एक अध्ययन में विटामिन ई (ओमेगा -3 फैटी एसिड, जिंक और विटामिन डी जैसे अन्य पोषक तत्वों के साथ) के कम सेवन को उम्र से संबंधित मैक्यूलर डिजनरेशन के उच्च जोखिम को बताया गया है।

Read More:- Aloevera Juice Benefits: रोजाना सुबह खाली पेट पीएं एलोवेरा का जूस, बीमारी आसपास भी नहीं भटकेगी

न्यूरोलॉजिकल स्वास्थ्य के लिए भी जरूरी

न्यूरोलॉजिकल स्वास्थ्य को बढ़ाने और अल्जाइमर रोग और संज्ञानात्मक स्वास्थ्य के खराब होने जैसी स्थितियों के जोखिम को कम करने में विटामिन ई एक अच्छी भूमिका निभा सकता है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

vrinda

मैं वृंदा श्रीवास्तव One World News में हिंदी कंटेंट राइटर के पद पर कार्य कर रही हूं। इससे पहले दैनिक भास्कर, दैनिक जागरण और नवभारत टाइम्स न्यूज पेपर में काम कर चुकी हूं। मुझसे vrindaoneworldnews@gmail.com पर संपर्क किया जा सकता है।
Back to top button