लाइफस्टाइल

कैसे रहें ख़ुश, स्थिर, और सकारात्मक

8 सलाह जो मदद करेंगी सकारात्मक बनने में


कठिन होता है अपने आप को कठिन और नकारात्मक परिस्थितियों से बाहर निकाल पाना। कई बार लोग हमारे बारे में ग़लत बोलते हैं और कई बार हमें किसी के द्वारा अस्वीकृति का भी सामना करना पड़ता है। कभी हम ख़ुद अपनी पुरानी बातों को लेकर इतना ग़म में डूब जाते हैं की उस अनुभव से बाहर निकलना बहुत कठिन हो जाता है और नकारात्मक ख़याल हमें चारों ओर से घेर लेती है। ऐसी परिस्थिति में सकारात्मक रहना कठिन होता है और हम उस नेगेटिव एनर्जी की ओर खिंचे चले जाता है।

माना की ऐसे में सकारात्मक रहना कठिन होता है पर लेकिन सकारात्मक रहना आवश्यक है। क्योंकि नकारात्मक रहने से केवल आपका नुक़सान ही होगा। यदि हम ऐसे रहेंगे तो कुछ भी अच्छा नही कर पाएँगे और इससे परिस्थितियाँ और ख़राब हो जाएँगी। लोग हमसे दूर जाने लगेंगे और हमारा पूरा दिन ग़ुस्से में निकल जाएगा और इससे आपकी मानसिक और शारीरिक हालत भी ख़राब होंगी।

तो सवाल यह है की ऐसी परिस्थिति में भी कैसे रहे ख़ुश और सकारात्मक। तो आइए जानते है की हम कैसे ऐसी परिस्थितियों में भी ख़ुद को सकारात्मक बना सकते हैं।

कैसे रहें ख़ुश, स्थिर, और सकारात्मक

यहाँ पढ़े : सोशल मीडिया के बाद कैसे बदल गए लोग

  1. अगर ग़लती आपकी है तो उससे स्वीकारने में झिजकिए मत। इससे आपका बोझ कम होगा और आपको अच्छा महसूस होगा।
  2. किसी ऐसे मित्र से बात करें जो सकारात्मक हो और आपको नई ऊर्जा से भर दे। जिससे बात कर के आपको अच्छा महसूस हो।
  3. यदि आप ग़ुस्से में हैं तो किसी मेसिज का जवाब ना दें। पहले ख़ुद को शांत करें। गहरी साँस लें, 10 तक गिनती गिने और फिर ग़ुस्से से रहित लहजे में जवाब दें।
  4. लोगों में नकारतमकता की जगह सकारात्मकता ढूँढने की कोशिश करें क्योंकि इससे आप उनके अच्छे पहलू से मिलेंगे।
  5. यह ध्यान रखें की आपके दुखी और ग़ुस्सा रहने से शेर लोगों को कोई क्षति नही पहुँचेगी और नुक़सान केवल आपका होगा।
  6. अपने भावो को किसी काग़ज़ ओर लिख लें और लिखने के बाद ओढ़े एक बार और फ़ोर उसे फाड़कर फेंक दें। जब आप उसे पढ़ थे होंगे तो आपको हँसी ज़रूर आयेगी ऐसा करने से आपके मन का बोझ कम होता है।
  7. अपनी पसंद के गाने सुने और यदि आपको गाना भी पैंज़ है तो गाने गायें। इससे आप हल्का महसूस करेंगे।
  8. सकारात्मक विचार पढ़ें। इंटर्नेट पर इनकी भरमार है। इन्हें ज़रूर पढ़ें इनसे उत्साह और प्रेरणा मिलती है और नेगेटिव एनर्जी दूर होती है।
Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Back to top button