Categories
लेटेस्ट

आज़ादी के साथ रक्षा बंधन पर अपने भाइयो को दे यह ख़ास मैसेज

इस समय पर बाँधे अपने भाई को राखी


जहाँ एक तरफ पूरा देश भारत कि आज़ादी का जश्न मनाएगा वही दूसरी ओर पूरे भारत में रक्षा बंधन का त्यौहार भी मनाया जायेगा.यह त्यौहार भाई – बहन के लिए सबसे बड़ा त्योहार होता है. इस दिन बहन अपने भाई के कलाई पर राखी बाँधती है और यह वादा लेती है की वो उसकी हमेशा रक्षा करेगा. भाई – बहन का रिश्ता होता ही बेहद ख़ास है जो बचपन से आपके साथ लड़ेगा,गुस्सा भी करेगा लेकिन आपको हर मुसीबत से बाहर भी वही निकालेगा  . क्योंकि वो सिर्फ आपका भाई ही नहीं आपका दोस्त भी होता है इसलिए इस रक्षा बंधन आप अपने भाई को दे यह ख़ास मैसेज

 रक्षा बंधन पर दे अपने भाई को यह ख़ास मैसेज : 

1. हर पल हो तेरे लिए लक्की

बीवी न हो तेरी बिलकुल शक्की

और अपनी बॉन्डिंग यूँ ही रहे पक्की

हैप्पी रक्षा बंधन !

2.करते है बातें आपस  में खरी- खरी

हमने कभी एक दुसरे की एक न सुनी

फिर भी रहती है फ़िक्र तेरी हर घड़ी

हैप्पी रक्षा बंधन !

3.मेरा दुश्मन भी तू और दोस्त भी तू

मेरे लिए मुसीबत भी तू उसका हल भी तू

और मेरे खुशियों की दस्तक भी तू !

हैप्पी रक्षा  बंधन !

4. साथ रहकर तेरा झगड़ा कभी थमा नहीं

किसी भी बात को लेकर तुझसे कोई गिला नहीं

है तू मुझे बहुत प्यारा ,कोई तुझे रेप्लस नहीं कर सकता

हैप्पी रक्षा बंधन !

5. मेरी राखी की कलाई तू

मेरे खर्चो की भरपाई तू

बस तेरा ही ध्यान है आता

हैप्पी रक्षा बंधन !

6. खुदा करे तुझे खुशियां हज़ार मिले, मुझसे भी अच्छा यार मिले,

तेरी गर्लफ्रेंड तुझे बंधे राखी, और एक और बहन का प्यार मिले.

हैप्पी रक्षा बंधन !

7.आया राखी का त्यौहार ,

छाई खुशियों की बहार ,

एक रेशम की डोरी से बाँधा ,

एक बहन ने अपने भाई की कलाई पर प्यार

8. ये लम्हा कुछ ख़ास है ,

बहन के हाथों में भाई का हाथ है ,

तेरे सकून की खातिर मेरी बहना ,

तेरा भाई हमेशा तेरे साथ है।

राखी बांधने का यह है सही मुहूर्त

इस बार रक्षा बंधन पर राखी बांधने का शुभ समय सुबह 05.54 – शाम 05.59 मिनट तक.इस समय पर राखी बांधने का विशेष फल मिलेगा.वही दोपहर 02:03 – 03:41 बजे तक राखी ना बांधें.

Read More:- 22वीं पुण्यतिथि स्पेशल  -कैसे बने गुलशन कुमार ‘कैसेट किंग’? 

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com

Categories
धार्मिक सामाजिक

रक्षाबंधन : चंद घन्टों का ही होगा शुभ मुहूर्त

रक्षाबंधन का यह पर्व सिर्फ पौने तीन घंटों के लिए होगा


कहा जा रहा है कि रक्षाबंधन का यह पर्व सिर्फ पौने तीन घंटों के लिए ही मनाया जा सकता है। इसका मतलब यह है कि बहनें अपने भाईयों को सिर्फ इतने समय के लिए ही राखियाँ बांध पाएंगी। सुबह के समय में भद्रा और चंद्रग्रहण का सूतक होने से ऐसी परिस्थिति बताई जा जा रही है।

रक्षाबंधन

दरअसल बात ये है कि रक्षाबंधन का यह त्यौहार इस साल सात (7) अगस्त को मनाया जाने वाला है। भद्रा और चंद्रग्रहण का सूतक लगने से ही शुभ समय की कमी हो रही है। दोपहर 1:52 बजे चंद्रग्रहण का सूतक चलने वाला है और सूतक में रक्षाबंधन का पर्व नहीं मनाया जा सकता है और भद्रा में भी भाई को राखी नहीं बंधी जाती है। इसीलिए सुबह 11:05 बजे से दोपहर के 01:52 बजे तक यानि लगभग पौने तीन घंटे तक ही रक्षाबंधन का यह पर्व मनाया जा सकता है।

चंद्रग्रहण

माना यह भी जा रहा है कि इस चंद्रग्रहण के कारण समुंद्र में भी उथल-पुथल आदि के भी योग बन रहे हैं जिससे समुंद्री इलाकों में लोगों के जन-धन की हानि हो सकती है। इस ग्रहण का असर उसके एक-दो दिन तक भी देखने को भी मिल सकता है।

किस राशि के लिए शुभ, किस राशि के लिए अशुभ

इस बार चन्द्रग्रहण में पड़ने वाली राशियों मेष, सिंह, वृशिचक, मीन राशि वालों के लिए शुभ हैं जबकि वृष, कर्क, कन्या और धनु के लिए सामान्य और मिथुन, तुला, मकर, कुंभ राशि वालों के लिए अशुभ है। जिन राशियों के लिए यह अशुभ है उन्हें ग्रहण नहीं देखने चाहिए, वैसे तो ग्रहण देखने से तो सभी को ही बचना चाहिए।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in