Categories
मनोरंजन

भूमि पेडनेकर ने कोरोना काल में देशवासियों को दिया बड़ा मैसेज, कहा ‘देशप्रेम दिखाने का यही समय है’

भूमि पेडनेकर ने वीडियो शेयर कर लोगों को दिया ये खास मैसेज


कोरोना ने पूरे देश का हाल बेहाल किया हुआ है। इस महामारी से कैसे बचा जाएं इस जद्दोजहद में पूरा देश लगा हुआ है। सभी लोग अपनी अपनी जिम्मेदारी समझते हुए एक दूसरे की मदद कर रहे हैं और इस महामारी से बचने की हर मुमकिन कोशिश कर रहे है। हमारे बॉलीवुड सेलेब्स भी इसमें पीछे नहीं है वो भी लगातार अपने फैंस से यही विनती कर रहे हैं कि वह कैसे खुद का और अपनों का ख्याल रखें। ऐसे में अभी बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर ने भी एक वीडियो शेयर कर अपने फैंस को घर पर ही रहकर अपना देश प्रेम दिखाने की अपील की है। तो चलिए विस्तार से जानते है क्या कहा उन्होंने वीडियो में।

अभी कोरोना महामारी को देखते हुए सभी लोग खुद को इसके कहर से बचाने की कोशिश कर रहे है। खासकर वो लोग जो कोरोना वायरस का शिकार हो चुके थे और अभी वो कोरोना को मात दे कर अन्य सभी लोगों को भी इससे बचने और इसे सीरियसली लेने की अपील कर रहे हैं। हाल ही में भूमि पेडनेकर ने एक वीडियो शेयर कर लोगों को बहुत अच्छी नसीहत दी है। जो लोगों को पसंद भी आई। दरअसल भूमि पेडनेकर खुद कुछ समय पहले कोरोना का शिकार हो गयी थी। जिसके बाद उन्होंने खुद को घर पर ही कुछ दिनों के लिए आइसोलेशन कर लिया था। उन्होंने अपना ख्याल रखा और कोरोना को मात दी। जिसके बाद उन्होंने लोगों को कोरोना के प्रति जागरुक करने के लिए वीडियो शेयर की।

Image Source- IMgPatrika

और पढ़ें:  Death anniversary- इरफान की शानदार फिल्में जो देती है सामाजिक संदेश

भूमि पेडनेकर ने कुछ समय पहले अपने इंस्टाग्राम अकाउंट के जरिए एक वीडियो शेयर की थी। जिसमें उन्होंने लोगों को कोरोना के प्रति जागरुक किया। अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर वीडियो अपलोड करते हुए भूमि पेडनेकर ने कैप्शन में लिखा ” घर पर रहो… यही असली देशप्रेम दिखाने का सही समय है।’ भूमि पेडनेकर के इस वीडियो को उनके फैंस द्वारा काफी पसंद किया जा रहा है।

भूमि पेडनेकर ने वीडियो शेयर कर खुद को एक कोरोना वॉरियर बताया है भूमि वीडियो शेयर कर

लोगों को नसीहत दे रही हैं कि इस समय तब तक घर से बाहर न जाएं जब तक कोई बहुत ज्यादा

 जरुरी काम न हो। आगे उन्होंने कहा इस समय पर किसी दोस्त से मिलना, रिश्तेदार से मिलना या फिर किसी भी व्यर्थ कारण से घर से बाहर जाना बिलकुल भी सही नहीं है। आपको जितना हो सके अपने घर पर ही रहना चाहिए।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

जानें ब्रेन एक्सरसाइज के बारे में, जो आपके दिमाग को बनाती हैं हेल्दी और एक्टिव

जाने ब्रेन को फिट रखने के बेहतरीन तरीके


ये बात तो हम सभी लोग जानते है कि एक्सरसाइज
हमारे लिए कितनी जरूरी है। साथ ही हमें  नहीं लगता कि हमें आपको एक्सरसाइज के फायदों के बारे में तो बताने की जरूरत है। एक्सरसाइज हमारे शरीर को फिट रखने का एक बेहद
ही बेहतरीन तरीका है। अगर हम स्वास्थ्य एक्टिविटी के बारे में बात करें तो
एक्सरसाइज इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। आज के समय में लोग अपने बिजी लाइफस्टाइल के
कारण इस पर ध्यान नहीं देते लेकिन इस पर जितना
ध्यान दिया जाये उतना कम है। अगर आप अपने शरीर को लम्बे समय तक हेल्दी और फिट रखना चाहते है तो अपने डेली रूटीन में
एक्सरसाइज को ऐड कर सकते है। एक्सरसाइज न सिर्फ आपको आज एक्टिव और स्वस्थ रखेगा बल्कि ये आपको आने वाले समय में भी आपको एक्टिव और स्वस्थ रखेगा। तो चलिए आज हम आपको ब्रेन एक्सरसाइज के बारे में बतायेगे। क्योंकि ब्रेन हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। ब्रेन हमारे शरीर के बाकि महत्वपूर्ण अंगों की तरह एक है। इसे भी स्वस्थ रहने और बेहतर रूप से काम करने के
लिए आपके शरीर के बाकी हिस्सों की तरह ही
एक्सरसाइज, अटेंशन और सिमुलेशन की आवश्यकता
होती है।

Image Source- Pixa Bay

तो चलिए आज हम आपको कुछ ब्रेन एक्सरसाइज के बारे में बताएंगे।

गेम खेलें: ब्रेन एक्सरसाइज के तौर पर आप गेम्स खेल
सकते है। यह एक शानदार तरीका है। सुडोकू, वर्ग पहेली और इलेक्ट्रॉनिक गेम्स ये सभी गेम्स ब्रेन की गति और स्म्रति में सुधार कर सकते है। ये सभी गेम तर्क, शब्द कौशल, गणित आदि पर निर्धारित होते हैं। इसी लिए शायद ये गेम दिमाग को चुनौती देने के साथ ही साथ मजेदार भी होते है।

और पढ़ें: अगर कमजोर हो रही है आंखों की रोशनी, तो आजमाएं ये घरेलू नुस्खे

संगीत सुनें: जब भी आप फ्री हो उस समय पर आप अच्छा संगीत सुन सकते हैं। एक रिसर्च के अनुसार हैप्पी सॉन्ग्स सुनने से रचनात्मक सोच में सुधार हो सकता है। इतना ही नहीं हैप्पी सॉन्ग्स सुनने से दिमाग के फंक्शन करने की क्षमता भी बेहतर हो जाती है साथ ही साथ नए सॉल्यूशन निकालने में मदद मिल सकती है.

image Source- Pixa Bay

ध्यान: रोजाना नियमित रूप से ध्यान लगाना, शायद वह एक सबसे बड़ी चीज है, जो आपके मन, मस्तिष्क और
शरीर को स्वास्थ्य रखने में आपकी सहायता करता है। रोजाना ध्यान करने से न सिर्फ आपके शरीर को रिलैक्स मिलता है बल्कि एक अलग मानसिक स्थिति बनाकर, आपके दिमाग को भी कसरत देता है। ऐसा करने से आप अपने मस्तिष्क की फिटनेस को
बढ़ाते हुई मस्तिष्क को नए और दिलचस्प तरीकों से
व्यस्त रख सकते है।

दुसरो को सिखाएं: ये बात तो आप बचपन से ही सुनते आ रहे होंगे कि अपने ज्ञान को बढ़ाने का सबसे अच्छा
तरीका है कि अगर आप कोई नई स्किल सीखें तो
आपको दूसरे व्यक्ति को भी वो स्किल सिखाएं । क्योंकि कुछ भी नया सिखने के बाद आपको उसका
अभ्यास करने की जरूरत होती है। जब आप अपनी सीखी हुई चीज को किसी और को
सिखाते है तो आप पूरे कॉन्सेप्ट को रिपीट करते हैं जिससे आप इसे और बेहतर तरीके से सीख पाते हैं।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

क्या आपको भी लगता है Waxing करवाने से डर ?

3 टिप्स जो आपके waxing एक्सपीरियंस को बनाएगा painless


Remove this fear from your mind before getting waxedआज के समय में सुन्दर दिखना भला किसे पसंद नहीं होता? आज के समय में खुद को सुन्दर बनाने और दिखाने के लिए मार्किट में बहुत सारी चीजे मौजूद है। आज के समय में किसी भी लड़की को अपने फेस और बॉडी पर बाल बिलकुल भी पसंद नहीं होते है। इस लिए आज के समय में बॉडी और फेस पर मौजूद अनचाहे बालों को हटाने के लिए कई सारी तकनीक मौजूद हैं। रेजर से लेकर वैक्सिंग तक आज के समय में हमारे पास बहुत सारी चीजे उपलब्ध है। लेकिन इन सभी चीजों में से रेजर को बाल हटाने के लिए सबसे कम दर्दनाक माना जाता है। लेकिन वैक्सिंग एक ऐसी चीज है जिसे आपको थोड़ा दर्द जरूर महसूस होगा लेकिन वैक्सिंग को आप लंबे समय के लिए कर सकते है। अगर आप दो से तीन सप्ताह के लिए हेयर फ्री रखना चाहती है तो आप वैक्सिंग को चुन सकती है। लेकिन ज्यादातर लड़किया जब भी वैक्सिंग के बारे में सोचती है तो वह इसे होने वाले दर्द के बारे में सोच कर ही सेहम जाती है। तो चलिए आज हम आपको कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताएंगे जिन्हे आप ध्यान में रख कर वैक्सिंग से होने वाले दर्द से बच सकते है।

बालों के बहुत लंबे होने का इंतजार न करें: अपने देखा होगा कि बहुत सारी महिलाएं बालों की अच्छी ग्रोथ होने के बाद ही वैक्सिंग करवाने का प्लॉन करती है। क्योंकि अक्सर महिलाओं को लगता है लम्बे बालों में वैक्सिंग करवाना ही अच्छा रहेगा। लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है आपको न तो बिलकुल छोटे बालों में वैक्सिंग करनी चाहिए न ही बहुत बड़े बालों में। ऐसा इसलिए क्योंकि  अगर आपके बाल बहुत छोटे होंगे हो तो वो वैक्सिंग की पकड़ में नहीं आएंगे और अगर बहुत बड़े होंगे तो आपको वैक्सिंग के समय बहुत ज्यादा दर्द होगा।

Read more: एक समय पर ये बॉलीवुड हसीनाएं थी ओवरवेट, लेकिन आज बन चुकी है लोगों की फिटनेस इंस्पिरेशन

प्रेग्नेंसी में नहीं करनी चाहिए वैक्सिंग:
 अपने देखा होगा कि जब भी कोई महिला अपने प्रेग्नेंसी के दौर में होती है तो उस समय पर वो अपने शिशु को लेकर अधिक सतर्क हो जाती है। और लोगों द्वारा सुनी सुनाई बातों पर भी विश्वास करने लगती है। कुछ महिलाये मानती है  कि प्रेग्नेंसी के दौरान वैक्सिंग नहीं करवानी चाहिए, क्योंकि इससे बच्चे पर बुरा असर पड़ता है। जबकि ऐसा बिलकुल भी नहीं है। आप चाहो तो अपने प्रेग्नेंसी के दौर में भी वैक्सिंग करवा सकती हैं। इस समय पर हार्मोनल का उतार-चढ़ाव अधिक होने के कारण आपकी स्किन अधिक सेंसेटिव हो जाती है ये बिलकुल आपके पीरियड के समय की तरह होता है।

वैक्सिंग के दौरान आपकी स्किन पर रिंकल्स हो सकते हैं: कुछ महिलाओं का माना है कि वैक्सिंग के बाद स्किन पर रिंकल्स हो सकते है। क्योकि वैक्सिंग के दौरान स्किन को स्ट्रेच किया जाता है, जिसके कारण यह सैगिंग हो सकती है या फिर आपको रिंकल्स की समस्या हो सकती हैं। लेकिन ये गलत है क्योकि एक अच्छा वैक्सिंग थेरेपिस्ट हमेशा वैक्स करते समय आपकी स्किन को कोई नुकसान नहीं होने देता। इसलिए वैक्सिंग के लिए हमेशा आपको एक अच्छा पार्लर का चयन करना चाहिए।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
हॉट टॉपिक्स

आज मिली पेट्रोल-डीजल के दामों में राहत, पांच दिन बाद घटे पेट्रोल-डीजल के दाम

जाने अपने शहर के पेट्रोल-डीजल के दाम


पेट्रोल डीजल की बढ़ती महंगाई से पूरे देश की जनता परेशान है लेकिन आज यानि की मंगलवार की सुबह लोगों को एक राहत की खबर सुनने को मिली। एक बार फिर पांच दिनों बाद तेल कंपनियों ने पेट्रोल डीजल की कीमतों में कटौती की है। आज सुबह तेल कंपनियों ने अनुसार तय हुई कीमतों से पेट्रोल 22 पैसे और डीजल 23 पैसे सस्ता हुआ। अगर हम देश की राजधानी दिल्ली की बात करें तो दिल्ली में आज पेट्रोल का दाम 90.56 रुपये जबकि डीजल का दाम 80.87 रुपये प्रति लीटर है। वही अगर हम मुंबई की बात करें तो मुंबई में पेट्रोल की कीमत 96.98 रुपये व डीजल की कीमत 87.96 रुपये प्रति लीटर है। तो चलिए जानते है बाकी राज्यों के पेट्रोल-डीजल के दामों के बारे में।

जाने देख के प्रमुख महानगरों में पेट्रोल डीजल की कीमतों के बारे में

शहर         डीजल          पेट्रोल

दिल्ली         80.87          90.56

मुंबई          87.96          96.98

कोलकाता   83.75           90.77

चेन्नई          85.88          92.58

नोएडा        88.91           81.33

बेंगलुरु       93.59           85.75

हैदराबाद    94.16           88.20

जयपुर        97.08           89.35

लखनऊ      88.85           81.27

पटना          92.89           86.12

और पढ़ें: होली की थकान को करना चाहते हैं दूर, तो खाएं ये सारी चीज़ें

Image source – Indian express

रोज छह बजे बदलती है पेट्रोल डीजल की कीमतें

आपको बता दें कि रोज छह बजे पेट्रोल डीजल की कीमतों में बदलाव आता है। रोज छह बजे से पेट्रोल और डीजल की नई दरें लागू की जाती है। पेट्रोल व डीजल के दाम में एक्साइज ड्यूटी, डीलर कमीशन और अन्य चीजें जोड़ने के बाद इसका दाम लगभग दोगुना हो जाता है। इन्हीं मानकों के अनुसार पेट्रोल डीजल के रेट तेल कंपनियों द्वारा तय किये जाते है। उसके बाद पेट्रोल पंप वाले खुद को खुदरा कीमतों पर उपभोक्ताओं के अंत में करों और अपने स्वयं के मार्जिन जोड़ने के बाद पेट्रोल बेचते हैं। इतना ही नहीं पेट्रोल और डीजल रेट में कॉस्ट भी जुड़ती है।

जानिए अपने शहर के पेट्रोल डीजल के दाम

अगर आप अपने शहर के पेट्रोल डीजल की कीमत जानना चाहते है तो आप एसएमएस के जरिए भी जान सकते हैं। अगर हम बात करें इंडियन ऑयल की तो इंडियन ऑयल के अनुसार आपको RSP और अपने शहर का कोड लिखकर 9224992249 नंबर पर भेजना होगा। इससे आपको अपने शहर के पेट्रोल डीजल के दाम पता चल जायेगा। हर शहर का कोड अलग-अलग है, जो आपको आईओसीएल की वेबसाइट से मिल जाएगा।

100 रुपये के पार चला गया था पेट्रोल

जैसा की हम आपको बता चुके है कि किसी भी राज्य के वैट की स्थानीय दरों और परिवहन लागत के आधार पर देश भर में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में अंतर होता है। अगर हम पिछले महीने की बात करें तो पिछले महीने राजस्थान, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में कुछ स्थानों पर पेट्रोल की कीमत 100 रुपये प्रति लीटर से पार चली गयी थी। जिसके बाद पेट्रोल के बाद 100 रुपये के पार चले गया था।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
मनोरंजन

Amitabh Bachchan surgery: जानें 1982 से लेकर अब तक कितनी बार सर्जरी करा चुके है अमिताभ बच्चन, मौत को भी दे चुके हैं मात

Amitabh Bachchan surgery: जाने अमिताभ बच्चन की सर्जरी और उनके दर्द के बारे में


अभी हाल ही में बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन ने अपने एक ब्लॉग के माध्यम से अपने फैंस की चिंता बड़ा दी है. उन्होंने देर रात एक ब्लॉग में बताया कि उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं हैं. इसलिए वो सर्जरी करवाने जा रहे हैं. जिसके बाद से उनके फैंस काफी ज्यादा परेशान हो गए थे.  लेकिन अभी खबर आ रही है कि उनकी तबीयत ठीक हैऔर अभी वो अपने घर पर ही आराम कर रहे है.  उनके फैंस को ये पता नहीं चल पाया कि उन्हें क्या हुआ है और वो किस चीज की सर्जरी करा कर आये है या फिर करवाने वाले है.  ऐसा  पहली बार नहीं हुआ है जब अमिताभ बच्चन का स्वास्थ्य खराब हुआ है. इससे पहले भी कई बार उनका स्वास्थ्य बिगड़ा है और उन्होंने कई बार सर्जर भी करवाई है.  तो चलिए आज हम आपको अमिताभ बच्चन  की सर्जरी और उनके दर्द के बारे में बतायेगे.

कोरोना के दौरान: ये बात तो शायद आप जानते ही होंगे कि साल 2020 में अमिताभ बच्चन कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए थे. जिसके कारण वो एक महीने तक अस्पताल में भर्ती  रहे थे और उन्हें सांस लेने में दिक्कत का सामना भी करना पड़ा रहा था.  जिसके कारण वो दो दिन तक आईसीयू में भी भर्ती रहे.  उसके बाद 2 अगस्त 2020 को रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उन्हें हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कर दिया गया.

 

और पढ़ें: जानें कौन है सारा अली खान की 22 साल छोटी बहन  इनाया, जिसके बेहद करीब है सारा

 

Image source -Livemint

आंतों की समस्या: साल 2019 में भी अमिताभ बच्चन को मुंबई के एक अस्पताल में ले जाया गया. वहां उन्हें तीन दिनों तक रखा गया.  इस दौरान उनका आंतों की समस्या को लेकर इलाज चला.

गर्दन और पीठ में दर्द: साल 2018 में अमिताभ बच्चन को जोधपुर में ‘ठग्स ऑफ हिंदोस्तान’ की शूटिंग के दौरान बहुत भारी पोशाक पहनी पड़ी थी.  जिसकी वजह से उनकी गर्दन और पीठ में बहुत तेज दर्द हुआ था.  जिसके बाद उन्हें तुरंत मुंबई रवाना किया गया था.

लीवर: साल 2012 में भी अमिताभ बच्चन को ऑपरेशन के लिए भर्ती करवाया गया था.  उस समय उनका लीवर लगभग 75  प्रतिशत काम करने की स्थिति में नहीं था.  उसके बाद उनको ऑपरेशन में भर्ती किया गया था.

पेट दर्द: साल 2008 में भी अमिताभ बच्चन पेट दर्द के कारण ऑपरेशन कराना पड़ा.

‘कुली’ की शूटिंग के दौरान लगी गंभीर चोट: साल 1982 में ‘कुली’ की शूटिंग के दौरान अमिताभ बच्चन के पेट में गंभीर चोट लग गयी थी.  जिसके कारण वह कोमा में चले गए थे.  इस चोट के कारण अमिताभ को 200 डॉनर्स से लगभग 60 बोतल ब्लड चढ़ाया गया था.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
मनोरंजन

जाने बॉलीवुड के 5 बेस्ट भाई-बहन जोड़ी के बारे में, जो पर्दे पर कभी नहीं दिखे साथ

जाने बॉलीवुड की बेस्ट भाई-बहन जोड़ी के बारे में


हमारे बॉलीवुड में ऐसे कई स्टार हैं जो बड़े पर्दे पर खूब धूम मचा रहे हैं और उनके भाई-बहन भी इसी बॉलीवुड इंडस्ट्री का  हिस्सा है. लेकिन ऐसा देखने को बहुत कम मिलता है जब दोनों एक साथ पर्दे पर नजर आएं. भले आपको इन भाई बहनों की तस्वीरें सोशल मीडिया पर साथ दिख जाती होगी लेकिन अक्सर ये भाई-बहन पर्दे से दूर रहते है.  तो चलिए आज हम आपको कुछ ऐसे ही बॉलीवुड सितारों के बारे में बतायेगे, जो भाई-बहन बॉलीवुड का हिस्सा तो है लेकिन फिर भी कभी पर्दे पर दोनों साथ नजर नहीं आते.

 

प्रियंका चोपड़ा और परिणीति चोपड़ा: प्रियंका चोपड़ा और परिणीति चोपड़ा दोनों कजिन सिस्टर है.  एक तरफ प्रियंका चोपड़ा  बॉलीवुड के साथ साथ हॉलीवुड में भी अपनी एक अलग पहचान बना चुकी है वही दूसरी तरफ परिणीति चोपड़ा अपने बॉलीवुड करियर पर ही फॉक्स कर रही है. प्रियंका चोपड़ा और परिणीति चोपड़ा दोनों एक दूसरे को खूब पसंद करती है और एक दूसरे के काम को भी सहराती हैं लेकिन उसके बाद भी आज तक दोनों ने पर्दे पर साथ काम नहीं किया है.

 

और पढ़ें: बिग बॉस के घर से निकलते ही खुली निक्की तंबोली की किस्मत, मिला पहला काम

 

Image source – India Today

अर्जुन कपूर और सोनम कपूर: बॉलीवुड अभिनेता अर्जुन कपूर और सोनम कपूर भी कजिन भाई बहन है. अर्जुन कपूर बोनी कपूर और उनकी पहली पत्नी मोना के बेटे हैं तो वही सोनम कपूर बोनी कपूर के छोटे भाई और बॉलीवुड स्टार अनिल कपूर की बेटी हैं.  दोनों भाई बहिन बेहद करीब है लेकिन दोनों ने आज तक एक पर्दे पर काम नहीं किया है. आप दोनों को अक्सर साथ में  पार्टी करते हुए देख सकते हैं. लेकिन पर्दे पर अब तक ये जोड़ी साथ में नजर नहीं आई है.

 

करीना कपूर और रणबीर कपूर: बॉलीवुड इंडस्ट्री में कपूर खानदान एक ऐसा नाम है जिन्होंने बॉलीवुड इंडस्ट्री में अपनी एक खास पहचान बनाई हुई है. बॉलीवुड हसीना करीना कपूर और बॉलीवुड के चॉक्लेटी हीरो रणबीर कपूर दोनों की एक्टिंग बेहद मशहूर है. लेकिन क्या आपको पता है दोनों इतने मशहूर होने के बाद भी अभी तक एक पर्दे पर साथ में नजर नहीं आये है.

 

पूजा भट्ट, आलिया भट्ट और इमरान हाशमी: क्या आपको पता है बॉलीवुड के सीरियल किसर यानि की इमरान हाशमी  अभिनेत्री पूजा भट्ट के भाई है. इतना ही नहीं इमरान हाशमी बॉलीवुड की उभरती एक्ट्रेस आलिया के भी भाई लगते है. लेकिन  अभी तक इन तीनों भाई बहनों को किसी भी फिल्म में एक साथ नहीं देखा गया है.

 

सनी देओल, बॉबी देओल और अभय देओल: बॉलीवुड अभिनेता सनी देओल, बॉबी देओल और अभय देओल तीनों भाई है लेकिन अभी तक सनी देओल और अभय देओल किसी भी फिल्मी पर्दे पर एक साथ नजर नहीं आए. वही अगर हम बात करें सनी देओल, बॉबी देओल की तो इन दोनों ने साथ में तीन फिल्मे की है.

 

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
हॉट टॉपिक्स

डीएमआरसी ने 26 जनवरी को लेकर जारी की एडवायजरी, बंद रहेंगे कुछ मेट्रो स्टेशन

जाने कोरोना संकट के बीच कैसे हो रही है 72वें गणतंत्र दिवस की तैयारियां


जैसा की हम जानते है कि लम्बे समय से भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया कोरोना वायरस से परेशान है इसी बीच अभी हमारे देश में कोरोना संकट के बीच 72वें गणतंत्र दिवस की तैयारियां जोरों पर है.  इस साल कोरोना संकट के कारण साल आम लोगों के साथ-साथ प्रशासन के सामने भी 72वें गणतंत्र दिवस समारोह के सुरक्षित आयोजन की चुनौती है. इस बार पुरे देश में गणतंत्र दिवस को लेकर सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद की जा रही है. हर साल की तरह इस साल भी दिल्ली पुलिस गणतंत्र दिवस की तैयारियों में जुटी है. इतना ही नहीं दिल्ली पुलिस के अलावा दिल्ली मेट्रो ने भी गणतंत्र दिवस समारोह के लिए सुरक्षा व्यवस्था को लेकर खास तैयारियां की हैं. साथ ही साथ डीएमआरसी ने यात्रियों के लिए एडवायजरी भी जारी की है.

 

जाने कब से कब तक बंद रहेंगे मेट्रो स्टेशन

डीएमआरसी यानि की दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने कहा है कि अभी सभी मेट्रो पार्किंग लॉट 25 जनवरी सुबह 6 बजे से लेकर 26 जनवरी दोपहर 2 बजे तक बंद रहेगी.  इतना ही नहीं दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने ट्वीट करके प्रमुख मेट्रो स्टेशनों के बारे में भी कुछ महत्वपूर्ण दिशानिर्देश जारी किए हैं. दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के ट्वीट के मुताबिक केन्द्रीय सचिवालय और उद्योग भवन मेट्रो स्टेशन गणतंत्र दिवस यानि की 26 जनवरी को दोपहर 12 बजे तक बंद रहेगी. साथ ही साथ डीएमआरसी ने बताया कि दोपहर 2 के बाद भी यात्री केन्द्रीय सचिवालय मेट्रो स्टेशन को केवल लाइन 2 और लाइन 6 के बीच इंटरचेंज के रूप में ही इस्तेमाल कर सकेंगे. डीएमआरसी बताया कि पटेल चौक और लोक कल्याण मार्ग मेट्रो स्टेशनों पर एंट्री और एग्जिट गणतंत्र दिवस के दिन सुबह 8.45 बजे से दोपहर 12 बजे तक बंद रहेगी.  समयपुर बादली और हुडा सिटी सेंटर मेट्रो लाइन की सेवा 26 जनवरी को सिर्फ आंशिक तौर पर ही चालू रहेगी.

 

और पढ़ें: आज आजाद मैदान में जुटेंगे हजारों किसान, जाने आंदोलन से जुडी महत्वपूर्ण बाते

 

 

जाने डीएमआरसी की एडवायजरी

 

1. डीएमआरसी के ट्वीट के मुताबिक सेंट्रल सचिवालय स्टेशन का उपयोग गणतंत्र दिवस के दिन यात्री सिर्फ इंटरचेंज लाइन 2 और लाइन 6 के लिए कर सकते है।

 

2. गणतंत्र दिवस के दिन सुबह 11:00 बजे से दोपहर 12 बजे तक पटेल चौक और लोक कल्याण मार्ग मेट्रो स्टेशन पर प्रवेश और निकास बंद रहेंगे।

 

3. समयपुर बादली और हुडा सिटी सेंटर मेट्रो लाइन की सेवा 26 जनवरी को सिर्फ आंशिक तौर पर ही चालू रहेंगी।

 

4. केंद्रीय सचिवालय और उद्योग भवन मेट्रो स्टेशनों पर प्रवेश और निकास 26 जनवरी को दोपहर 12 बजे तक बंद रहेगा।

 

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
हॉट टॉपिक्स

आज किसान आंदोलन का 50 दिन, क्या आज निकलेगा कोई समाधान, जानें आंदोलन से जुड़ी कुछ अहम बातें

आज किसान संगठनों और सरकार के बीच होगी नवें चरण की बातचीत


कृषि के नये कानूनों के खिलाफ किसानों द्वारा शुरू किये गए आंदोलन का आज 50 दिन है. अभी तक कृषि के नये कानूनों को लेकर सरकार और किसान संगठनों के बीच आठ चरणों में बातचीत हो चुकी है.  लेकिन आज तक मुद्दे का कोई हल नहीं  निकल सका है.  परन्तु इस हफ्ते सुप्रीम कोर्ट ने कानूनों पर चर्चा के लिए एक समिति का गठन कर दिया है. जिसका अभी किसान संगठन विरोध कर रहे हैं.  जिसको लेकर आज यानि कि शुक्रवार को एक बार फिर सरकार और किसानों के बीच बातचीत होनी है.  अभी सरकार और किसानों के बीच नवें चरण की बातचीत के बावजूद भी इस बात पर अनिश्चितता बनी
हुई है कि इस मुद्दे पर कोई हल निकलेगा या नहीं क्योंकि अभी तक किसान नेताओं ने इस बात पर जोर दिया हुआ है कि वो इन नए कानूनों को वापस लेने की मांग से पीछे नहीं हटेंगे.

 

जाने किसान आंदोलन से जुडी कुछ अहम बातें

1. किसानों ने नवें चरण की बातचीत से पहले गुरुवार यानि कि कल कहा कि वे शुक्रवार को सरकार के साथ नौवें चरण की बातचीत का हिस्सा बने जा रहे है लेकिन उन्हें इस बातचीत की ज्यादा उम्मीद नहीं है कि कोई समाधान निकलेगा.क्योंकि वे इन कानूनों को वापस लिए जाने की मांग से पीछे नहीं हटेंगे.

 

और पढ़ें: कॉमेडिन जिनको हंसी की जगह मिली जेल की हवा और सोशल मीडिया पर लोगों की नफरत

 

 

2. मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने कृषि के नए कानूनों के खिलाफ डाली गई याचिकाओं पर फैसला सुनाते हुए, इन पर चर्चा के लिए एक समिति का गठन किया था. लेकिन किसानों ने इसका विरोध किया है.

 

3. कल यानि की गुरुवार को कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा था कि उन्हें शुक्रवार को यानि की आज हो रही बातचीत से सकारात्मक परिणाम निकलने की उम्मीद है. हालांकि नरेंद्र सिंह तोमर पहले भी केंद्र सरकार की इन  बैठकों से हल निकलने की आशा जता चुके हैं.

 

4. ऐसा माना जाना रहा है कि आज किसान संगठनों की सरकार के साथ आखिरी बैठक हो। क्यो कि सुप्रीम कोर्ट की समिति की पहली बैठक 19 जनवरी को होने की संभावना है.

 

5. पिछले हफ्ते किसानों द्वारा ट्रैक्टर रैली निकाली गयी थी और किसानों ने कहा था कि अगर 26 जनवरी से पहले उनकी मांगें नहीं मानी जाएगी तो वो राजपथ पर होने वाली परेड के समानांतर अपनी बड़ी ट्रैक्टर रैली निकालेंगे. इस बात को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने किसान संगठनों को नोटिस जारी किया था. अब इस पर सोमवार को सुनवाई होनी है.

 

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
हॉट टॉपिक्स

जानें बर्ड फ्लू क्या है और ये पक्षियों से इंसानों तक कैसे फैलता है

जानें क्या है बर्ड फ्लू


लम्बे समय से पूरी दुनिया कोरोना वायरस से परेशान है.  अभी हमारे देश से कोरोना वायरस गया नहीं कि उससे पहले हमारे देश में कई राज्यों में बर्ड फ्लू के मामले सामने आने लगे है और कई सारे राज्यों में तो ये मामले काफी ज्यादा बढ़ते जा रहे हैं. मध्य प्रदेश, झारखंड, हरियाणा, राजस्थान और हिमाचल प्रदेश में तो बर्ड फ्लू को लेकर अलर्ट भी जारी कर दिया गया है. इन राज्यों में पोल्ट्री फार्म, जलाशयों और प्रवासी पक्षियों पर विशेष निगरानी रखने को कहा गया है. इतना ही नहीं जिन जगहों पर संक्रमण फैल रहा है वहाँ पर मांस बेचने पर भी प्रतिबंध लगाया जा रहा है. पिछली साल दिसंबर में जापान, वियतनाम, साउथ  कोरिया और चार यूरोपीय देशों में बर्ड फ्लू के मामले आने शुरू हुए थे और अभी ये बर्ड फ्लू भारत के मामले भारत के कई राज्यों में फैल चुका है.

बर्ड फ्लू एक वायरल इंफेक्शन है जिसे हम एवियन इन्फ्लूएंजा भी कहते है.  ये एवियन इन्फ्लूएंजा इंफेक्शन एक पक्षी से दूसरे पक्षियों में फैलता है.  एवियन इन्फ्लूएंजा का सबसे बड़ा जानलेवा स्ट्रेन H5N1 होता है. अगर कोई पक्षी H5N1 वायरस से संक्रमित है तो उसकी मौत भी हो सकती है.  इतना ही नहीं ये वायरस संक्रमित पक्षियों से अन्य जानवरों और यहाँ तक की इंसानों में भी फैल सकता है और इंसानों के लिए भी ये वायरस इतना ही खतरनाक होता है.

 

और पढ़ें: जाने ‘प्राकृतिक इम्यूनिटी’ या फिर ‘कोरोना वैक्सीन’, कौन सी चीज होगी ज्यादा बेहतर

 

 

जाने इंसानों में बर्ड फ्लू का पहला मामला कब आया था

1997 में हॉन्ग कॉन्ग में इंसानों में बर्ड फ्लू का पहला मामला सामने आया था. उस समय पर बर्ड फ्लू के प्रकोप की वजह पोल्ट्री फार्म में संक्रमित मुर्गियों को बताया जा रहा था इतना ही नहीं 1997 में बर्ड फ्लू से संक्रमित 60 फीसदी लोगों की मौत हो गई थी. बर्ड फ्लू बीमारी संक्रमित पक्षी के मल, नाक के स्राव, आंखों से निकलने वाले पानी और मुंह की लार से इंसानों में फैलता है.

 

जाने बर्ड फ्लू पक्षियों से इंसानों में कैसे फैलता है

H5N1 बर्ड फ्लू इंसानों में होने वाले आम फ्लू की तरह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में आसानी से नहीं फैलता है. बर्ड  फ्लू एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में तभी फैलता है जब दोनों के बीच काफी ज्यादा करीबी संपर्क होता है. जैसे अगर आपके घर पर कोई छोटा बच्चा संक्रमित है और आप बच्चे की देखभाल कर रहे है तो आपको बर्ड फ्लू होने की संभावना होती है या फिर अगर आपके घर पर कोई अन्य व्यक्ति संक्रमित है और आप उसकीदेखभाल कर रहे है तो भी आपको बर्ड फ्लू होने की सम्भावना
बढ़ जाती है.

 

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
मनोरंजन

Birthday Special: दीपिका पादुकोण के जन्मदिन पर जानें उनके फिल्मी करियर और कॉन्ट्रोवर्सी के बारे में

इस बार दीपिका पादुकोण मना रही है अपना 35वां जन्मदिन


दीपिका पादुकोण का नाम बॉलीवुड की टॉप एक्टर्स में आता है. बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण आज अपना 35वां बर्थडे मना रही हैं. दीपिका पादुकोण का जन्म 5 जनवरी, 1986 को डेनमार्क के कोपेनहेगन शहर में हुआ था. दीपिका पादुकोण इंटरनेशनल बैडमिंटन प्लेयर प्रकाश पादुकोण की बेटी हैं.  दीपिका के अपने बर्थ डे को लेकर अभी तक कोई प्लान नहीं हैं. अगर हम दीपिका पादुकोण के बॉलीवुड फिल्मों की बात करें तो दीपिका ने फिल्म ‘ओम शांति ओम’ से शाहरुख खान के साथ बॉलीवुड में कदम रखा था. अभी दीपिका की फिल्मों के बारे में तो सभी को पता है लेकिन क्या आपको है दीपिका ने कैसे की थी अपने करियर की शुरूआत.

 

दीपिका पढ़ाई छोड़ मॉडलिंग में आईं

दीपिका पादुकोण ने बेंगलुरु के सोफिया हाईस्कूल से स्कूलिंग और माउंट कार्मल कॉलेज से प्री-यूनिवर्सिटी एजुकेशन कम्पलीट की थी.  जिसके बाद दीपिका पादुकोण ने बीए सोशियोलॉजी करने के उद्देश्य से इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी में एडमिशन लिया. लेकिन दीपिका को मॉडलिंग का इतना शोक था कि उन्होंने अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़कर मॉडलिंग करनी शुरू कर दी.

 

और पढ़ें: बॉलीवुड फिल्मों में काम करने वाले वो छोटे बच्चे जिन्होंने बड़े होकर बनाई अपनी जबरदस्त पहचान

दीपिका ने 8 साल की उम्र से किया काम

अगर हम दीपिका पादुकोण के करियर की बात करे, तो दीपिका ने महज 8 साल की उम्र से ही कई ऐड में काम करना शुरू कर दिया था. दीपिका पादुकोण ने अपने टीन-एज में लिरिल और क्लोज-अप जैसे कई ब्रांड के लिए ऐड किए थे. इतना ही नहीं दीपिका पादुकोण हिमेश रेशमिया के पॉपुलर एल्बम ‘नाम है तेरा..’ में भी नजर आ चुकी है.

 

दीपिका पादुकोण ने अपने करियर की शुरुआत साउथ की फिल्मों से की है

दीपिका पादुकोण ने 2006 में कन्नड़ फिल्म ‘ऐश्वर्या’ से पर्दे पर एंट्री ली थी.  दीपिका पादुकोण की यह फिल्म सक्सेसफुल रही. उसके बाद दीपिका पादुकोण को एक साल बाद शाहरुख खान के अपोजिट फिल्म ‘ओम शांति ओम’ से बिग ब्रेक मिला. उसके बाद फराह खान ने दीपिका को हिमेश रेशमिया के म्यूजिक वीडियो में देखा. जिसमे दीपिका के अलग अलग अंदाज को देख कर फराह खान ने यह तय किया कि ये मॉडल उनकी फिल्म हैपी न्यू इयर के किरदार के लिए बेहतर रहेगी.

अभी दीपिका पादुकोण को बॉलीवुड में ज्यादा समय नहीं हुआ.  लेकिन इन सालों में दीपिका पादुकोण कई फिल्मों में  नजर आ चुकी हैं. दीपिका पादुकोण हर बड़े सितारे के साथ काम कर चुकी है। फिल्म ‘ओम शांति ओम’ के बाद से दीपिका पादुकोण ने पीछे मुड़कर नहीं देखा. उसके बाद दीपिका पादुकोण ने ‘ये जवानी है दीवानी’, ‘तमाशा’, ‘गोलियों की रासलीला-रामलीला’, ‘बाजीराव मस्तानी,’ ‘पद्मावत’ और ‘छपाक’ जैसी कई फिल्मों में काम कर चुकी है.

 

दीपिका के साथ कॉन्ट्रवर्सी

पिछले कुछ समय से देखा जा रहा है कि दीपिका पादुकोण और कॉन्ट्रोवर्सी साथ-साथ चल रही हैं. साल 2018 में फ़िल्म “पद्मावत” के समय करनी सेना ने दीपिका के सिर काटने तक बात कही थी. इस फ़िल्म को लेकर कई दिनों तक बवाल मचा. आखिरकार फ़िल्म का नाम बदलकर इसे रिलीज किया गया. साल 2020 की जेएनयू वाली घटना को कौन भूल सकता है. इसी दौरान फ़िल्म “छपाक” के प्रोमोशन के लिए दिल्ली आई दीपिका जेएनयू चली गई. जिसके बाद पूरे देश में दीपिका और उसकी फ़िल्म को बॉयकॉट करने का नारा लगने लगा. कॉन्ट्रोवर्सी दीपिका के साथ छोड़ती ही नहीं है. हाल ही में एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद दीपिका एक बार फिर कॉन्ट्रोवर्सी में घिर गई. एक्टर की मौत के बाद ड्रग का मामला सामने आया. ड्रग वाले मामले में दीपिका का नाम भी आया और उसे एनसीबी द्वारा समन भेजकर पूछताछ की गई.

 

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com