Categories
मनोरंजन

सुशांत सिंह राजूपत के जीजा ने किया बड़ा खुलासा, रिया के आते ही सुशांत से टूटा संपर्क

रिया की एंट्री से बदला सुशांत सिंह राजपूत का लाइफस्टाइल


बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून को अपने मुंबई वाले घर में आत्महत्या कर ली थी इस बात को दो महीने से ज्यादा समय बीत चुका है. लेकिन एक्टर ने आत्महत्या किस वजह से की ये बात अभी तक साफ नहीं हो पाई है.  सुशांत के परिवार वालों और फैंस का मानना है कि सुशांत ने आत्महत्या नहीं की बल्कि उनका मर्डर हुआ है. आत्महत्या के मामले में उनकी गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती को कसूरवार बताया जा रहा है. इस मामले में सीबीआई कई बार रिया चक्रवर्ती से पूछताछ  कर चुकी है लेकिन अगर हम खबरों की मानें तो सीबीआई जल्द ही इस मामले में रिया को समन भेजकर उनसे पूछताछ करेगी.

विशाल कीर्ति ने ब्लॉग से किया बड़ा खुलासा

सुशांत सिंह राजपूत के जीजा विशाल कीर्ति ने एक ब्लॉग से किया बड़ा खुलासा. उन्होने लिखा ‘बहुत सारे लोग मुझसे सुशांत की मौत के बारे में स्पष्टीकरण और विवरण मांग रहे है लेकिन मैं भी आप लोगों की तरह बहुत सारी चीजें नहीं जानता. मुझसे पोस्टमार्टम और कई तरह के सवाल पूछे गए है जिनके बारे में मुझे कुछ भी नहीं पता. मैं भारत में रह रहे परिवार से भी जान बूझ कर ये सवाल नहीं कर रहा हूं क्योकि अभी सभी लोग तनाव में हैं और मैं इसे और नहीं बढ़ाना चाहता’. साथ ही विशाल ने बताया कि वह ये ब्लॉग पब्लिक डोमेन और परिवार के लोगों से मिली जानकारी के मुताबिक लिख रहे है। साथ ही उन्होंने बताया कि 2007 में वो सुशांत के संपर्क में थे लेकिन रिया चक्रवर्ती के आते ही उनके रिश्ते बदल गए।

विशाल कीर्ति ने लिखा कि 2019 में सुशांत की जिंदगी में रिया के आने के बाद मेरा उनसे सीधा संपर्क टूट गया था। साथ ही विशाल ने ये भी बताया कि उनकी शादी के 12 साल तक मैं उनके लगातार संपर्क में रहा था लेकिन रिया के सुशांत की ज़िन्दगी में आते ही हमारे रिश्ते बदल गए। 1997 से 2007 तक हम अच्छे दोस्त थे और 2007 में फैमिली मेंबर्स भी बन गए। विशाल ने बताया कि हम कॉल और मैसेज के जरिए हमेशा संपर्क में रहे थे। और 2019 में हमारी मुलाकात भी हुई थी।

और पढ़ें: वरुण धवन के बाद अब महेश शेट्टी ने जोड़े हाथ, मांगा सुशांत सिंह राजपूत के लिए इंसाफ

https://twitter.com/vikirti/status/1297338510957977601?s=20

विशाल कीर्ति ने अपनी शादी का वीडियो किया शेयर

विशाल कीर्ति ने अपनी शादी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया। जिसमें 21 साल के सुशांत सिंह राजपूत बेहद खुश नजर आ रहे है। सोशल मीडिया पर वीडियो शेयर करते हुए विशाल कीर्ति ने उम्मीद जताई है कि जल्द सीबीआई जांच से सभी बातें पता चल जाएंगी।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
मनोरंजन

सुशांत सिंह राजपूत का केस CBI को सौंपने के बाद अक्षय कुमार से लेकर बिहार के DGP तक ने जताई खुशी

सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच अब CBI करेगी


सुशांत सिंह राजपूत केस को लेकर रिया चक्रवर्ती ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दर्ज कराई थी. जिस पर आज सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया.  सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा है कि सुशांत सिंह राजपूत के केस की जांच सीबीआई ही करेगी. साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने पटना में दर्ज हुई एफआईआर को भी सही करार दिया. सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के साथ ही सोशल मीडिया यूजर्स के साथ- साथ बॉलीवुड सितारों ने भी अपनी प्रतिक्रिया देना शुरू कर दी.

अंकिता लोखंडे: सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद सुशांत सिंह राजपूत की एक्स गर्लफ्रेंड  अंकिता लोखंडे ने अपनी खुशी जताते हुए कहा ‘ सच्चाई की जीत हुई है’ इसके साथ ही अंकिता ने कहा कि सुशांत के न्याय के लिए पहला कदम सफल हुआ है.’

कंगना रनौत: अंकिता लोखंडे के बाद कंगना रनौत की टीम ने सोशल मीडिया पर अपनी खुशी जताई और लिखा ‘इंसानियत की जीत हुई, सुशांत के लिए लड़ रहे वॉरियर को हमारी शुभकामनाएं. इसके साथ ही उन्होंने ताली बजाने के इमोजी का भी इस्तेमाल किया.’

और पढ़ें: वरुण धवन के बाद अब महेश शेट्टी ने जोड़े हाथ, मांगा सुशांत सिंह राजपूत के लिए इंसाफ

गुप्तेश्वर पांडेय: सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद बिहार के DGP गुप्तेश्वर पांडेय का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है जिसमे उन्होंने कहा ‘रिया चक्रवर्ती की इतनी हैसियत नहीं है कि वो बिहार के मुख्यमंत्री के बारे में कुछ भी प्रतिकूल टिप्पणी करें. आज पूरा देश रिया चक्रवर्ती को शक की नजर से देख रहा है.’

अक्षय कुमार: सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार ने ट्वीट कर कहा ‘सुशांत सिंह राजपूत का केस सुप्रीम कोर्ट ने CBI को जांच के निर्देश दिए है. सत्य की हमेशा जीत हो, इसके साथ उन्होंने हाथ जोड़ने वाली इमोजी शेयर की.’

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
मनोरंजन

आखिर क्यों गायब कर दिए गए सुशांत राजपूत के डायरी के पन्ने? ED जोड़ रही है सारी तारे

सुशांत सिंह राजपूत केस में नया मोड़, सीबीआई के हाथ लगी सुशांत की पर्सनल डायरी


बॉलीवुड एक्‍टर सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या केस एक मिस्ट्री बनता जा रहा है। इसमें रोज कुछ न कुछ नए खुलासे होते रहते है। अब कई लोग सामने आकर कई अहम बातों का खुलासा भी कर रहे है। साथ ही पुलिस के हाथ भी कई अहम सबूत लग रहे है। जिसके कारण अब सुशांत सिंह राजपूत का केस एक अलग ही मोड़ पर जा रहा है। सुशांत सिंह राजपूत केस में अभी भी जांच पड़ताल चल रही है। वहीं इसी बीच सीबीआई के हाथ सुशांत सिंह राजपूत की पर्सनल डायरी लगी। पहले सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच मुंबई पुलिस कर रही थी। इसके बाद जांच बिहार पुलिस को सौंपी दी गई। परन्तु उसके बाद सुशांत सिंह राजपूत के परिवार और उनके फैंस की मांग पर केस को सीबीआई को सौप दिया गया। अभी इस केस की जांच सीबीआई कर रही है।

क्या कुछ खास था सुशांत सिंह राजपूत की पर्सनल डायरी में?

सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच के दौरान सीबीआई के हाथ सुशांत सिंह राजपूत की पर्सनल डायरी लगी। इस डायरी में सुशांत सिंह राजपूत अपनी पर्सनल लाईफ और आगे की प्लानिंग लिखा करते थे। लेकिन हैरान करने वाली बात ये है कि जब सुशांत सिंह राजपूत की ये डायरी सीबीआई के हाथ लगी तो इसमें पहले से ही कुछ पेज गायब थे। अभी इन गायब हुए पेजों को ले कर काफी हंगामा मचा हुआ है। अभी हाल ही में सुशांत सिंह राजपूत के दोस्त सिद्धार्थ पीठानी ने भी इस मामले को लेकर कुछ हैरान करने वाली बात बतायी है।

और पढ़ें: सुशांत सिंह राजपूत का सच्चा साथी आज भी देख रहा है उनकी राह, वीडियो देख कर आप हो जायेंगे इमोशनल

क्या कहा सिद्धार्थ पीठानी ने सुशांत सिंह राजपूत की पर्सनल डायरी को ले कर

सिद्धार्थ पीठानी ने सुशांत सिंह राजपूत की पर्सनल डायरी से गायब हुए पेजों को ले कर कहा कि उन्होंने सुशांत की पर्सनल डायरी से फटे हुए कोई पेज नहीं दिखे। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि सुशांत खुद ही कई बार अपनी डायरी से पेज फाड़ दिया करते थे। उन्होंने कहा जब सुशांत को डायरी में लिखी कोई बात अच्छी नहीं लगती थी तो वह खुद उस पेज को फाड़ दिया करते थे। साथ ही उन्होंने ये भी  कहा  कि आपको सुशांत की कई किताबों में पेज भी फटे मिलेंगे। शायद आपको याद हो की, सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह ने भी इस डायरी बात की थी उन्होंने कहा था कि डायरी हाथ लगने के बाद कई राज से पर्दा उठ सकता है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
मनोरंजन

क्या आप जानते है अंकिता लोखंडे और सुशांत सिंह राजपूत के पवित्र रिश्ते की शुरुआत नोक- झोक  से हुई थीं?

‘पवित्र-रिश्ता’ से शुरू हुई थी अंकिता लोखंडे और सुशांत सिंह राजपूत की लव स्टोरी


सुशांत सिंह राजपूत आज हम सबके बीच नहीं है 14 जून को सुशांत  सिंह राजपूत ने  दुनिया को अलविदा कह दिया। उनके जाने से बॉलीवुड सहित टीवी जगत में भी सन्नाटा छा गया है। उनके मौत की खबर सुनकर हर किसी की आँखे नम हो गयी। आखिर क्यों सशांत सिंह राजपूत  दुनिया से रुकसत हो गए? इस सवाल का जवाब तो आज हर कोई तलाश रहा है।

टीवी के हॉट कपल थे अंकिता लोखंडे और सुशांत सिंह राजपूत

अंकिता लोखंडे और सुशांत सिंह राजपूत टीवी शो पवित्र-रिश्ता के अर्चना और मानव है दोनों अपने इस किरदार से लोगों के दिल में बस गए। शो के दौरान दोनों ऑन स्क्रीन तो लोगों के दिलों पर अपना जादू कायम कर ही रहे थे दूसरी तरफ दोनों के बीच ऑफ स्क्रीन रोमांस भी चल रहा था। अंकिता लोखंडे और सुशांत सिंह राजपूत की मुलाकात टीवी शो पवित्र-रिश्ता के दौरान हुई थी। 8 साल पहले शुरु हुई यह कहानी आज खत्म हो चुकी है। अंकिता लोखंडे और सुशांत सिंह राजपूत के बीच कई मोड़ आए लेकिन दोनों ने एक दूसरे का साथ कभी नही छोड़ा। खबरों के मुताबिक तो दोनों शादी के बंधन में भी बंधने वाले थे। फिर अचानक ऐसा क्या हुआ की दोनों अलग हो गए।

और पढ़ें: जेनेलिया और रितेश का दोस्ती से प्यार तक सफ़र: कैसे जेनेलिया और रितेश  की तकरार प्यार मे बदल गयी?

अंकिता लोखंडे और सुशांत सिंह राजपूत के रिश्ते में क्यों आ गई थी इनसिक्योरिटी?

अंकिता लोखंडे और सुशांत सिंह राजपूत की मुलाकात टीवी शो पवित्र-रिश्ता के दौरान हुई थी। इसी सीरियल के दौरान दोनो को एक दूसरे से प्यार हो गया था। फिर दोनो ने अपने प्यार का ऐलान सबके सामने कर दिया। उसके बाद से सुशांत सिंह राजपूत और अंकिता लोखंडे हर जगह साथ ही नज़र आने लगे। कई बार दोनों के ब्रेकअप की ख़बरें आई, लेकिन दोनों ने उनको नकार दिया। उसके बाद अंकिता लोखंडे की इनसिक्योरिटी की खबरे आई, जिसे अंकिता लोखंडे ने नकारते हुए कहा कि सुशांत मुझे अपने साथ हर जगह, हर फंक्शन, हर पार्टी और हर अवार्ड शोज में ले जाता है और पूरा बॉलीवुड और टीवी जगत यह जानता है कि हम कपल है तो भले मुझे इनसेक्योर होने की क्या ज़रूरत। फिर फिल्म राब्ता की शूटिंग के दौरान सुशांत सिंह और कृति सेनन के अफेयर की खबरें आने लगी। जिससे लेकर अंकिता लोखंडे और सुशांत सिंह राजपूत का पवित्र-रिश्ता खराब होने लगा और दोनों के बीच दूरी आने लगी। उसके बाद 2016 में दोनों का ब्रेकअप हो गया। ब्रेकअप की जानकारी खुद सुशांत सिंह राजपूत सोशल मीडिया पर दी।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
मनोरंजन

अंकिता लोखंडे ने की insta पर ख़ुशी जाहिर,  क्या अब होगा सुशांत के साथ इंसाफ ? 

क्या अंकिता लोखंडे की पोस्ट क्या किसी ओर इशारा कर रही हैं


बॉलीवुड इंडस्ट्री के मसूर एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के निधन से न सिर्फ बॉलीवुड बल्कि पूरा देश को झटका लगा था। सुशांत सिंह राजपूत ने सिर्फ 34 वर्ष की उम्र में ही दुनिया को अलविदा कह दिया। सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद से उनके फैंस के साथ-साथ नेता भी सीबीआई जांच की मांग कर रहे है। सुशांत सिंह राजपूत के निधन को लेकर लगातार कई सवाल उठ रहे थे। सुशांत सिंह राजपूत के निधन 14 जून के बाद से रोजाना नई-नई बातें खुलकर सामने आ रही है। वही अभी सुशांत सिंह राजपूत की एक्स-गर्लफ्रेंड अंकिता लोखंडे भी उनके निधन पर अब खुलकर सामने आ रही है और खुल कर बात कर रही है। सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद से उनके फैंस अंकिता लोखंडे की सोशल मीडिया पोस्ट देखने के लिए बेताब रहते है। उनके फैंस की नजर अंकिता लोखंडे के सोशल मीडिया एकाउंट्स पर बनी रहती है अभी हाल ही में अंकिता लोखंडे ने एक पोस्ट शेयर किया जिसमे शायद उनकी मनोस्थिति को लेकर है। चलिए जानते है क्या था अंकिता लोखंडे की पोस्ट में।

अंकिता लोखंडे की इंस्टाग्राम पोस्ट

अंकिता लोखंडे ने इंस्टाग्राम पर आरा के एक कोट को शेयर करते हुए लिखा है, “वह मुझसे जिंदगी में लाखों चीजे चाह रहे है इनके लिए मैंने यही जवाब देते हुए कहा, ‘वे चाहते हैं कि मैं दुनिया के अपने इस समय में लाखों-करोड़ों चीजों में तब्दील होती रहूं और झुकती रहूं और कहा, ‘मेरे लिए नहीं है। मैं पूजा की राह पर हूं, पुजारी की तरह जन्मी और मुझे बहाकर नहीं ले जाया जा सकता. मैं हमेशा अपनी मन की बात सुनती हूं और अपनी आत्मा की बात कहती हूं, ना तो मुझे खरीदा जा सकता है और ना ही मुझे बेचा जा सकता है”। अंकिता लोखंडे का ये पोस्ट खूब वायरल हो रहा है। लोग इस पोस्ट पर अपनी प्रतिक्रिया भी दे रहे है। इससे पहले भी अंकिता लोखंडे ने इंस्टाग्राम पर सुशांत सिंह राजपूत को ले कर पोस्ट किया था जिसमे उन्होंने कहा था कि ‘सच्चाई की जीत होगी’।

और पढ़ें: जेनेलिया और रितेश का दोस्ती से प्यार तक सफ़र: कैसे जेनेलिया और रितेश  की तकरार प्यार मे बदल गयी?

सुशांत के फार्महाउस मैनेजर का खुलासा

सुशांत सिंह राजपूत के फार्महाउस मैनेजर और सोशल मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक रिया चक्रवर्ती और उनके परिवार ने पिछले साल पावना लेक के पास मौजूद इस फार्महाउस में पूजा की थी। सोशल मीडिया रिपोर्ट के अनुसार लोनावला स्थित यह फार्महाउस सुशांत ने किराए पर लिया था। जिसके लिए सुशांत सिंह राजपूत हर महीने 2.5 या 3.0 लाख रुपए दिया करे थे। इतना ही नहीं, सुशांत सिंह राजपूत ने इस फार्महाउस  के लिए अगस्त 2020 तक का किराया एडवांस दे रखा था।

सीबीआई की डिमांड पर अंकिता लोखंडे ने कहा जिसका हमें इंतजार था वो पल आ गया

सुशांत सिंह राजपूत की मौत एक मिस्ट्री बनकर रह गई है इस पर रोज बड़े-बड़े खुलासे होते रहते है। कुछ घटों पहली ही अंकिता लोखंडे ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर करते हुए लिखा “आखिरकार वह पल आ गया जिसका हमें बेसब्री से इंतजार था।” अंकिता इससे पहले भी बहुत बार सुशांत सिंह राजपूत के केस में कई इंटरव्यूज में कह चुकी है कि सुशांत डिप्रेशन में नहीं हो सकते। वह जिंदगी को अच्छे से जीना चाहते थे। अभी केन्द्रीय सरकार ने बिहार सरकार की CBI जांच की सिफारिश को स्वीकार कर लिया है इससे अंकिता लोखंडे काफी खुश नजर आई। उन्होंने ये खबर अपने इंटरव्यूज अकाउंट की स्टोरी के जरिये अपने फैंस को दी।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
मनोरंजन

#Candle4SSR: इन सितारों ने शुरू की सुशांत सिंह राजपूत को न्याय दिलाने की पहल: कहाँ तक पहुंची पूछताछ?

सुशांत की आखिरी फिल्म होगी आज रिलीज़: उनकी मौत की गुत्थी पर राज़ है कायम


अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून को अपने मुंबई वाले घर में आत्महत्या कर ली थी उन्होंने आत्महत्या किस वजह से की ये बात अभी तक किसी को पता नहीं चल पाई। लेकिन अभी सुशांत सिंह राजपूत के फैंस और उनके करीबी उन्हें इंसाफ दिलाने के लिए कई तरह की कोशिश में लगे हुआ है। साथ ही उनके फैंस और उनके करीबी उनसे जुड़ी चीजों और यादों को सोशल मीडिया पर साझा कर उन्हें याद कर रहे है। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के लिए अभी कुछ बॉलीवुड कलाकार और उनके फैंस उन्हें इंसाफ दिलाने के लिए सोशल मीडिया पर प्रदर्शन कर रहे है। वह सोशल मीडिया पर कैंडल और दीया जला कर प्रदर्शन कर रहे है।

सुशांत सिंह राजपूत को इंसाफ दिलाये के लिए उनके फैंस यूज़ कर रहे है #Candle4SSR

सुशांत सिंह राजपूत को इंसाफ दिलाने के लिए उनके फैंस के साथ कुछ बॉलीवुड सितारे भी आगे आये है। बॉलीवुड कलाकार और सुशांत सिंह राजपूत के फैंस कैंडल और दीया जला कर उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे है। साथ ही वो #Candle4SSR के जरिए सुशांत सिंह राजपूत की मौत को लेकर सोशल मीडिया पर ही प्रदर्शन कर रहे है। बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने भी कैंडल जला कर सुशांत सिंह राजपूत को श्रद्धांजलि दी और सोशल मीडिया पर चल रहे ऑनलाइन प्रदर्शन का हिस्सा बनीं।

अंकिता लोखंडे भी बनीं ऑनलाइन प्रदर्शन का हिस्सा

सुशांत सिंह राजपूत की पूर्व गर्लफ्रेंड अंकिता लोखंडे ने भी ऑनलाइन प्रदर्शन में हिस्सा लिया। अंकिता लोखंडे ने सोशल मीडिया पर एक फोटो शेयर की।  जिसमे सामने भगवान रखे है और उनके सामने दीया जलाया हुआ है। इस फोटो को शेयर करते हुए अंकिता लोखंडे ने लिखा ‘उम्मीद, प्रार्थनाएं और शक्ति…. हमेशा मुस्कुराते रहो, जहां भी रहो।’ हालांकि, अंकिता लोखंडे ने पोस्ट शेयर करते हुए #Candle4SSR का इस्तेमाल नहीं किया।

और पढ़ें: मॉनसून का खूबसूरत मौसम संग ले आता है बीमारियां: कैसे करे अपना बचाव ?

मीरा चोपड़ा भी बनीं ऑनलाइन प्रदर्शन का हिस्सा

अभिनेत्री मीरा चोपड़ा भी सुशांत सिंह राजपूत को इंसाफ दिलाने के लिए ऑनलाइन हो रहे प्रदर्शन #Candle4SSR  का हिस्सा का बनीं। इतना ही नहीं अभिनेता शेखर सुमन और उनके बेटे अध्ययन सुमन भी ऑनलाइन हो रहे प्रदर्शन #Candle4SSR  का हिस्सा बनें। शेखर सुमन और उनके बेटे ने भी सुशांत सिंह राजपूत और उनके परिवार को इंसाफ दिलाने की मांग की।

सुशांत सिंह राजपूत मामले में अब तक हुए ये बड़े खुलासे

सुशांत सिंह राजपूत मामले में अब तक हुए खुलासों के अनुसार सुशांत सिंह राजपूत साल 2019 के अक्टूबर में डीपडिप्रेशन के शिकार हुए थे जिसके लिए वो  मुंबई के एक हॉस्पिटल में तकरीबन एक हफ्ते के लिए एडमिट भी हुए थे। सोशल मीडिया से मिली जानकारी के अनुसार सुशांत सिंह राजपूत पिछले कुछ सालों में करीबन 5 अलग मनोचिकित्सक से मिल चुके थे। मुंबई पुलिस ने जब डॉक्टरों से भी पूछताछ  की। जिसके बाद डॉक्टर्स ने बताया कि सुशांत सिंह राजपूत को रिया चक्रवर्ती ने अपने एक दोस्त के रिकमेंडेशन पर मिलवाया था। सुशांत सिंह जब भी डॉक्टर्स के पास काउंसलिंग के लिए जाते, तो हमेशा  रिया चक्रवर्ती  उनके साथ होती थी। अभी मुंबई पुलिस से डॉक्टर्स  सुशांत की काउंसलिंग के दौरान तैयार किए गए उनके नोट्स, मेडिकल फाइल्स और इससे जुड़े अन्य शेयर की। जिससे मुंबई पुलिस को कई और  चीजों की जानकारी मिली परन्तु मुंबई पुलिस ने अभी तक वो जानकारी मीडिया से शेयर नहीं की।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
मनोरंजन

एक बार फिर ट्रोल हुई बॉलीवुड ड्रामा क्वीन राखी सावंत, कही देश के लिए जान देने की बात

राखी सावंत ने चीन को चेतावनी देते हुए शेयर की एक वीडियो


बॉलीवुड में जानी मानी एक्टर या फिर ये कहे बॉलीवुड की ड्रामा क्वीन राखी सावंत अक्सर सुर्खियों में बनी रहती है। अगर हम उनकी फिल्मों की बात करें तो वो लम्बे समय से किसी भी फिल्म में नजर नहीं आई। लेकिन बिना फिल्मे किये कैसे सुर्खियों में बने रहना  है ये बात बॉलीवुड की ड्रामा क्वीन राखी सावंत अच्छी तरह से जानती है। कई बार वो सुर्खियों में बनी रहने के चक्र में बुरी तरह ट्रोल भी हो जाती है। वैसे अगर आप राखी सावंत के इंस्टाग्राम अकाउंट पर नजर डालेंगे तो आप दिखेगा कि वो सुर्खियों में रहने के लिए कुछ न कुछ करती रहती है वो आय दिन कोई न कोई वीडियो अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से शेयर करती रहती है। वो कभी कोरोना को ले कर कुछ बोलती है तो कभी सुशांत सिंह राजपूत के अगले जन्म को ले कर कुछ बोलती है। इस बार ये बॉलीवुड की ड्रामा क्वीन देश के लिए जान देने वाली बात को ले कर ट्रोल हो रही है।

और पढ़ें: 3 साल की उम्र में डेब्यू किया था सरोज खान ने, फिर ऐसे बनीं बॉलीवुड की टॉप कोरियोग्राफर

क्या कहा राखी सावंत ने वीडियो में

हाल ही में बॉलीवुड ड्रामा क्वीन राखी सावंत ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से एक वीडियो शेयर करते हुए चीन को चेतावनी दी। वीडियो में राखी चीन को गाली देते हुए कह रही है कि ” चीन के कुत्तों, हमारे भारत का बॉर्डर छोड़ दो। फिर वो कहती है कि मैं राखी सावंत हूं, मैं पुरे चीन को तबाह कर दूंगी।” उन्होंने वीडियो में देश के लिए मरने कि भी बात कही उन्होंने कहा ,”में अपने देश के लिए मरना चाहती हु।”

उनकी इस वीडियो के लिए लोगों ने उनको खूब ट्रोल किया। कुछ लोगो ने कहा भारत चीन एक संवेदनशील मुद्दा है। इस पर आपको ऐसे वीडियो बना कर मुद्दे का मजाक नहीं बनाना चाहिए। तो वही कुछ लोगो ने वीडियो पर कमेंट्स करते हुए लिखा ये फालतू के काम छोड़ कर कुछ अच्छा कर लिया करो। फालतू में लोगों से सुने के लिए चली आती हो। वीडियो पर इस तरह के कमेंट्स कर के लोगों ने उनको खूब ट्रोल किया। इस वीडियो से पहले राखी सावंत सुशांत सिंह राजपूत वाली वीडियो के लिए ट्रोल हुई थी जिसमे उन्होंने दावा किया था कि सुशांत सिंह राजपूत मौत के बाद उनके सपने में आये थे। इतनी बार ट्रोल होने के बाद भी राखी सावंत अपनी हरकतों से बाज नहीं आती।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
मनोरंजन

जाने नेपोटिज्म पर क्या कहना है हमारे बॉलीवुड स्टार किड्स का

नेपोटिज्म क्या है?


बॉलीवुड में भाई-भतीजावाद का मुद्दा अकसर विवादों में रहता है। लेकिन अभी हाल ही में सुशांत सिंह राजपूत की असामयिक निधन के बाद एक बार फिर बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में भाई-भतीजावाद का मुद्दा उभर कर सामने आया। सुशांत सिंह राजपूत के निधन के बाद कयास लगाए जा रहे है कि उनमें नेपोटिज्म सबसे ऊपर है। नेपोटिज्म को लेकर सुशांत सिंह राजपूत के फैंस में इतना गुस्सा भरा हुआ है कि वो बहुत सारे स्टार किड्स के सोशल मीडिया अकाउंट पर निशाना साध रहे है। उनको बद-दुआ दे रहे है। खासतौर पर करण जौहर को। वो करण जौहर को नेपोटिज्म को बढ़ावा देने वाले पैरोकार बनने का दोषी ठहराया जाता है। परिणाम सवरूप बहुत सारे सेलेब्स ने अपने सोशल मीडिया हैंडल्स को कमेंट्स के मामले में ब्लॉक कर दिया है। यानि अब कोई भी फैन उनके सोशल मीडिया अकाउंट पर उनको कोई कमेंट्स नहीं कर पाएगा। चलिए आज हम आपको बताते है कि नेपोटिज्म पर क्या सोचते है हमारे स्टार किड्स।

और पढ़ें: सहर्ष कुमार शुक्ला से खास बातचीत – रोल को लेकर हमेशा मेहनत करते थे सुशांत

आलिया भट्ट: बॉलीवुड फिल्म डायरेक्टर महेश भट्ट की बेटी आलिया भट्ट ने 2012 में करण जौहर की फिल्म ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर’ से अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की। आज उन्होंने बॉलीवुड में अपनी खुद की एक पहचान बना ली है। नेपोटिज्म पर आलिया भट्ट का कहना है कि उनके लिए भी यह सब आसान नहीं होता। यह सिर्फ देखने वालों को लगता है आज के समय में लोग आपको तभी जानते है जब आपके पास टैलेंट होता है।

रणबीर कपूर: नेपोटिज्म को सच मानते हुए रणबीर कपूर कहते है कि नेपोटिज्म तो हर जगह होता है लेकिन बॉलीवुड में कुछ ज्यादा है। फिर रणबीर कपूर ने कहा उनके दादाजी राजकपूर ने भी अपनी विरासत अपने बच्चों को दी और हम भी यही चाहते है लेकिन इसके बाद उनका टैलेंट ही है जो उन्हें आगे लेकर जाएगा।

करीना कपूर: एक इंटरव्यू में करीना कपूर से पूछा गया, क्या दूसरे किसी क्षेत्र में नेपोटिज्म नहीं है? करीना ने कहा जिस तरह एक बिजनेसमैन का बेटा अपने पिता की सारी जिम्मेदारी खुद ही उठाता है उसी तरह एक पॉलिटिशियन का बेटा अपने माता-पिता की जगह लेता है। उनमे से बहुत से बच्चे ऐसे भी होते है जो अपने माता-पिता की जगह नहीं ले पाते। उन्होंने कहा ये इंडस्ट्री टैलेंटेड लोगों की है। यहाँ टैलेंट लोगों को ही सफलता मिलती है।

सोनम कपूर: सोनम कपूर ने नेपोटिज्म पर अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर लिखा कि ‘इस वक्त लोग गंदे कमेंट्स कर रहे है जिसके चलते उन्होंने ना सिर्फ अपना बल्कि अपने मम्मी-पापा के सोशल मीडिया अकाउंट से कमेंट्स ऑफ कर दिए है। फिर उन्होंने कहा ये उनके और उनके परिवार के मानसिक स्वास्थ्य के लिए ये बहुत ज़रूरी है। उसके बाद सोनम लिखती है मेरे माता-पापा ने बहुत मेहनत की है मुझे ये सब देने के लिए। मैं किस घर में पैदा हुई। ये मेरे कर्मों का फल है’।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
मनोरंजन

सहर्ष कुमार शुक्ला से खास बातचीत – रोल को लेकर हमेशा मेहनत करते थे सुशांत

सुशांत की मौत के बाद क्या जनता बॉलीवुड के कुछ लोगों को बॉयकॉट कर सकती है?


एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत को लगभग एक सप्ताह से ज्यादा हो गया है। उनके चाहने वाले अब भी सदमे में है। इस बीच सोशल मीडिया पर उनकी मौत को लेकर बॉलीवुड पर तरह-तरह के आरोप प्रत्यारोप लगाए जा रहे हैं। फैंस के साथ-साथ सुशांत सिंह राजपूत के साथ काम करने वाले कलाकार भी इस घटना से दुःखी है। पिछले साल आई उनकी मूवी छिछोरे में उनके साथ कई एक्टर्स ने काम किया था। जिन्होंने उन्हें श्रद्धांजलि दी है। इसी बीच मूवी में बेवडे का रोल करने वाले सहर्ष कुमार शुक्ला से उनसे और फिल्म से संबंधित बातचीत की गई है।

बहुत जिंदा दिल इंसान

सहर्ष कुमार शुक्ला फिल्म छिछोरे की यादों को ताजा करते हुए कहते है कि इस फिल्म के पोस्टर रिलीज से लेकर स्क्रीनिंग तक लगभग 10 महीने तक हमलोग साथ रहे। बड़े जिंदादिल इंसान थे, शूटिंग के दौरान सबसे मिलजुल कर रहना, बातचीत करना, यह बहुत ही आमबात थी। वह अपने रोल को लेकर बहुत मेहनत करते थे। छिछोरे के बाद उनसे कभी बातचीत नहीं हो पाई। 14 जून को जब उनकी आत्महत्या की खबर मिली तो लगा कि गलत जानकारी है। सहर्ष बताते है कि मुझे किसी ने फोन करके आत्महत्या की जानकारी दी। मैंने उससे कहा उसकी मैनेजर की मृत्यु हुई है सुशांत की नहीं। लेकिन जैसे ही टीवी ऑन की सब पता चल गया।  सुनकर बहुत धक्का लगा। विश्वास करना थोड़ा मुश्किल था। अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए सहर्ष कहते है कि डिप्रेशन की जानकारी तो अभी आत्महत्या के बाद पता चली है। वह बहुत ही मस्त मौला इंसान थे। आत्महत्या वाली बात पर विश्वास करना थोड़ा मुश्किल था.

और पढ़ें: बॉलीवुड और राजनीति के अलावा भी हर क्षेत्र में फैला है नेपोटिज्म

जनता बॉयकॉट कर सकती है

सुशांत की मौत के बाद, बॉयकॉट की बात पर सहर्ष का कहना है कि अगर आत्महत्या के पीछे वो सारे कारण है जो बताएं जा रहे है तो मुझे लगता है कि लोग बॉयकॉट कर सकते हैं।  सबसे पहले तो यह क्लियर होना चाहिए की वह किस कारण डिप्रेशन में थे। उसके बाद जो भी लोग सुशांत के डिप्रेशन के लिए जिम्मेवार है उनपर कारवाई होनी चाहिए। आपको बता दें 14 जून के एक्टर सुशांत सिंह राजपूत ने बांद्रा में अपने पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी.

रोल में टैलेंट का पूरा इस्तेमाल किया जाए

एफटीआईआई से पढ़ाई करने वाले सहर्ष बताते है कि एक्टिंग मेरे लिए सबकुछ है। उससे आगे मैंने कभी कुछ नहीं सोचा है। मैं अपने अबतक के सफर से भी खुश हूं। छोटे बड़े हर तरह के रोल से खुश हूं क्योंकि मुझे सिर्फ फिल्मों में ही काम करना है। लेकिन, अगर मैं थोड़ा भी अपने काम के प्रति कमजोर होता हूं  तो लाजमी-सी बात है इंडस्ट्री से निकाल दिया जाऊंगा।  इसलिए मैं हमेशा आगे की ओर देखता हूं पिछली फिल्म में मैंने क्या किया इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। जो काम मुझे अभी मिला है उसमें मैं अपने टैलेंट का पूरा इस्तेमाल करता हूं इसलिए मैं चाहता हूं लगातार मेहनत करता रहूं।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
काम की बात करोना

बॉलीवुड और राजनीति के अलावा भी हर क्षेत्र में फैला है नेपोटिज्म

बहुत बड़ा सामाजिक सिस्टम है जिसे एकदिन में बदल पाना संभव नहीं है


अहम बिंदु

• क्या नेपोटिज्म अच्छा है?

• नेपोटिज्म हर जगह है

• नेपोटिज्म की जड़े बहुत मजबूत है

• क्या यह खत्म हो पाएगा?

रविवार की वह तपती धूप ने देश के लगभग हर व्यक्ति को हिला दिया। जब खबर मिली एक्टर सुशांत सिंह राजपूत ने आत्महत्या कर ली। कोई इसे मानने से इंकार कर रहा था तो कोई श्रद्धांजलि के तौर पर सोशल साइट पर पोस्ट डाल रहा था। आत्महत्या से हर कोई सदमे में आ गया है। सब यही जानना चाहते थे कि आखिर ऐसा क्या हुआ होगा कि सुशांत ने मौत को गले लगा लिया। सवाल पूछने का सिलसिला शुरु हुआ तो कई तरह की बातें बाहर निकलकर आई। जिसमें एक सबसे महत्वपूर्ण थी ‘नेपोटिज्म’ की। इस शब्द ने खूब तूल पकड़ा। इसी के साथ बॉलीवुड के कुछ लोगों पर नेपोटिज्म का आरोप लगा।  जिसका सोशल मीडिया पर जमकर बहिष्कार करने की बात की जा रही है। लेकिन क्या सच में लोग इनका बहिष्कार कर पाएंगे। फिल्म देखने वाले कई लोगों को तो सही से यह तक पता नहीं होता है कि किस प्रोड्क्शन हाउस की फिल्म है। जब लोगों को यही पता नहीं होगा तो बहिष्कार कैसे हो पाएगा?

बॉलीवड में नेपोटिज्म का यह पहला मामला नहीं है, इससे पहले भी कई बार आवाजें उठती रही है। कंगना रन्नौत ने पहले भी खुलकर इसके बारे में कहा था। लेकिन तब हमारा ध्यान उस तरफ नहीं गया था। समय को अगर पहले ही भापा होता तो शायद आज सुशांत हम सबके बीच में होते। जितनी खबरें आज उनके मरने के बाद दिखाई जा रही है, क्या यह पहले नहीं बताई जा सकती थी? आज लगभग हर किसी को उसके जीवन की एक-एक उपलब्धि गिनाई जा रही है, आखिर ऐसा क्यों?

क्या नेपोटिज्म अच्छा है?

जबसे सुशांत की मौत की खबर आई है, हर कोई नेपोटिज्म के खिलाफ खड़ा हो गया है। लोग अपनी-अपनी तरह से इसे खत्म करने का कथन कह रहे हैं। लेकिन क्या यह इतना आसान है? फिल्ममेकर रामगोपाल वर्मा ने ट्विटर के जरिए अपनी बात रखते हुए कहा है “नेपोटिज्मम के बिना समाज बिखर जाएगा क्योंकि परिवार से प्यार ही समाज का आधार है। जैसे आप दूसरे की पत्नी से ज्यादा प्यार नहीं कर सकते और आप दूसरों के बच्चों से भी अपने बच्चों से ज्यादा प्यार नही कर सकते ”। इनकी बात को कई लोग सही भी ठहरा रहे हैं। लेकिन टैलेंट को ताक पर रखकर किसी और को आगे बढ़ाना कहां तक सही है।

क्रेक्सन फिल्म प्रोडक्शन की फिल्ममेकर और राइट कृति नागर शर्मा का कहना है कि नेपोटिज्म तो हर फील्ड में है लेकिन बॉलीवुड में दिख जाता है। लेकिन यह कहना गलत नहीं होगा कि बॉलीवुड में नेपोटिज्म के जरिए टैलेंट की अनदेखी की जा रही है। यहां ऐसे बहुत सारे लोग है जिन्हें बहुत कुछ सीखने की जरुरत है। लेकिन उनके पास एक ऐसा सरनेम है जिसे इंडस्ट्री में भुनाया जा सकता है। इंडस्ट्री बाहर से देखने में तो बहुत रंगीन लगती है लेकिन इसकी काली सच्चाई तो अब सामने आई है।  राजा का बेटा राजा बने इसमें कोई बुराई नहीं है, लेकिन उसमें राजा के लायक गुण भी तो हो। कृति अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहती है बॉलीवुड में आजकल रीमैक्स के नाम पर पुराना कंटेट रीपीट हो रहा है। चाहे रीमिक्स गाने हो या फिल्म। इसका मुख्य कारण है नए टैलेंट को पूछा ही नहीं जा रहा है। यह मामला सिर्फ कलाकारों तक ही सीमित नहीं है। बल्कि, यह समस्या तो हर लेवल पर है। बॉलीवुड में एंट्री लेना उन लोगों के लिए आसान है जिनके पास बड़ा नाम हो भले ही टैलेंट न हो।

और पढ़ें: लॉकडाउन और बेरोजगारी: कोरोना काल में हुए कई सपने खाक

नेपोटिज्म हर जगह है

नेपोटिज्म का मामला सिर्फ बॉलीवुड और पॉलिटिक्स तक ही सीमित नहीं है। एक चपरासी की नौकरी से लेकर अफ्सरों तक इसकी जड़ें फैली हुई है। लेकिन मामला यह है कि लोगों का ध्यान कभी यहां तक जाता ही नहीं है। हर दफ्तर में इंटरव्यू से पहले ही कुछ लोग नौकरी के लिए सेलेक्ट होते हैं। टैलेंट को वहां भी मारा जाता है लेकिन यह बहुत कम ही दिखाई देता है। आईआईएमसी के पास आउट स्टूडेंट अभिषेक का कहना है कि आईआईएमसी से पढ़ने के बाद भी उनके टैलेंट को वो मुकाम नहीं मिल पा रह है जिसके वो हकदार है।

एक इंटरव्यू का जिक्र करते हुए वह कहते है, मैं एक दिन देश के एक प्रतिष्ठित न्यूज चैनल में इंटरव्यू देने गया। मेरा इंटरव्यू भी बहुत अच्छा हुआ लेकिन मेरा सलेक्शन नहीं हुआ। इसका कारण था जो शख्स मेरे साथ इंटरव्यू देने आया था वह मैनेजर का जानकार था। इस तरह की नजरअंदाजी लगभग हर जगह मौजूद है। पीएचडी की तैयारी कर रहे एक शख्स का कहना है रीटन तो क्लियर हो जाता है, इंटरव्यू में फिर वहीं बात आ जाती है, जिसकी चलती उसकी क्या गलती और यही टैलेंट पीछे हो जाता है और नेपोटिज्म की शरण वाला आगे बढ़ जाता है।

और पढ़ें: श्रमिक स्पेशल की स्पेशल सेवा भूख, प्यास और लूट: आखिर क्यो रह जाती हैं हमेशा निष्पादन में कमी?

 

नेपोटिज्म की जड़े बहुत मजबूत है

नेपोटिज्म को सिर्फ भाई-भतीजावाद तक ही नहीं सीमित रखा जा सकता है। यह तो क्षेत्रवाद, भाषावाद, जातिवाद के अलग-अलग स्तर पर टैलेंट को नकार रहा है। कुछ दिन पहले, माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के एडजंक्ट प्रोफेसर दिलीप मंडल ने अपने ट्विटर पर लिखा था  “सुप्रीम के पूर्व वकील मार्कटेय काटजू के दादा स्वयं गर्वनर थे, पिता इलाहाबाद हाईकोर्ट में जज थे, और काटजू  स्वयं सुप्रीम कोर्ट में वकील है। यह सब कॉलोजियम सिस्टम की देन है”. इसका मतलब यह नहीं है उनमें टैलेंट नहीं है ब्लकि एक ही परिवार के लोग एक सीट पर काबिज हुए हैं। इसके अलावा भी बड़े संस्थानों में ऐसे कई एक उदाहरण मिल जाएंगे। जहां परिवार के लोगों को आगे बढ़ाने की कोशिश की जा रही है। कहीं उच्च अधिकारी की कुर्सी पर बैठकर भांजे को परमामेंट प्रोफेसर बनाया जा रहा है तो कहीं पति की नौकरी पक्की कराई जा रही है। कुछ दिन पहले सोशल साइट पर एक पोस्ट बहुत तेजी से वायरल हो रही थी कि बीएचयू में सभी ऊंचे पोस्ट पर किसी एक जाति विशेष के लोग ही काबिज हैं।

क्या यह खत्म हो पाएगा

नेपोटिज्म पूरी तरह से खत्म हो पाएगा यह कहना बड़ा मुश्किल है। सामजिक तौर पर देखा जाए तो हर कोई चाहता है कि उसके घर के लोग आगे बढ़ें।  इसलिए बहुत सारे घरों में यह चर्चा भी चलती है बस कोई एक बड़े पोस्ट पर पहुंच जाएं। पूरे घर का उद्धार हो जाएगा। यह दर्शाता है कि नेपोटिज्म का कीड़ा हमारे दिमाग में शुरु से ही भर दिया जाता है। लेकिन वही बच्चा जब टैलेंट के आधार पर उस सीट को नहीं ले पाता है तो हमें यह सारी चीजें यादें आती है। यह बहुत बड़ा सामाजिक सिस्टम है जिसे एकदिन में बदल पाना संभव नहीं है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com