निर्भया केस : कल सुबह 5:30 बजे होगी देश की सबसे बड़ी फांसी

0
104

आखिर कल होगा देश की बेटी के साथ इंसाफ, दोषीयों का अंत तय 


निर्भया केस के दोषी पवन की क्यूरेटिव याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की। इससे पहले निर्भया के दोषी पवन ने सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल कर अपराध के समय खुद को नाबालिग होने की दलील ठुकराने के आदेश को चुनौती दी थी जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया था। अब डेथ वारंट के अनुसार, सभी दोषियों को 20 मार्च सुबह 5:30  बजे फांसी दी जाएगी है।

जाने कैसे दी जाती है भारत में फांसी?

फांसी की सज़ा तो पूरी दुनियाभर में करीब एक-चौथाई देशों में दी जाती है और भारत भी उनमे से एक है। भारत में मौत की सज़ा दो तरीके से दी जाती हैं एक जो आम आदमी को दी जाती लटकाकर, दूसरी जो सेना के जवानो को दी जाती है गोली मारकर। और हमेसा फांसी सुबह ही दी जाती है।
 

निर्भया केस में 2012 से ले कर आज तक कितनी बार डेथ वारंट टाला गए है

निर्भया के दोषी पवन, मुकेश, विनय और अक्षय  को 2012 से ले कर आज तक चौथा डेथ वारंट जारी किया जा चूका है उनका पहला डेथ वारंट 22 जनवरी,  दूसरा 1 फरवरी, तीसरा 3 मार्च और चौथा अब 20 मार्च को।

सुप्रीम कोर्ट के क्यूरेटिव याचिका खारिज करने पर क्या बोली निर्भया की माँ? 

निर्भया केस के दोषी पवन की क्यूरेटिव याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की। और चारो दोषियों को 20 मार्च को 5:30 बजे फांसी दी जाएगी इस बात पर निर्भया की माँ ने कहा कि कल चारों को फांसी होगी और जरूरी होगी। अब देखना ये है की कल क्या होता होता। क्या कल चारो को फांसी मिलेगी?
 
अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com
 
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments