हॉट टॉपिक्स

Monkeypox WHO: आपकी सेक्स से जुड़ी एक गलती आपको बना सकती है मंकीपॉक्स का शिकार

Monkeypox WHO: मंकीपॉक्स को ग्लोबल इमरजेंसी घोषित किये जाने के बाद, WHO ने उठाया यह कदम


  •  मंकीपॉक्स को ग्लोबल इमरजेंसी घोषित किया गया।
  • अभी तक 78 देशों से मंकीपॉक्स के 18,000 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं।
Monkeypox WHO: डब्ल्यूएचओ यानी की विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख टेड्रोस अदनोम घेब्रेयसस, जिन्होंने बीते शनिवार को मंकीपॉक्स को ग्लोबल इमरजेंसी घोषित किया था। इस दौरान उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि मंकीपॉक्स संक्रमण से बचाव का सबसे अच्छा तरीका है कि “एक्सपोज़र कम किया जाए” यानी की डब्ल्यूएचओ के प्रमुख ने सलाह दी है कि जिन भी पुरुषों को मंकीपॉक्स का जोखिम है वे फिलहाल अभी अपने सेक्स पार्टनर्स की संख्या को सीमित रखने पर विचार करें। आगे वो कहते है ऐसे पुरुष अपने यौन साझेदारों की संख्या को कम करें और नए लोगों के साथ सेक्स करने से बचे।
आगे घेब्रेयसस ने कहा कि अभी तक 78 देशों से मंकीपॉक्स के 18,000 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं जिनमे से 70 प्रतिशत मामले यूरोप में और 25 प्रतिशत अमेरिका में दर्ज किए गए हैं। साथ ही आपको बता दें कि डब्ल्यूएचओ द्वारा प्रस्तुत किए गए मॉडल के अनुसार मंकीपॉक्स से संक्रमित होने वाले लोगों की औसत संख्या पुरुषों के साथ सेक्स संबंध रखने वाले पुरुषों में 1.4 और 1.8 के बीच है, जबकि अन्य लोगों में यह आंकड़ा 1.0 से कम है।

मंकीपॉक्स को ग्लोबल इमरजेंसी घोषित किया गया

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मंकीपॉक्स महामारी को एक ग्लोबल इमरजेंसी घोषित किया है। स्वतंत्र सलाहकारों की समिति जिसकी बीते शनिवार को बैठक हुई थी, इस निर्णय पर एकमत नहीं थे कि क्या बढ़ते मंकीपॉक्स के मामलों को अंतर्राष्ट्रीय चिंता का सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल यानी की पीएचईआईसी कहा जाएं जो की एक उच्चतम स्तर का अलर्ट है। लेकिन बाद में डब्ल्यूएचओ के प्रमुख डॉ टेड्रोस अदनोम घेब्रेयसस ने गतिरोध को तोड़ा और प्रकोप को पीएचईआईसी घोषित किया। ऐसा पहली बार हुआ है जब डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक ने ग्लोबल इमरजेंसी घोषित करने के लिए अपने सलाहकारों को किनारे कर दिया।

पुरुषों के साथ यौन संबंध रखने वाले पुरुषों में मंकीपॉक्स का जोखिम ज्यादा

डब्ल्यूएचओ द्वारा प्रस्तुत किए गए मॉडल के अनुसार मंकीपॉक्स से संक्रमित एक व्यक्ति से संक्रमित होने वाले लोगों की औसत संख्या उन लोगों में अधिक है जो पुरुष पुरुषों के साथ यौन संबंध रखते है। यानी की पुरुषों के साथ यौन संबंध रखने वाले पुरुषों में इस संक्रमण का आकड़ा 1.4 और 1.8 के बीच है। जबकि अन्य लोगों को इस संक्रमण का खतरा 1.0 से कम है। इसलिए मंकीपॉक्स संक्रमण पुरुषों के साथ यौन संबंध रखने वाले पुरुषों के अलावा अन्य लोगों में भी फैल सकता है। लेकिन फिर भी महत्वपूर्ण प्रसार की संभावना नहीं है।
अभी यूरोप में हाल ही के हफ्तों में हर हफ्ते नए मंकीपॉक्स संक्रमण के मामलों में वृद्धि की दर धीमी रही है। यूरोप में अभी अधिकांश संक्रमण उन पुरुषों में हो रही हैं जो पुरुष पुरुषों के साथ यौन संबंध रखते हैं। अगर हम यूके की बात करें तो यूके में 97% मरीज वही पुरूष हैं, जो पुरुषों के साथ यौन संबंध रखते हैं, लेकिन आकड़ो के अनुसार हाल के हफ्तों में मंकीपॉक्स महामारी में वृद्धि दर शून्य हो गई है या फिर कहे नकारात्मक हो गई है।

मंकीपॉक्स के क्या हैं लक्षण?

मंकीपॉक्स महामारी से संक्रमित लोगों को तेज बुखार आ सकता है। साथ ही इस महामारी से संक्रमित लोगों को तेज सिरदर्द की परेशानी भी हो सकती है। यह सिरदर्द लगातार मरीज को परेशान भी कर सकता है। इतना ही नहीं इसके साथ ही बात दें कि मंकीपॉक्स महामारी में रोगी को मांसपेशियों और कमर व पीठ में दर्द की समस्या भी हो सकती है। कई बार तो अन्य वजहों से भी इस तरह का दर्द हो सकता है, लेकिन जब स्पष्ट कारण समझ न आए तो आपको अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।
अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com
Back to top button