Jannah Theme License is not validated, Go to the theme options page to validate the license, You need a single license for each domain name.
भारत

UP News : बेटी को डॉक्टर बनाने के लिए अपनाया शानदार तरीका, जिसको देखकर आपके भी उड़ जाएंगे होश

यूपी के प्रयागराज के जाने-माने न्यूरो सर्जन डॉ प्रकाश खेतान ने अपनी बेटी मितली को प्रेरित करने के लिए नीट 2023 की परीक्षा दी है। और इस परीक्षा में पापा और बेटी दोनों पास हो गए।

UP News : बेटी और डॉक्टर पिता ने पास किया NEET, जानें किसे मिला ज्यादा अंक

यूपी के प्रयागराज के जाने-माने न्यूरो सर्जन डॉ प्रकाश खेतान ने अपनी बेटी मितली को प्रेरित करने के लिए नीट 2023 की परीक्षा दी है। और इस परीक्षा में पापा और बेटी दोनों पास हो गए।

पापा और बेटी ने पास किया  NEET परीक्षा –

यूपी के प्रयागराज में ये अनोखी घटना हुई है। वैसे तो माता-पिता बच्चों को सफल बनाने के लिए हर संभव कोशिश करते रहते हैं, लेकिन प्रयागराज में एक पिता ने अपनी बेटी को प्रेरित करने के लिए शानदार तरीका अपनाया है। डॉक्टर पिता ने बेटी को NEET परीक्षा पास करने के लिए प्रेरित करने को लेकर खुद भी परीक्षा दी है। इसमें सबसे  चौंकाने वाली बात यह है कि बेटी के साथ ही पिता भी इस परीक्षा में पास हो गए। इस NEET परीक्षा में बेटी को पिता से ज्यादा अंक मिला है। प्रकाश खेतान 89 फीसदी अंक मिले जबकि बेटी को 90 प्रतिशत से अधिक मार्क्स हासिल हुए और उसने कर्नाटक के मणिपुर के कस्तूरबा मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस में दाखिला ले लिया है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by One World News – Hindi (@oneworldnewshindi)

Read more: Bhadrapada Purnima 2023: भाद्रपद पूर्णिमा पर करें ये उपाय, गृह क्लेश और आर्थिक समस्याएं होंगी दूर

डॉ प्रकाश खेतान का गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड्स –

डॉ. खेतान ने 1992 में सीपीएमटी परीक्षा पास कर डॉक्टर बन गए थे, लेकिन 30 वर्षों के बाद बेटी को प्रेरित करने के लिए फिर से मेडिकल प्रवेश परीक्षा में बैठे थे। डॉक्टर खेतान का कहना है कि पढ़ाई की कोई उम्र नहीं होती है। ईमानदारी, प्रतिबद्धता और कड़ी मेहनत से सफलता पाई जा सकती है। उन्होंने ये भी बताया कि कोविड के समय के दौरान बेटी की मेडिकल की तैयारी में बहुत दिक्क्तें आई थी, जिसके बाद उन्होंने उसे कोटा में एक कोचिंग इंस्टीट्यूट में दाखिला कराया था।  लेकिन उनकी बेटी का  वहां मन नहीं लगा तो वह घर लौट कर आ गई थी। इसके बाद उन्होंने बेटी को प्रेरित करने के लिए यह तरीका अपनाया था।  डॉ प्रकाश खेतान का गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड्स में इनका नाम दर्ज है, उन्होंने 2011 में एक बच्ची की मस्तिष्क की 8 घंटे तक सर्जरी करके 296 सिस्ट निकाले थे।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Back to top button