Categories
काम की बात करोना

जाने वैक्सीन लगवाने के बाद एक्सरसाइज आपके लिए कितना फायदेमंद हो सकता है…

जाने वैक्सीन शॉट के बाद वर्कआउट से क्या है लाभ


पिछले साल से फैला कोरोना वायरस आज भी रुकने का नाम नहीं ले रहा है। अभी भी लोग इस कोरोना वायरस से परेशान और डरे हुए हैं। इस कोरोना वायरस से बचने के सिर्फ दो ही तरीके हैं एक सभी सावधानी बरतना और दूसरा वैक्सीन लगवाना। अभी इस कोरोना वायरस से छुटकारा पाने के लिए पूरे देश में वैक्सीन ड्राइव चल रही हैं ताकि हमारे देश के सभी लोगों का अच्छे से टीकाकरण हो सके। लेकिन हम यह भी जानते है कि हमारे देश में मौजूद किसी भी वैक्सीन की प्रभावशीलता 100 प्रतिशत नहीं है। अगर आप वैक्सीन की प्रभावशीलता बढ़ाना चाहते है तो इसका एकमात्र तरीका है स्वस्थ जीवनशैली का पालन करना और नियमित रूप से व्यायाम करना। कोरोना वैक्सीन को लेकर डॉक्टर के द्वारा यह सलाह भी दी जा रही है कि वैक्सीन शॉट लेने से 24 घंटे पहले आपको शारीरिक रूप से एक्टिव रहना होगा इससे आपके शरीर में अधिक एंटीबॉडी बनाने में मदद मिलेगी और यह आपकी इम्यूनिटी का सपोर्ट कर सकता है। तो चलिए आज जानते है वैक्सीन शॉट लेने के बाद आपका वर्कआउट करना आपके लिए कितना फायदेमंद है।

अपनी बॉडी की सुनें: आपको वैक्सीन के बाद अपनी बॉडी की सुननी चाहिए। वैक्सीन शॉट लेने के बाद आपकी बॉडी किस तरह रिएक्ट करती हैं आपको यह ऑब्जर्व करना। वैक्सीन शॉट के बाद देखा जा रहा है कि कुछ लोगों में एक जैसे लक्षण दिखाई दें रहे है जैसे थकान, बुखार या हाथ में दर्द आदि का अनुभव होना रहा है। सबसे पहले आपको वैक्सीन शॉट के बाद देखना चाहिए कि आप कैसा महसूस कर रहे हैं, उसके बाद ही आपको रेगुलर वर्कआउट करने का फैसला लेना चाहिए।

और पढ़ें: बच्चों में ज्यादा शिकायतें करने की आदत में इन टिप्स से लाएं सुधार

वर्कआउट बदलें: अगर आप अपनी वैक्सीन शॉट के बाद होने वाले साइड इफेक्ट्स को सहन कर सकते हैं, तो उसके बाद आपको वर्कआउट करने में कोई समस्या भी नहीं होगी। इसके अलावा आप इसके साइड इफेक्ट्स के अनुसार ही वर्कआउट की इंटेसिटी डिसाइड कर सकते हैं। जैसे अगर वैक्सीनेशन के बाद आपके हाथ में दर्द हो रहा है तो आप अपने पैरों और कोर के लिए एक्सरसाइज करें या अगर आप सुस्त महसूस कर रहे हैं तो आप HIIT कसरत करने के बजाय टहलने जा सकते हैं।

सावधानी बरतें: वैक्सीनेशन के बाद आपके लिए अपना ध्यान रखना जरूरी होता है। क्योंकि वैक्सीन का आखिरी डोज लेने के बाद भी, वैक्सीनेशन को पूरा होने में कम से कम 2 सप्ताह का टाइम लगता है। इसलिए आपको बंद जगहों पर वर्कआउट करने से बचना चाहिए और खुले में ही वर्कआउट करना चाहिए। जहां शायद ही कोई वेंटिलेशन हो या जहां लोग मास्क हटा कर वर्कआउट कर रहे हो।

वैक्सीनेशन के बाद वर्कआउट: अभी तक ऐसा कोई भी तरीका नहीं मिल पाया है जिसे ये पता चल पाए कि आपका शरीर कोविड-19 वैक्सीन पर कैसे प्रतिक्रिया देगा। इसलिए अभी हमारे डॉक्टर्स सभी लोगों को यही सलाह दे रहे है कि जिस दिन आप वैक्सीन शॉट ले रहे हैं, उस दिन और शॉट लेने के एक से दो दिन बाद तक कोई वर्कआउट प्लान न करें। खास कर दूसरा डोज़ लेने के बाद।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

सावधान! वर्कआउट के लिए कहीं आप भी तो नहीं इस्तेमाल कर रही हैं नार्मल ब्रा..

Beware if you are using normal bra during the workout.


स्पोर्ट्स ब्रा हैं कई फायदे

आज के समय में लोगों का जैसा लाइफस्टाइल है। हर किसी को योगा और एक्ससाइज करना बहुत जरुरी है। कुछ महिलाएं तो प्रतिदिन नियमित रुप से योगा और एक्ससाइज करती ही हैं। इनमें से कुछ वर्किंग हैं तो कुछ हाउस वाइफ जो अपनी डेली रुटीन में योगा को शामिल करती हैं। महिलाएं डेली रुटीन में इसे शामिल तो कर लेती हैं लेकिन यह नहीं जानती कि उन्हें वर्कआउट करते वक्त कैसी ब्रा पहननी चाहिए। कुछ महिलाएं बिना ब्रा के तो, कुछ नार्मल ब्रा में वर्कआउट करती हैं । लेकिन आपको पता है यह दोनों तरीके ही गलत हैं। वर्कऑउट करते वक्त हमेशा महिलाओं को स्पोर्टस ब्रा का इस्तेमाल करना चाहिए। तो चलिए आज आपको बताते हैं वर्कऑउट के लिए क्यों फायदे हैं स्पोर्टस ब्रा..

Image Source-Protips Dickssporting Goods

शरीर के तापमान और पसीने को संतुलित रखने में मदद करती है…

स्पोर्टस ब्रा का फेबरिक थोड़ा एड़वांस होता है। जिसके कारण यह शरीर से निकलने वाले पसीने को रोकने में मदद करती है। वर्कऑउट करते वक्त जब बॉडी में बहुत ज्यादा पसीना बाहर आता है तो स्किन का एयर फ्लो बढ़ता है। इस दौरान यह आपको कूल और स्किन को ड्राई रखने में मदद करती है।

और पढ़ें: Chaitra Navratri 2021: क्या आप भी कोरोना काल मे रख रहे हैं व्रत?

ब्लड सर्कुलेशन में मददगार

सामान्य ब्रा  में इलास्टिक लगी होती है। इसे पहनकर वर्कऑउट करने से ब्लड सर्कुलेशन की समस्या होती है। लेकिन अगर आप स्पोर्टस ब्रा पहनकर वर्कऑउट करते हैं तो आपका ब्लड सर्कुलेशन भी सही से काम करता है।  इतना ही नहीं इसको लंबे समय  तक पहनकर वर्कऑउट किया जा रहा है।


ब्रेस्ट में दर्द कम होता है.

फिजिक्ल एक्टिविटी के समय ब्रेस्ट की मसल्स पर असर  पड़ता है। जिससे आपको समस्या होने लगती है। कई बार तो बॉर्डी के ऊपर वाले हिस्से में दर्द भी होने लग जाता है। इसी दर्द से निजात पाने के लिए वर्कऑउट करते वक्त स्पोर्टस ब्रा का इस्तेमाल करना चाहिए। सामान्य ब्रा में वायर होती है इसमें वायर नहीं होती है जिससे आपको वर्कऑउट करते वक्त आराम मिलता है।

कैसी स्पोर्टस ब्रा लें…

1-     जब भी आप स्पोर्टस ब्रा लें तो उसके कप साइज पर जरुर ध्यान दें। साइज न तो बड़ा लें और न ही छोटा, कप का साइज ऐसा हो जो आपको सही सपोर्ट दे सके।

2-     खरीदते वक्त फेबरिक का ध्यान दें। क्योंकि ब्रा का फेबरिक जितना सॉफ्ट होगा। वर्कऑउट में उतनी ही सुविधा होगी।

3-     शॉपिंग करते वक्त जैसे आप सामान्य ब्रा की पट्टियों पर ध्यान देते हैं वैसे ही इनकी पट्टियों पर भी ध्यान दें। हमेशा सॉफ्ट पट्टी वाली ब्रा ही खरीदें। अगर आप हाई इन्पैक्ट वर्कआउट के लिए चौड़ी स्ट्रैप वाली स्पोर्टस ब्रा लें और वॉकिंग और योगा के लिए लो इम्पैक्ट वाली स्पोर्ट ब्रा लें।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

अगर आप भी जाते है जिम, तो जाने से पहले और बाद में जरूर फॉलो करे ये हाइजीन रूल्स

जिम जाने से पहले और बाद में ध्यान रखने योग्य महत्वपूर्ण हाइजीन रूल्स


ये बात तो हम सभी लोग जानते है कि हमारे लिए शारीरिक रूप से एक्टिव रहना कितना जरूरी है. एक्सरसाइज करना हमारे शरीर के लिए बेहद अच्छा माना जाता है. लेकिन क्या आपको पता है एक्सरसाइज करना जितना हमारे शरीर के लिए जरूरी होता है उतना ही हमारे दिमाग के लिए भी जरूरी होता है क्योंकि यह आपको दिनभर एक्टिव रखता है और ऊर्जा देता है.  क्या आपको पता है शारीरिक गतिविधि करते रहने से आपकी मसल्स और जॉइंट्स मूवमेंट में रहती है और सही तरह से काम करती है. इस बात से आप भी इंकार नहीं कर सकते कि एक्सरसाइज करते वक्त हम अक्सर कुछ महत्वपूर्ण बात भूल जाते है वो है बेसिक हाइजीन रूल्स. तो चलिए आज हम आपको कुछ बेसिक हाइजीन रूल्स के बारे में बातएंगे जो सभी लोग को जिम जाने से पहले और बाद में ध्यान में रखने चाहिए।

टी-शर्ट से पसीना पोछना: ये काम तो जिम जाने वाले लोगों में से ज्यादातर लोग करते है. आपने भी देखा होगा की अक्सर लोग एक्सरसाइज करने के बाद अपनी शर्ट की आस्तीन से माथे या चेहरे का पसीना पोंछ लेते हैं. जो की हमें कभी नहीं करना चाहिए. एक्सरसाइज के बाद पसीने को पोछने के लिए हमेशा एक सूखे तौलिया का इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि अगर आप अपने पसीने को अपनी शर्ट की आस्तीन से पोछते है तो इससे टी-शर्ट पर मौजूद जर्म्स आपके चेहरे मुंह, नाक और आंखों तक ट्रांसफर हो सकते हैं.

 

और पढ़ें: अगर आपका बच्चा भी कर रहा है परीक्षा की तैयारी, तो ये चीजे करे उसकी डाइट में शामिल, दिमाग बनेगा तेज

 

 

वर्कआउट से पहले और बाद में मशीन्स को साफ करें: आज के समय में ज्यादातर लोग वर्कआउट करने के लिए जिम जाते है क्योंकि आज के समय में लोगों का लाइफस्टाइल इतना बिजी है कि उनके पास खुद के लिए भी समय नहीं होता है. जिसके  कारण वो शारीरिक एक्टिव नहीं कर पाते.  इसलिए वो जिम जाते है.  जिम जाना बुरा नहीं है लेकिन कुछ बेसिक हाइजीन रूल्स होते है जिन्हे हमें फॉलो जरूर करना चाहिए. जैसे वर्कआउट करने से पहले और बाद में मशीन्स को साफ करना. क्योंकि जिम में बहुत सारे लोग जिम करने है और सभी का पसीना मशीन पर आता है जिसके कारण इन पर जर्म बिल्ड-अप हो करते है.  इसलिए हमें सेनिटाइजर करने के बाद ही किसी मशीन को छूना चाहिए.

 

अपनी चीजे दूसरों से शेयर न करें: जैसा की हम सभी लोग जानते है कि पिछले एक साल से हमारा पूरा देश  कोरोना महामारी को झेल रहा है.  कोरोना महामारी के बाद से तो एक नया मंत्र हमारी ज़िन्दगी में आ गया है. कि ‘शेयरिंग इज़ नोट केयिरिंग है’ यानि की आपको अपनी पर्सनल चीजें किसी से भी जिम में शेयर नहीं करनी चाहिए जैसे तौलिया, इयरफ़ोन, बोतलें आदि.  क्योंकि बैक्टीरिया, यीस्ट और फंगस इंफेक्शन एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में ट्रांसफर हो सकते हैं.

 

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

वर्कआउट में थोड़ी सी लापरवाही पड़ सकती है भारी, इसलिए वर्कआउट से पहले इन बातों का रखें खास ध्यान

वर्कआउट से जुड़ी कुछ खास बातें


WHO की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 35 प्रतिशत भारतीय वर्कआउट करने में जहमत नहीं उठाते। अक्सर भारतीय लोगों की शिकायत रहती है कि वर्कआउट या एक्सर्साइज़ करने के लिए जिम या पार्क में जाना पड़ता है जिसके लिए उनके पास समय नहीं होता इस लिए भी वो वर्कआउट नहीं कर पाते। लेकिन क्या आपको पता है वर्कआउट सिर्फ अच्छी सेहत के लिए ही जरूरी नहीं बल्कि हेल्दी स्किन के लिए भी बहुत जरूरी है। आपने देखा होगा कि लोगों अक्सर वर्कआउट करते वक्त लापरवाह हो जाते है जिसका असर उन्हें बाद में देखने को मिलता है इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसी चीजों के बारे में बतायेगे जिनका ध्यान आपको वर्कआउट के समय खास तोर पर रखना चाहिए।

पर्याप्त नींद: वर्कआउट करने से पहले आपको अच्छी नींद लेना उतना ही जरूरी होता है जितना की मसल्स के लिए पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन लेना। अगर आपकी बॉडी को सही मात्रा में नींद नहीं मिल पाती है तो आपको थकान महसूस होने लगती है जिसके कारण आप पूरी क्षमता के साथ वर्कआउट नहीं कर पाएंगे। साथ ही आपको इंजरी होने की भी संभावनाएं हो जाती है। इसलिए आपको 7-8 घटे अच्छी नींद लेनी चाहिए।

और पढ़ें: 5 हेल्थ टिप्स जो हर महिला को बढ़ती उम्र के साथ फॉलो करने जाहिए 

प्रोटीन युक्त डाइट: जो भी लोग रोज वर्कआउट करते है। उन्हें वर्कआउट करने के बाद कार्ब्स, सोडियम और पोटेशियम के साथ प्रोटीन युक्त आहार का सेवन करना चाहिए। ये भोजन आपके मांसपेशियों की रिकवरी में मदद करता है। इससे आपकी बॉडी में ग्लाइकोजन स्टोर को फिर से भरने में मदद मिलती है।

शावर लें: वर्कआउट करने के बाद ठंडे पानी से जरूर नहाना चाहिए। लेकिन बहुत से लोग आलस के कारण ऐसा नहीं करते। वर्कआउट के बाद नहाना न सिर्फ आपकी हाइजीन के लिए जरूरी है बल्कि इससे आपकी त्वचा को ताजगी, ग्लोइंग और बॉडी डिटॉक्स करने में मदद करता है।

स्ट्रेच: वर्कआउट के बाद स्ट्रेच करना बहुत जरुरी होता है। स्ट्रेचिंग करने से मांसपेशिया मजबूत और संरक्षित होती है जो वर्कआउट करने के कारण टूटती है, इससे चोट लगने और मसल्स के डैमेज होने की संभावना कम हो जाती है।

वार्म-अप: वर्कआउट से पहले वार्म-अप करना बिल्कुल भी न भूलें। भले ही आप वर्कआउट सिर्फ 10 मिनट तक करें। लेकिन वार्म-अप जरूर करें। वार्म अप के कारण ही आपकी बॉडी इसके तापमान को एडजस्ट कर पाती है, साथ ही गति की सीमा को बढ़ा पाती है इसके कारण ही आपकी बॉडी वर्कआउट करने के लिए तैयार होती है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

वर्कआउट में थोड़ी सी लापरवाही पड़ सकती है भारी, इसलिए वर्कआउट से पहले इन बातों का रखें खास ध्यान

वर्कआउट से जुड़ी कुछ खास बातें


डब्ल्यूएचओ की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 35 प्रतिशत भारतीय वर्कआउट करने में जहमत नहीं उठाते। अक्सर भारतीय लोगों की शिकायत रहती है कि वर्कआउट या एक्सर्साइज़ करने के लिए जिम या पार्क में जाना पड़ता है जिसके लिए उनके पास समय नहीं होता इस लिए भी वो वर्कआउट नहीं कर पाते। लेकिन क्या आपको पता है वर्कआउट सिर्फ अच्छी सेहत के लिए ही जरूरी नहीं बल्कि हेल्दी स्किन के लिए भी बहुत जरूरी है। आपने देखा होगा कि लोगों अक्सर वर्कआउट करते वक्त लापरवाह हो जाते है जिसका असर उन्हें बाद में देखने को मिलता है इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसी चीजों के बारे में बतायेगे जिनका ध्यान आपको वर्कआउट के समय खास तोर पर रखना चाहिए।

पर्याप्त नींद: वर्कआउट करने से पहले आपको अच्छी नींद लेना उतना ही जरूरी होता है जितना की मसल्स के लिए पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन लेना। अगर आपकी बॉडी को सही मात्रा में नींद नहीं मिल पाती है तो आपको थकान महसूस होने लगती है जिसके कारण आप पूरी क्षमता के साथ वर्कआउट नहीं कर पाएंगे। साथ ही आपको इंजरी होने की भी संभावनाएं हो जाती है। इसलिए आपको 7-8 घटे अच्छी नींद लेनी चाहिए।

और पढ़ें: गर्मियों में बॉडी से पसीना आना क्यों है जरूरी

प्रोटीन युक्त डाइट: जो भी लोग रोज वर्कआउट करते है। उन्हें वर्कआउट करने के बाद कार्ब्स, सोडियम और पोटेशियम के साथ प्रोटीन युक्त आहार का सेवन करना चाहिए। ये भोजन आपके मांसपेशियों की रिकवरी में मदद करता है। इससे आपकी बॉडी में ग्लाइकोजन स्टोर को फिर से भरने में मदद मिलती है।

शावर लें: वर्कआउट करने के बाद ठंडे पानी से जरूर नहाना चाहिए। लेकिन बहुत से लोग आलस के कारण ऐसा नहीं करते। वर्कआउट के बाद नहाना न सिर्फ आपकी हाइजीन के लिए जरूरी है बल्कि इससे आपकी त्वचा को ताजगी, ग्लोइंग और बॉडी डिटॉक्स करने में मदद करता है।

स्ट्रेच: वर्कआउट के बाद स्ट्रेच करना बहुत जरुरी होता है। स्ट्रेचिंग करने से मांसपेशिया मजबूत और संरक्षित होती है जो वर्कआउट करने के कारण टूटती है, इससे चोट लगने और मसल्स के डैमेज होने की संभावना कम हो जाती है।

वार्म-अप: वर्कआउट से पहले वार्म-अप करना बिलकुल भी न भूलें। भले ही आप वर्कआउट सिर्फ 10 मिनट तक करें। लेकिन वार्म-अप जरूर करें। वार्म अप के कारण ही आपकी बॉडी इसके तापमान को एडजस्ट कर पाती है, साथ ही गति की सीमा को बढ़ा पाती है इसके कारण ही आपकी बॉडी वर्कआउट करने के लिए तैयार होती है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com