ड्रैगन फ्रूट के नाम बदलने पर भगतराम  ने दिया  ‘Reaction’, रुक नहीं रही हमारी हँसी


जाने क्यों गुजरात सरकार ने ड्रैगन फ्रूट का नाम ‘कमलम’ किया?


फल हमारे लिए कितने लाभदायक होते है ये शायद हमे आपको बताने की जरूरत नहीं है। क्योकि फलों के कई लाभ होते है जिसके कारण हम सभी इसका सेवन करते है। लेकिन आज हम आपको जिस फल के बारे में बता रहे है उसके बारे में शायद ही आप जानते हो। आज हम बात करने वाले है ड्रैगन फ्रूट के बारे में। ड्रैगन फ्रूट के रंग रूप को देखते हुए इसे यह नाम दिया गया है। वैसे अगर हम ड्रैगन फ्रूट के वैज्ञानिक नाम की बात करे तो इसका वैज्ञानिक नाम ‘हिलोकेरेस अंडटस’ है और यह दक्षिण अमेरिका में पाया जाता है। ड्रैगन फ्रूट एक बेलय फल है यानि की यह फल बेल पर लगता है। जो कैक्टेसिया फैमिली से संबंधित है। क्या आपको पता है ड्रैगन फ्रूट दो प्रकार का होता है? सफेद गूदे वाला ड्रैगन फ्रूट और लाल गूदे वाला ड्रैगन फ्रूट। साथ ही आपको ये भी बता दे कि ड्रैगन फ्रूट के फूल बहुत ही सुगंधित होते हैं, जो की सिर्फ रात में ही खिलते है और सुबह होते होते तक झड़ जाता है। ये तो हम सब जानते है की गुजरात सरकार ने बदल दिया है ड्रैगन फ्रूट का नाम और इस बात आ रहे है कई reaction! हल ही मे भगतराम ने भी किया इस पर रिएक्ट और रुक नहीं रही है हमारी हँसी। आप भी देखिये:

 

और पढ़ें: कोरोना के दूसरे चरण में प्रधानमंत्री से लेकर मुख्यमंत्री तक सभी को लगेगी कोरोना वैक्सीन

 

गुजरात सरकार ने बदला ड्रैगन फ्रूट का नाम

 

जिस फल को अभी हम सभी लोग ड्रैगन फ्रूट के नाम से जानते है उससे गुजरात में लोग अब ‘कमलम’ के नाम से जानते है। ड्रैगन फ्रूट के बाहरी आकार को देखते हुए गुजरात सरकार ने इसका नाम बदलने का फैसला किया है। अभी हाल ही में गुजरात वन विभाग के जरिए इंडियन काउंसिल ऑफ एग्रीकल्चर रिसर्च को ड्रैगन फ्रूट का नाम संस्कृत में कमलम रखने के लिए एक याचिका भी भेजी गई है। गुजरात सरकार का कहना है कि किसान ड्रैगन फ्रूट को कमल फल के नाम से जानते है। इसलिए ही गुजरात सरकार ने ड्रैगन फ्रूट का नाम कमलम करने का फैसला किया है। इतना ही नहीं गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने कहा ‘कि फल का नाम ड्रैगन अच्छा नहीं लग रहा है जिसके कारण इसका नाम बदलने का फैसला किया गया है। और इसके बाहरी आकार को देखते हुए इसका नाम कमलम रखा जाएगा’।

 

जाने कैसे एक वीडियो से भगतराम ने समझा दिया की ड्रैगन फ्रूट का नाम बदलते ही क्यों गिड़गिड़ाने लगा चीन?

एक भारतीय यूटूबर भगतराम ने अपनी एक वीडियो से समझा दिया की ड्रैगन फ्रूट का नाम बदलते ही क्यों गिड़गिड़ाने लगा चीन। अगर आप भी भगतराम की ये वीडियो देखेंगे तो आपको बड़ा ही मज़ा आएगा। भगतराम ने अपनी वीडियो में भोजपुरी भाषा का प्रयोग कर के वीडियो को ओर भी ज्यादा मजेदार बना दिया है। वीडियो में भगतराम चीन पर अपना गुस्सा दिखाते हुए बोलते है कि शी चिनफिंग देखो अब हम इस ड्रैगन फ्रूट को कैसे मारते है और इससे कच्चा चबा देंगे अगर अरुणाचल में घुसोगे । फिर भगतराम कहते है कि ये नया इंडिया है ये ड्रैगन फ्रूट का नाम बदल कर मानेगा।

 

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Story By : AvatarAarti bhardwaj
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
%d bloggers like this: