हॉट टॉपिक्स

Women Talk : सोसयटी की स्टीरियोटाइप को तोड़ इन दो लड़कियों ने सुनी अपने दिल की बात!

सोसयटी की स्टीरियोटाइप सोच को तोड़ रही  हैं ये लड़कियां, डिग्री साइड मे रख सुनी अपनी दिल की बात


Women Talk :- आज हम भले ही 21वीं सदी की टेक्नोलॉजी वाली दुनिया में जी रहे हो लेकिन आज भी ऐसे कई काम है जिसे करने के लिए हमें कई बार सोचना पड़ता है। हर अभिभावक की यह ख्वाहिश होती है  कि उसका बच्चा पढ़ लिखकर अच्छी जगह नौकरी करें। कुछ बच्चे ऐसा करते भी हैं। लेकिन कुछ बच्चों को अपने मन की करनी होती है, जैसा वह चाहते हैं वैसे ही अपनी जिदंगी को बनाते  हैं। उनके लिए नौकरी का ओहदा बहुत मायने नहीं रखता है। वह हमेशा वही करते हैं जिसका उन्होंने ख्वाब बुना होता है। लड़कों के लिए यह करना थोड़ा आसान होता है।

लेकिन समाज की हर बेड़ियों से बंधी एक लड़की के लिए यह निर्णय ले पाना थोड़ा मुश्किल होता है। क्योंकि हमारा समाज आज भी महिलाओं को ऑड काम करते हुए देख नहीं सकता है। या यूं कहे कि बहुत कम ही महिलाएं ऐसी है जो इस रास्ते को चुनती हैं। तो चलिए आज आपको दो ऐसे लड़कियों से मिलाने जा रहे हैं जिन्होंने समाज की स्टीरियोटाइप सोच को पीछे छोड़ते हुए अपने डिग्री को साइड करते हुए अपने मन की सुनी और अपना नया रास्ता बनाया।

टुकटुकी दास(एम.ए चायवाली)

टुकटुकी दास पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिले में रहती है। टुकटुकी  ने एम.ए इंग्लिश की पढ़ाई की है। वह चाहती तो अपनी डिग्री के दम पर एक अच्छी नौकरी पा सकती थी। उसके घर वाले भी यह चाहते थे कि वह पढ़ लिखकर एक अच्छी नौकरी करें। लेकिन ऐसा हुआ नहीं। इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यूय वह बताती है कि है  मुझे 9 से 5 वाली नौकरी नहीं करनी थी। यह मैंने पहले से ही सोच रखा था। मैं हमेशा से ही एक बिजनेस वुमेन बनाना चाहती थी। एक मिडिल क्लास परिवार की लड़की का इतना बड़ा निर्णय लेकर आगे बढ़ाना थोड़ा मुसीबत भरा होता है।

लेकिन टुकटुकी ने अपने निर्णय पर काम किया और अपने सपने को पूरा करने के लिए पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिले के हाबडा रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर दो पर एम.ए चायवाली के नाम से अपना स्मॉल स्टार्टअप शुरु किया। इस स्टॉर्टअप के लिए टुकटुकी ने ट्यूशन पढ़ाकर कुछ पैसे इकट्ठे किए थे ।

इन्हीं पैसों को उनसे पूंजी के तौर पर इस्तेमाल किया है। 1 नवंबर को टुकटुकी ने स्टेशन पर अपनी दुनिया का उद्धाटन किया और आज वह पूरे इंटरनेट पर छाई हुई है। टुकटुकी ने अपनी डिग्री को साइट पर रखकर अपने सपने को पूरा करना की तरफ एक कदम बढाया है। वह चाहती है एम.ए चायवाली की पश्चिम बंगाल के अन्य क्षेत्रों में ब्रांच खोली जाएं।

Women empowerment: जाने कौन है 18 साल की उम्र में इतिहास रचने वाली एम्मा रादुकानू के बारे में

शुभी जैन

शुभी जैन आज अपने सराहनीय काम के कारण इंटरनेट पर छाने के साथ-साथ अपने फ्लोवर्स से खुब प्यार पा रही है। और पाएं भी क्यों न , उसका काम ही ऐसा है कि कोई भी उसकी सराहना किए बगैर नहीं रह सकता है। शुभी को आज इंस्टाग्राम पर लगभग 80 हजार लोग फॉलो कर रहे हैं। इसका सबसे बड़ा कारण है शुभी द्वारा की जा रही जनता की सेवा। पूणे के सिम्बोसिस से एसबीए की पढ़ाई पूरी करने के बाद सुभि किसी भी मल्टी नेशनल कंपनी में अच्छे पैकेज की जॉब ले सकती थी। लेकिन उसने ऐसा नहीं किया। आज वह मध्यप्रदेश के इंदौर में ट्रैफिक पुलिस में ट्रैफिक वार्डन है।

जो लोगों को चालान नहीं काटती है। ब्लकि अपने अनोखे अंदाज में सीट बेल्ट और हेलमेट पहनने वाले लोगों का शुक्रिया कर उनका हौसला बढ़ाती है। ताकि लोगों की जिदंगी को सुरक्षित रखा जाएं। शुभी जैन की प्रोफाइल में आप देख सकते हैं वह कितनी शिद्दत के साथ अपना काम कर रही है। इतना ही नहीं वह लोगों से अपील करती है कि अपनी जिदंगी में किसी तरह का मलाल न रहने दे जो अच्छा लगता है वहीं करें। जैसा कि वह अपने मन की सुन रही है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।