काम की बात करोना

जाने कैसे ऑनलाइन क्लास के दौरान बच्चों को दे हेल्दी और खुशनुमा माहौल

जाने कैसे पैरेंट्स के लिए ऑनलाइन क्लास बन गई है एक चैलेंज


पिछले साल से फैले कोरोना वायरस ने आज के समय पर हम सभी की लाइफ को एक तरह से बदल सा दिया है। जहां लोग पहले डेली ऑफिस जाया करते थे वहां आज लोगों के ऑफिस बंद पड़े हुए है और वो वर्क फ्रॉम होम कर रहे है। आज के समय पर लोगों को सुबह जल्दी उठने की या ड्राइव करके ऑफिस जाने की चिंता नहीं सताती। अब हमारी प्यारी लेडीज को ऑफिस में कल क्या पहनना है वो टेंशन भी नहीं रहती। लेकिन जहां लोगों की टेंशन आधी खत्म हुई है वही पैरेंटस् के लिए चीजें आसान होने के साथ के साथ थोड़ी जटिल भी हुई हैं। आज भले ही बच्चों को सुबह उठने और तैयार हो कर स्कूल जाने की टेंशन न रही हो लेकिन पैरेंटस् आज उनका स्कूल ड्रेस में स्कूल जाते देखना चाहते है उन्हें थके हारे घर आना बहुत ज्यादा मिस कर रही है। क्योकि जब से बच्चों की वर्चुअल लर्निंग क्या शुरू हुई मानो पैरेंट्स के लिए काम डबल हो गया। आज के समय पर बच्चों की ऑनलाइन क्लास किसी चैलेंज से कम नहीं हैं। बच्चों और टीचर दोनों को ऑनलाइन क्लास में टेक्निकल परेशानियों से लेकर समझने और समझाने की भी कई दिक्कतें आती है। तो चलिए आज आपको बताते है अगर आपका बच्चा ऑनलाइन क्लास ले रहा है तो कैसे आप उससे हेल्दी और खुशनुमा माहौल दे सकते है।

ऑनलाइन क्लास

माहौल हो शांत: अगर आपका बच्चा ऑनलाइन क्लास लेता है तो उसके लिए वर्किंग स्टेशन निर्धारित करते समय आपको ये बात ध्यान में रखनी चाहिए कि जगह शांत हो जिससे की पढ़ाई के समय बच्चे को किसी भी तरह का कोई डिस्टरबेंस ना हो। आपको बच्चे की लर्निंग स्टेशन जैसी जगह रखनी चाहिए जहां घर के और लोगों की आवाजाही कम हो।

और पढ़ें: जाने विशाल मेगामार्ट की शुरुआती कहानी, कैसे एक फोटोकॉपी की दुकान से 1000 करोड़ की कंपनी बनाई

टाइम टेबल: आपको अपने बच्चे को समझना चाहिए कि भले ही उससे स्कूल नहीं जाना लेकिन उससे अपनी पढ़ाई पूरी करनी होगी। उससे एक अच्छा टाइम टेबल फॉलो करना होगा। घर पर स्कूल की तरह बेल तो नहीं बज सकती लेकिन आपको बच्चे को पंक्चुअल होने के फायदे ज़रूर गिनवाने चाहिए। आपको बच्चे को समझना चाहिए कि टीचर के लाग- इन करने से 5 मिनट पहले उन्हें क्लास में एंटर कर लेना चाहिए।

लर्निंग स्टेशन बनाएं: ऑनलाइन क्लास लेने के लिए सबसे पहले आपको अपने बच्चे के लिए ऐसी जगह निर्धारित करनी चाहिए जहा हर रोज़ बैठ कर वह अपनी क्लासेस अटेंड कर पाए। क्योकि रोज रोज जगह बदलने से बच्चे का फोकस बिगड़ेगा। घर के एक जगह पर टेबल चेयर लगा लें और बच्चे के डेकसटाप या लैपटॉप वहां रख दे।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।