Categories
भारतीये पॉलिटिक्स पॉलिटिक्स

मनोहर पर्रिकर होंगे गोवा के मुख्‍यमंत्री

मनोहर पर्रिकर बनेगे गोवा के मुख्‍यमंत्री


11 मार्च को गोवा के विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से नई सरकार के गठन को लेकर पणजी से राजधानी दिल्ली तक सियासत गर्मा गई है. ये मामला सुप्रीम कोर्ट तक भी पहुंचा है. कांग्रेस पार्टी ने पूर्व केन्‍द्रीय रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के सीएम शपथ ग्रहण पर रोक लगाने की मांग भी की है. मगर कोर्ट ने पर्रिकर के शपथ पर रोक लगाने से इनकार कर दिया है.

14 मार्च को इस याचिका पर सुनवाई करते हुए, सुप्रीम कोर्ट ने मनोहर को 16 मार्च को गोवा में बहुमत परीक्षण कराने को कहा है. साथ ही कोर्ट ने राज्यपाल से इससे पहले सभी प्रक्रिया पूरी करने को कहा है.

मनोहर पर्रिकर

17 विधायक के साथ राजभवन पहुंचे दिग्विजय सिंह

इस सब के बीच कांग्रेस पार्टी ने गठन के लिए कोई भी कसर नहीं छोड़ रही है. कांग्रेस के 17 विधायक के साथ महासचिव दिग्विजय सिंह बस से राजभवन पहुंचे हैं. दरअसल, कांग्रेस मांग कर रही है, कि सिंगल लार्जेस्ट पार्टी होने की वजह से पहले उन्हें सरकार बनाने का मौका मिलाना चाहिए. कांग्रेस इस मामले को सुप्रीम कोर्ट लेकर गई, जहां कोर्ट ने कांग्रेस को इसी बात के लिए फटकार लगी, कि अगर आपके पास संख्याबल है तो आप पहले राज्यपाल के पास क्यों नहीं गए थे?

सुप्रीम कोर्ट से कांग्रेस को कड़ी फटकार मिली

मनोहर पर्रिकर आज शाम पांच बजे गोवा के मुख्‍यमंत्री पद की शपथ लेने वाले हैं. कांग्रेस इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंची थी, मगर कोर्ट ने कांग्रेस से ही कई सवाल पूछ डाले थे. सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस से पूछा, कि अगर आपके पास संख्या है, तो संख्याबल के साथ गवर्नर के पास क्यों नहीं गए?. साथ ही कोर्ट ने कांग्रेस से कहा, कि अगर आप पहले गवर्नर के पास अपने संख्याबल के साथ जाते और फिर सुप्रीम कोर्ट आते तो हमारे लिए फैसला लेना आसान हो जाता.

इस सुनवाई के दौरान कांग्रेस पार्टी के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कोर्ट में कहा, कि हम गोवा में सरकार बना सकते हैं. चुनाव में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनी है. राज्यपाल को इस मामले में सबसे बड़ी पार्टी से पहले चर्चा करनी चाहिए थी.

दरअसल, कांग्रेस का आरोप है, कि गोवा के राज्यपाल को सबसे बड़े दल को पहले मौका देना चाहिए था. बीजेपी को सरकार बनाने से विधायकों की खरीद-फरोख्त को बढ़ावा मिलेगा.

लोकसभा से किया वॉकआउट

कांग्रेस सरकार ने मणिपुर और गोवा राज्‍य को लेकर लोकसभा में मुद्दा उठाया था और कहा, कि वहां पर जो हो रहा है वह ठीक नहीं है. इस मुद्दे पर कांग्रेस और एनसीपी ने लोकसभा से वॉकआउट किया. कांग्रेस सरकार का आरोप है, कि दोनों राज्‍य में डेमोक्रेसी का मर्डर किया गया है.

मनोहर पर्रिकर को सरकार बनाने का न्योता

गोवा के राज्यपाल मृदुला सिन्हा ने मनोहर पर्रिकर को सरकार बनाने का न्योता दिया है और उन्‍होंने रक्षा मंत्री पद से इस्तीफा भी दे दिया है. दरअसल, बीजेपी ने गोवा में 21 विधायकों का समर्थन होने का एक पत्र राज्यपाल को सौंपा था. वहीं कांग्रेस ने गोवा की राज्यपाल को पत्र लिखकर कहा है, कि सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते उसे सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया जाए. 16 मार्च को सुबह 11 बजे विधानसभा बुलाई जाएगी, जिसमें भाजपा अपना बहुमत साबित करेगी.

आइए जानें किस पार्टी के पास है, कितनी सीटें दोनों राज्‍य में.

गोवा राज्‍य 40 सीटें

कांग्रेस- 17 सीटें
बीजेपी- 13 सीटें
महाराष्ट्रवादी गोमांतक- 3 सीटें
गोवा फॉरवार्ड पार्टी- 3 सीटें
नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी- 1 सीट
निर्दलीय- 3 सीटें

मणिपुर राज्‍य 60 सीटें

कांग्रेस के पास 28 सीटें
बीजेपी के पास 21 सीटें
नागालैंड पीपुल्स फ्रंट के पास 4 सीटें
नेशनल पीपुल्‍स पार्टी के पास 4 सीटें
तृणमूल कांग्रेस के पास 1 सीट
लोक जन शक्ति पार्टी के पास 1 सीट
निर्दलीय के पास 1 सीट

Categories
पॉलिटिक्स भारत

यूपी में बीजेपी और पंजाब में कांग्रेस है आगे- एग्जिट पोल

यूपी में बीजेपी है आगे- एग्जिट पोल


पांच राज्यों में हुए चुनाव को लेकर एग्जिट पोल आना शुरु हो गए। एग्जिट पोल की माने तो यूपी में बीजेपी की सरकार बना रही है। पंजाब विधानसभा चुनाव के नतीजे 11 मार्च को आएंगे। लेकिन नतीजे आने पहले ही एग्जिट पोल के अनुसार तो पंजाब में कांग्रेस की सरकार बन रही।

वहीं दूसरी ओर आम आदमी पार्टी भी बहुमत की सरकार का दावा कर सकती है। उत्तराखंड और मणिपुर में भी चुनाव नतीजे में कुछ अंतर कम ही लग रहा है। यहां भी बीजेपी ही बड़ी पार्टी के रुप मे उभरकर बाहर आएगी।

बिहार में एग्जिट पोल गलत साबित हुआ

यूपी के एग्जिट पोल के अनुसार बीजेपी यहां सरकार बनाती नजर आ रही है। वहीं सपा और कांग्रेस का गठबंधन दूसरे नंबर पर है। मायावती का पार्टी बीएससपी तीसरे नंबर पर है। बीजेपी और सपा और कांग्रेस के गठबंधन में 161 से 265 सीटों का अंतर होगा।

आज चाणक्य के अनुमान के अनुसार बीजेपी को यूपी में 285 सीटों की बढ़त मिल रही है। वहीं राहुल गांधी ने यूपी में अपनी जीत का दावा किया है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा “यूपी में हम जीतेंगे और 11 मार्च को बात करेंगे। बिहार मे भी एग्जिट पोल गलत साबित हुए थे।“ हालांकि उन्होंने एग्जिट पोल पर बोलने से इंकार कर दिया है।

पंजाब में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच टक्कर

वहीं पंजाब की बात करें तो एग्जिट पोल के अनुसार पंजाब की सत्ता पर काबिज अकाली दल को 117 सीटों मे से ईकाई की संख्या में सीट नहीं मिलेंगी। वहीं सीवोटर की मानें तो पंजाब को आम आदमी को पूर्ण बहुमत के साथ 63 सीटें मिल रही है। वहीं एक्सिस के अनुसार कांग्रेस पूर्ण बहुमत के साथ प्रदेश में अपनी सरकार बनाएंगी। अन्य की मानें तो पंजाब के मुकाबला कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच है।

उत्तराखंड में बीजेपी की सरकार बनती दिख रही है। वहीं मणिपुर में राज कर रही कांग्रेस का सफाया होगा और बीजेपी के पैर वहं पड़ेगे।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
पॉलिटिक्स भारतीये पॉलिटिक्स

यूपी और मणिपुर में आज आखिरी चरण का चुनाव, 11 को फैसला

यूपी और मणिपुर में आज आखिरी चरण का चुनाव


यूपी और मणिपुर में आखिरी चरण का चुनाव हो रहा है। यूपी में 7 जिलों में 40 सीटों पर वोट डालें जा रहे हैं। वहीं दूसरी ओर मणिपुर में 6 जिलों में 22 सीटों के लिए चुनाव हो रहे हैं।

वोट डालने आए लोग

नक्सल प्रभावित इलाकों शाम चार बजे वोट डाला जाएंगा

यूपी में चुनाव सुबह 7 बजे से लेकर शाम पांच बजे तक होगें। लेकिन नक्सल प्रभावित सोनभद्र की राबर्टसगंजव दुद्धी और चकिया सीटों पर मतदान सुबह सात बजे से लेकर शाम चार तक डाले जाएंगे।

प्रधानमंत्री की संसदीय क्षेत्र वाराणसी में सबकी निगाहें टिकी हुई है। यहां पर सभी पार्टियों ने प्रचार के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी थी। निर्वाचन आयोग के सूत्रों के अनुसार वाराणसी,गाजीपुर, जौनपुर,चंदौली, मिर्जापुर, भदोही और सोनभद्र की 40 सीटों पर दोपहर 12 बजे तक शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव हुआ है।

मणिपुर में लोगों ने चुनाव में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया है। दोपहर 1 बजे तक मणिपुर में 67 मतदान हुआ है। वहीं दूसरी ओर यूपी में 11 बजे तक 24 फीसदी मतदान हुआ।

535 उम्मीदवारो की किस्मत का फैसला

यूपी में अंतिम चरण के मतदान के लिए 535 उम्मीदवार मैदान पर है। इसके साथ ही 1.41 मतदाता इन उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे। जिसमें से 64.76 लाख महिला मतदाता है। आज हो रहे चुनाव के लिए 14,458 मतदान बूथ बनाये गये हैं। भाजपा 32 सीटों पर चुनाव लड़ रही है जबकि चार-चार सीटें इसने अपने सहयोगी अपना दल और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी को दी हैं।

बसपा ने सभी सीटों पर प्रत्याशी उतरे हैं, सपा 31 सीटों पर है तो उसकी गठबंधन सहयोग कांग्रेस शेष 9 सीटों पर चुनाव लड़ रही है।

मुख्यमंत्री के विधानसभा क्षेत्र पर सबकी नजर

वहीं मणिपुर में 22 सीटों के लिए चुनाव लड़ा जा रहा है। इसमें मुख्यमंत्री इबोबी सिंह के विधानसभा क्षेत्र थौबल पर सबकी नजर रहेंगी।
राज्य में कुल 19,02,562 मतदाता है। जिसमें से 9,28,573 पुरुष और 9,73,989 महिलाएं है। इनमें करीब 45, 642 लोग पहली बार अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।

आज हो रहे चुनाव के लिए कड़े इंतजाम किए गए हैं। राज्य में कुल 1,151 मतदान केंद्र है। सुरक्षा के लिहाज से सुरक्षा बलों की 280 कंपनियां को यहां तैनात किया गया है।