Categories
भारत

आज गाँधी जयंती के साथ स्वच्छ भारत अभियान को हुए 4 साल

जाने स्वच्छ भारत अभियान से जुड़ी  कुछ अहम बातें 


आज यानि 2  अक्टूबर को गाँधी जयंती है.  इस  दिन महात्मा गाँधी का जन्म  हुआ था जिनका पूरा नाम  मोहनदास  करम चाँद गाँधी  है.  वही आज के दिन  देश के प्रधान मंत्री  द्वारा  शुरू किया  गया  स्वच्छ  भारत अभियान को भी 4  साल पूरे हो चुके है. इसी के साथ देश में स्वच्छता को लेकर सभी को साफ़ सफाई की और प्रेरित  किया गया. ताकि लोग अपने आस- पास सफाई रखे और बीमारियों से बचें. महात्मा  गाँधी  का स्वच्छ  भारत  नरेंद्र सपना प्रधानमंत्री  नरेंद्र   मोदी ने पूरा कर दिखाया.

Swachhata Hi Seva

इन 4  सालो में स्वच्छता अभियान के जरिए 8 करोड़ शौचालय बनवाए गए. जिसमे 90 प्रतिशत  से ज्यादा भारतीय शौचालय का इस्तेमाल कर पा रहे है.  जबकि 2014  में यह संख्या  काफी कम  थी. सिर्फ 40  प्रतिशत लोग ही शौचालय  को का इस्तेमाल कर रहे थे.  लेकिन प्रधान मंत्री   नरेंद्र मोदी ने स्वच्छता  अभियान शुरू कर के इस संख्या को बढ़ा दिया।

जाने स्वच्छ भारत अभियान से जुड़ी  यह  कुछ  अहम बातें : 

1 .स्वच्छ भारत अभियान  के जरिये भारतीय रेलवे ने 37,000 जैव-शौचालयों की स्थापना की और 2018 तक, फिर सभी ट्रेन-कोच जैव-शौचालयों को फेंक दिया।

2 .स्वच्छ अभियान को प्रमोट करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कपिल शर्मा, भारतीय क्रिकेट टीम, किरण बेदी, सौरव गांगुली,  और अमिताभ बच्चन  सितारों का नाम आगे किया।

3 . इस अभियान के जरिये कई सारे राज्यों से लोग ने इसमें अपना योगदान के लिए इस अभियान से जुड़े.

4 . सरकार ने 201 9 तक लगभग 11.1 करोड़ पर्सनल और कम्युनिटी शौचालयों का निर्माण करने का लक्ष्य रखा है .

5 . स्वच्छ भारत अभियान को और प्रमोट करने  के लिए मोदी ने स्वच्छ  भारत अभियान पार्ट-2  स्वच्छता  ही सेवा अभियान को हाल ही मे  लॉन्च किया है.

तो यह है स्वच्छ अभियान से जुड़ी कुछ एहम बातें जो यह साबित करते है  की देश स्वच्छता  की और बढ़ रहा है सभी देश को स्वच्छ रखने में  अपना पूरा योग दान दे रहे है।  अब वो दिन दूर नहीं जब भारत  सफाई को लेकर बाकि देश से भी टॉप पर रहेगा

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
साहित्य और कविताएँ

चलो आज याद करे महात्मा गांधी के अल्फाज़ो को

महात्मा गांधी के अल्फाज़ो की महत्व


महात्मा गांधी ने हमारे देश को आज़ाद करने के लिए बहुत कुछ किया। गांधी के लिए हमारे मन में जो इज़्ज़त है उसको कोई कम नहीं कर सकता। हमें उसने इतना प्यार था कि कब वो हम सब के बापू बन गए, पता ही नहीं चला। और शायद तभी बापू को इस राष्ट्र का पिता माना जाता है। उन्हें ये दर्जा बिलकुल सही मिला है। वो हमेशा से ही प्रेम और अहिंसा में विश्वास रखते थे। महात्मा गांधी के अल्फाज़ो की कोई कीमत नहीं लगाई जा सकती है। उनका हर लफ्ज़ आज हमारे लिए ज्ञान के समान है।

महात्मा गांधी

तो चलिए आज याद करे महात्मा गांधी के अल्फाज़ो को:-

  1. अपने दोष हम देखना नहीं चाहते और दूसरों के दोष देखने में हमें मज़ा आता है। बहुत सारे दुःख इसी कारण से पैदा होते है।
  2. विश्वास करना एक गुण है, अविश्वास दुर्बलता की जननी है।
  3. अपने प्रयोजन में दृढ विश्वास रखने वाला एक सूक्ष्म शरीर इतिहास के रुख को बदल सकता है।
  4. पहले वो आप पर ध्यान नहीं देंगे, फिर वो आप पर हँसेंगे, फिर वो आप से लड़ेंगे, और तब आप जीत जायेंगे।
  5. मेरी अनुमति के बिना कोई भी मुझे ठेस नहीं पहुंचा सकता।
  6. आप मानवता में विश्वास मत खोइए। मानवता सागर की तरह है; अगर सागर की कुछ बूँदें गन्दी हैं, तो सागर गन्दा नहीं हो जाता।
  7. आप तब तक यह नहीं समझ पाते की आपके लिए कौन महत्त्वपूर्ण है जब तक आप उन्हें वास्तव में खो नहीं देते।
  8. पृथ्वी सभी मनुष्यों की ज़रुरत पूरी करने के लिए पर्याप्त संसाधन प्रदान करती है, लेकिन लालच पूरी करने के लिए नहीं।
  9. हमेशा अपने विचारों, शब्दों और कर्म के पूर्ण सामंजस्य का लक्ष्य रखें। हमेशा अपने विचारों को शुद्ध करने का लक्ष्य रखें और सब कुछ ठीक हो जायेगा।
  10. जिस दिन प्रेम की शक्ति, शक्ति के प्रति प्रेम पर हावी हो जायेगी, दुनिया में अमन आ जायेगा।
  11. जो लोग अपनी प्रशंसा के भूखे होते हैं, वे साबित करते हैं कि उनमें योग्यता नहीं है।
  12. सुख बाहर से मिलने की चीज नहीं, मगर अहंकार छोड़े बगैर इसकी प्राप्ति भी होने वाली नहीं। अन्य से पृथक रखने का प्रयास करे।
  13. जिज्ञासा के बिना ज्ञान नहीं होता | दुःख के बिना सुख नहीं होता।
  14. कुछ लोग सफलता के सपने देखते हैं जबकि अन्य व्यक्ति जागते हैं और कड़ी मेहनत करते हैं।
  15.  खुद वो बदलाव बनिए जो दुनिया में आप देखना चाहते हैं।
Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in