Jannah Theme License is not validated, Go to the theme options page to validate the license, You need a single license for each domain name.
लाइफस्टाइल

Pregnancy Tips : डिलीवरी के बाद बढ़ा हुआ पेट आसानी से होगा कम, जरूर करें ये 5 योगासन

प्रेग्‍नेंसी के दौरान वजन का बढ़ना और डिलीवरी के बाद बेली फैट निकलना ये सामान्य बात होती है। अगर डिलीवरी के बाद यदि वजन कम करना ही है तो पहले शरीर को रिकवर होने के लिए समय दें, फिर योग की मदद ले सकती हैं।

Pregnancy Tips : डिलीवरी के बाद करें ये योगासन, पिघल जाएगी पेट की झूलती चर्बी बॉडी को मिलेगी परफेक्ट शेप

प्रेग्‍नेंसी के दौरान वजन का बढ़ना और डिलीवरी के बाद बेली फैट निकलना ये सामान्य बात होती है। अगर डिलीवरी के बाद यदि वजन कम करना ही है तो पहले शरीर को रिकवर होने के लिए समय दें, फिर योग की मदद ले सकती हैं।

We’re now on WhatsApp. Click to join

प्रेग्‍नेंसी के दौरान वजन का बढ़ना-

प्रेग्‍नेंसी के दौरान वजन बढ़ना और डिलीवरी के बाद बेली फैट निकलना तो आम बात होती है। लेकिन इस झूलती चर्बी से छुटकारा पाने के लिए अक्सर महिलाएं परेशान रहती हैं। बॉडी शेप में आने के लिए कई महिलाएं डाइटिंग और वर्क आउट जैसे तमाम काम करती हैं, लेकिन इससे थकान हो सकती है। इसके लिए कुछ योगासन ट्राई किया जा सकता है और ऐसा करने से लटका हुआ पेट कम होगा और कुछ ही दिन में आपकी बॉडी भी शेप में आने लगेंगी।

डिलीवरी के बाद करें ये योगासन –

भुजंगासन –

डिलीवरी के बाद बेली फैट को घटाने के लिए भुजंगासन का अभ्यास करना एक बेहतर ऑप्शन होता है। इस आसन को करने के लिए सबसे पहले योगा मैट पर पेट के बल लेट जाएं। फिर अपनी कोहनियों को कमर से सटाएं और हथेलियों को ऊपर की ओर रखें। अब धीरे-धीरे सांस भरते हुए, अपनी छाती को ऊपर की ओर उठाएं। इसके बाद पेट को धीरे-धीरे ऊपर उठा लेना है।  इस स्थिति में 30 सेकंड तक रहना होता है। इसके बाद अब सांस छोड़ते हुए, सिर को धीरे-धीरे जमीन की ओर नीचे ले आएं। लेकिन यह ध्यान रखे कि इस प्रक्रिया को आप 3 से 5 बार दोहरा सकते है।

Read More- Normal Delivery Tips : प्रेगनेंसी में रखेंगी इन 5 बातों का ख्याल, नहीं करवाना पड़ेगा ऑपरेशन

त्रिकोणासन –

वैसे तो पेट की झूलती चर्बी से छुटकारा पाने के लिए त्रिकोणासन की भी आपकी मदद कर सकती है। इस आसन को करने के लिए आप योगा मैट पर सीधे खड़े हो जाएं। फिर दोनों पैरों के बीच 3-4 फीट की दूरी बना कर अपने दोनों हाथों को जांघों के बगल में रखकर बाहों को कंधे तक फैलाएं। फिर धीरे-धीरे सांस लेते हुए, दाएं हाथ को सिर के ऊपर ले जाएं।बस एस बात का ध्यान रहे कि, इस दौरान आपका हाथ कान को छूना चाहिए। अब सांस छोड़ते हुए, अपने शरीर को बाईं तरफ को झुकाएं। इस मुद्रा में कुछ देर तक बने रहना है। इसके बाद प्रारंभिक अवस्था में आ जाएं। और इसे 4-5 बार दोहरा सकते हैं।

नौकासन –

डिलीवरी के बाद नौकासन की मदद से आप पेट की चर्बी घटा सकती हैं। इस आसन को करने के लिए योगा मैट पर बैठ जाएं। अब टांगों को सामने की तरफ फैला दे। इसके बाद अपने दोनों हाथों को हिप्स से थोड़ा पीछे जमीन पर रखें। अब दोनों पैरों को सीधा रखते हुए ऊपर की तरफ उठाना है। अब धीरे-धीरे सांस को बाहर की तरफ छोड़ते हुए पैरों को जमीन से 45 डिग्री तक उठाएं। इसके बाद सांस लेते हुए नाव के आकार में लगभग 10 से 20 सेकंड तक रहें। फिर धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए सामान्य मुद्रा में आना है और इसको आप 3 से 5 बार दोहरा सकते है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Yashaswini Raj (@yogayashas)

वीरभद्रासन –

डिलीवरी के बाद बेली फैट को घटाने के लिए वीरभद्रासन भी योगासन होता है। इस आसन को करने के लिए सबसे पहले योगा मैट पर सीधे खड़े होना है। अब अपने दोनों पैरों को फैलाएं। पैरों के बीच 2-3 फीट की दूरी रखना है। फिर अपने सीधे पैर को आगे लेकर आए और उल्टे पर को पीछे की ओर स्ट्रेच करें। इस दौरान हाथों को 180 डिग्री पर फैला कर रखें। इस अवस्था में 30-60 सेकेंड तक रुकें। फिर प्रारंभिक मुद्रा में आ जाएं।

पश्चिमोत्तानासन –

पेट की झूलती चर्बी से छुटकारा पाने के लिए पश्चिमोत्तानासन भी एक बेहतर ऑप्शन माना जाता है। इस आसन को करने के लिए सबसे पहले सुखासन में बैठ जाएं। अब अपने दोनों पैरों को सामने की ओर सीध में खोलकर बैठ जाएं। दोनों एड़ी और पंजे मिले रहेंगे। अब सांस छोड़ते हुए और आगे की ओर झुकते हुए दोनों हाथों से दोनों पैरों के अंगूठे पकड़ लें। माथे को घुटनों से लगाएं और दोनों कोहनियां जमीन पर लगी रहेंगी, जैसा कि आप तस्वीरों में देख सकते हैं। इस पोजीशन में आप खुद को 30 से 60 सेकेंड तक रखें, धीमी सांसे लेते रहें। अब अपनी प्रारंभिक मुद्रा में लौट आएं। इस प्रक्रिया को 3-5 बार दोहरा सकते है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Back to top button