हॉट टॉपिक्स

सोशल मीडिया और न्याय की मांग में पीसती महिला- राबिया सैफी रेप केस

27 अगस्त को राबिया सैफी की निर्मम हत्या उसके पति ने कर दी


देश की राजधानी में जहां हर तरह के नियम कानून बनाए जाते हैं हर तरह के फैसले लिए जाते हैं। उसी राजधानी में महिलाओं की सुरक्षा पर लगातार सवाल उठाते रहे हैं। पिछले दो महीने में तीसरी बार किसी लड़की के साथ ऐसी घिनौनी हरकत की गई। जिसने एक बार फिर राजधानी की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल या निशान लगा दिया है।

दरअसल 27 अगस्त को संगम विहार की राबिया सैफी के साथ सामूहिक दुष्कर्म के साथ निर्मम हत्या कर दी गई। जिसकी खबर मुख्यधारा की मीडिया से कुछ दिनों तक गायब रही। लेकिन ट्विटर पर लगातार हुए #justiceforrabiya के ट्रेंड करने के बाद यह सारी बात आम लोगों तक पहुंची। जिसके बाद देश के अलग-अलग हिस्सों में न्याय की मांग उठने लगी। वहीं दूसरी ओर इस मामले में लोगों का कहना है कि चूंकि लड़की मुस्लिम थी इसलिए पर कोई एक्शन नहीं लिया गया।

इस पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट कर बेहतर जांच की मांग की थी

प्राची नाम की एक यूजर्स ने लिखा है कि आपका शांत रहना कोई बड़ी मुसीबत खड़ी कर सकता है। किसी भी पीडिता का धर्म मत देखो वह देश की बेटी थी और देश की सेवा कर रही थी।

वाहिद पासा नाम के यूजर ने लिखा है मुख्यधारा की मीडिया इस मुद्दे पर चुप क्यों हैं।

शाहिद रजा ने लिखा है कि जब पुलिस की नौकरी करने वाली लड़की ही सुरक्षित नहीं है तो बाकी की महिलाएं कैसी सुरक्षित रह सकती है?

ऐसे में सोचने वाली बात यह कि आज की डिजिटल दुनिया में हम किसी भी घटना को सोशल मीडिया पर ट्रेंड करा के सब तक पहुंचा सकते हैं। लेकिन कब तक हम ऐसे न्याय की मांग करते रहेगें।

किसी भी रेप की घटना के बाद उसके धर्म और जात वाले ऐंगल से चीजें बदल नहीं रही है। आज किसी जाति विशेष या धर्म विशेष की लड़की के साथ हुआ कल हम में से किसी के घर में भी ऐसी घटना हो सकती है। इसलिए जरुरी है कि ऐसी घटनाओं पर एकजुट होकर इसका विरोध करें।

दूसरी बार तलाक पर आयशा मुखर्जी का साहसी पोस्ट, तलाकशुदा के टैग से न डरें

अगर हम एनसीआरबी के आंकड़ों की बात करें तो देश में प्रतिदिन 87 रेप हो रहे हैं। ऐसे में हमारे देश की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठना तो लाजिमी है। राबिया के केस में यह देखने को मिलता है कि एक डिफेंस ऑफिसर के साथ ऐसी घटना कहीं न कहीं महिलाओं के अंदर डर पैदा कर रही है।

रबिया दिल्ली के संगम बिहार में रहती थी और लाजपत नगर में पोस्टेट थी और उसके साथ दुष्कर्म फरीदाबाद में हुआ। राबिया की सिर्फ निर्मम हत्या नहीं की बल्कि उसके शरीर के अंगों को भी काट दिया गया।

खबरों की मानें तो इस हत्या में राबिया सैफी का पति निजामुउद्दीन के अलावा अन्य लोग शामिल थे। जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वहीं दूसरी ओर उनके परिवार का कहना है कि राबिया की शादी नहीं हुई थी।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।