कोरोना  ने बदली चाल, बिना लक्षण वाले कोरोना की चपेट में आये सबसे ज्यादा लोग 

0
33
mask lagane ke nuksan
Image Source - Pixabay

अमेरिका के प्रसिद्ध वायरलॉजिस्ट क्यों मानते है बिना लक्षण वाले कोरोना वायरस को सबसे ज्यादा खतरनाक


Coronavirus updates : पिछले कुछ महीनों से पूरी दुनिया कोरोना वायरस के कारण परेशान है। इस वायरस के चलते पिछले कई दिनों ने ज्यादा तर देश में लॉकडाउन चल रहा है। भारत में भी कोरोना वायरस को रोकने के लिए लॉकडाउन चल रहा है ऐसे में सोशल मीडिया पर पिछले कुछ दिनों से कोरोना वायरस के संक्रमण से जुड़े जिस पहलू की सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है, वो है बिना लक्षण वाले कोरोना संक्रमण के मामले। इसमें लोगों में किसी भी तरह के कोई लक्षण नजर नहीं आते। इस समय बिना लक्षण वाले कोरोना वायरस के मामले सबसे बड़ी चुनौती बने हुए है।

क्या कहना है कोरोना वायरस को ले कर अमेरिका के प्रसिद्ध वायरलॉजिस्ट का:

अमेरिका के प्रसिद्ध वायरलॉजिस्ट ने कोरोना वायरस को सबसे शातिर वायरस इसलिए बताया क्योंकि यह लोगों को चुपचाप संक्रमित कर रहा है। यह इंसानों के श्वसन तंत्र में पहुंचकर तेजी से वायरस की संख्या बढ़ाता है। साथ ही उन्होंने बताया की कोरोना वायरस से संक्रमित होने पर कई लोगों में कोई लक्षण ही नहीं दिखते हैं जिसकी वजह से संक्रमित लोगों की पहचान कर और उनको आइसोलेट करना काफ़ी मुश्किल हो जाता है। जब तक उन लोगो में कोरोना वायरस के लक्षण दिखते हैं, तब तक ये लोग अपने साथ बहुत सारे लोगों को संक्रमण फैलाना शुरू कर देता है। साथी ही कुछ लोगों में इसके बेहद हल्के लक्षण ही नजर आते हैं जिसकी वजह से किसी को ये पता नहीं चल पाता की व्यक्ति को कोरोना वायरस है या नहीं।

और पढ़ें: लॉकडाउन में किसानों की मदद करने के लिए केंद्र सरकार ने लॉन्च किया Kisan Rath app

प्रेस कॉन्फ्रेंस में आईसीएमआर ने क्या कहा?

प्रेस कॉन्फ्रेंस में इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के डिप्टी डायरेक्टर डॉ. रमन गंगाखेड़कर ने बताया की कोरोना वायरस के 80 फीसदी मामले बिना लक्षण वाले मामले सामने आये है। माना अगर 100 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित है तो उनमें से 80 फीसदी में या तो कोई लक्षण नहीं है या तो बहुत हल्के लक्षण होंगे। साथ ही उन्होंने बताया की भारत के लिए सबसे चिंताजनक बात है, बिना लक्षण वाले कोरोना संक्रमित लोगों की पहचान करना। ऐसे मामलों का पता लगाने के लिए कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के अलावा कोई और रास्ता नहीं है।
अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments