कोरोना के दूसरे चरण में प्रधानमंत्री से लेकर मुख्यमंत्री तक सभी को लगेगी कोरोना वैक्सीन


जानें 16 जनवरी को स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने क्यों नहीं ली कोरोना वैक्सीन की डोज


जैसा की हम सभी लोग जानते है कि पिछले काफी समय से पूरी दुनिया में कोरोना वायरस ने अपना कहर मचाया हुआ था. जिसे रोकने के लिए अभी तक हमारे पास कोई वैक्सीन भी नहीं थी. अभी साल ही में  कोरोना की वैक्सीन मिली है. कोरोना वैक्सीन का टीकाकरण शुरू होने के बाद अभी सभी लोगों का कहना है कि आखिर हमारे देश के नेता अब तक टीका क्यों नहीं लगा रहे हैं. जबकि नेता जनता के प्रतिनिधि होते हैं. इतना ही नहीं तीन महीने पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा था कि कोरोना वैक्सीन टीकाकरण शुरू होते ही सबसे पहले वह इसका डोज लेंगे. लेकिन जब 16 जनवरी को दिल्ली एम्स में टीकाकरण शुरू हुआ तो उन्होंने टीका नहीं लगवाया.

 

और पढ़ें: अगर आप भी बना रहे है उत्तराखंड घूमने का प्लान, तो ये हिल स्टेशन है लाजवाब

 

 

अप्रैल में कोरोना वैक्सीन का दूसरा चरण होगा शुरू

 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार प्रधानमंत्री से लेकर मुख्यमंत्री और सांसद तक सभी लोगों को दूसरे चरण में कोरोना टीके का डोज दिया जायेगा. अभी हमारे देश में कोरोना टीकाकरण का पहला चरण चल रहा है जो की आगामी अप्रैल तक समाप्त हो जाएगा. अप्रैल के बाद कोरोना टीकाकरण के दूसरे चरण में देश के उन 75 फीसदी सांसद, मुख्यमंत्री और मंत्रियों को कोरोना वैक्सीन का टीका दिया जाएगा जिनकी आयु 50 या उससे अधिक है.  इतना ही नहीं जिन प्रतिनिधियो में जीवनशैली से जुड़े
रोग उच्च रक्तचाप या फिर मधुमेह आदि होता होगा.  उन्हें सबसे पहले प्राथमिकता दी जाएगी.

स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कोरोना वैक्सीन टीकाकरण की योजना से जुड़ी जानकारी साझा करते हुए कहा कि अलग अलग चरणों की नीति को अंतिम रूप दिया जा चुका है. कोरोना वैक्सीन टीकाकरण के पहले चरण में किसी भी प्रतिनिधि को टीका नहीं दिया जा सकता है.  इसे लेकर पहले ही काफी ज्यादा विचार विमर्श किया जा चुका है. इतना ही नहीं आपको ये भी बता दें कि जिन जनप्रतिनिधि की आयु 80 वर्ष या उससे अधिक होगी उन्हें दूसरे चरण में प्राथमिकता के तौर  पर सबसे पहले टीका दिया जा सकता है.

 

आयु के अनुसार कोरोना वैक्सीन टीकाकरण के लिए ये हो सकते हैं शामिल

 

1. 95 फीसदी हमारे देश के कैबिनेट मंत्री.

2. 82 फीसदी हमारे देश के राज्यमंत्री.

3. 76 फीसदी हमारे देश के मुख्यमंत्री.

4. 75 फीसदी हमारे देश के सांसद

5. दो पूर्व पीएम और एक मुख्यमंत्री का नाम सबसे ऊपर

 

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Story By : AvatarAarti bhardwaj
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
%d bloggers like this: