हॉट टॉपिक्स

यूनिसेफ  की एक रिपोर्ट के अनुसार साल के पहले दिन भारत  60 हजार बच्चे ने लिया जन्म

जाने नए साल पर किस देश में कितने बच्चों ने लिया जन्म


 

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष यानी यूनिसेफ ने कहा है कि नए साल के दिन दुनिया में करीब 3,71,504 बच्चों का जन्म हुआ और सबसे अधिक 60,000 बच्चे भारत में जन्मे हैं. यूनिसेफ के अनुसार, नए साल में दुनिया में करीब 3 लाख 71 हजार 504 बच्चों ने जन्म लिया और इनमें से करीब 60,000 बच्चे भारत में पैदा हुए हैं. इस साल 2021 में करीब 14 करोड़ बच्चे पैदा होंगे. जिनकी औसत प्रत्याशा 84 साल होने की उम्मीद की जा रही है. इस बात की जानकारी संयुक्त राष्ट्र बाल कोष ने शुक्रवार को देर रात दी थी. संयुक्त राष्ट्र बाल कोष के अनुसार साल के पहले दिन दुनियाभर के आधे से अधिक बच्चों का जन्म 10 देशों में हुआ है.

 

और पढ़ें: साल 2020 की महत्वपूर्ण घटनाएं जो आने वाले कल का इतिहास है

आधे बच्चे 10 देशों में जन्मे

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष की रिपोर्ट के अनुसार नए साल पर आधे से अधिक बच्चे 10 देशों में पैदा होने का अनुमान है. संयुक्त राष्ट्र बाल कोष के अनुसार भारत में 59,995, चीन में 35,615, नाइजीरिया में 21,439, पाकिस्तान में 14,161, इंडोनेशिया में 12,336, इथियोपिया में 12,006, अमेरिका में 10,312, मिस्र में 9,455, बांग्लादेश में 9,236 और रिपब्लिक ऑफ द कांगो में 8,640 बच्चे के जन्म का अनुमान है.

 

इस साल के मुकाबले पिछले साल ज्यादा बच्चे पैदा हुए थे

पिछले साल यानि की साल 2020 में नए साल के दिन दुनिया भर में 3,92,078 बच्चे पैदा हुए थे.

जबकि इस साल 2021 के पहले दिन करीब 3,71,504 बच्चों का जन्म हुआ है. भारत में एक

जनवरी 2020 को 67,385 बच्चे पैदा हुए थे. जबकि इस बार भारत में एक जनवरी को 60,000

बच्चे पैदा हुए है. पिछली साल चीन में एक जनवरी को 46,299 बच्चे पैदा हुए थे जबकि इस बार 35,615 बच्चे पैदा हुए है. संयुक्त राष्ट्र बाल कोष की रिपोर्ट के अनुसार भारत में हर साल एक जनवरी को लगभग 60 से 70 हजार बच्चे जन्म लेते हैं.

 

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।