लॉकडाउन 4.0 के दौरान क्यों बिगड़ी दिल्ली की हवा, एक्यूआई 200 के पार

0
51
lockdown ke baad delhi pollution
Image Source - Pixabay

लॉकडाउन के ढाई महीने बाद क्या है दिल्ली का एक्यूआई?


लॉकडाउन 4.0 शुरू होने के साथ ही दिल्ली की हवा खराब होने लगी थी। धरती की सतह पर हवा की चाल धीमी होने से वायु गुणवत्ता सूचकांक 200 के पार पहुंच गया। सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फॉर कास्टिंग एंड रिसर्च के मुताबिक आने वाले समय में हालात बेहतर होते नहीं दिख रहे है। 1 जून से हवा की चाल तेज होने से प्रदूषण स्तर में गिरावट हो सकती है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक, लॉकडाउन 4.0 शुरू होने के बाद चीजों में मिली छूट से हवा बिगड़ने लगी थी। 17 मई को यह औसत दर्जे के शीर्ष 200 से कम थी। लेकिन लॉकडाउन 4.0 के पहले दिन यह 206 और दूसरे दिन यह 212 पर पहुंच गया।
अभी धरती पर चलने वाली हवा की चाल धीमी हो गई है। इसी के साथ पड़ोसी राज्यों में गेहूं का डंठल जलाना शुरू हो गया है। साथ ही राजस्थान से धूल भरी हवाएं भी दिल्ली पहुंचने लगी है। तीनों के मिले-जुले असर से दिल्ली की हवा की गुणवत्ता खराब हो गई है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक जून में सतह पर चलने वाली हवाओं की चाल तेज हो जाएगी। इससे प्रदूषण स्तर में गिरावट आ सकती है। इससे आने वाले दिनों में हवा की गुणवत्ता खराब और औसत दर्जे की सीमा रेखा पर ही रहेगी।

और पढ़ें: एयरपोर्ट का निजीकरण क्या बचा पायेगा उड्डयन उद्योग की डूबती नईया? जानिए कुछ महत्वपूर्ण जानकारियाँ

कल 48 डिग्री तक चढ़ सकता है पारा

आज दिल्ली का तापमान 40 डिग्री है मौसम विभाग के मुताबिक, कल हो सकता है लोगों को गर्मी से थोड़ी राहत मिले। कल दिल्ली का तापमान 48 डिग्री तक जा सकता है। लेकिन आने वाले दिनों में दिल्ली-एनसीआर के लोगों को गर्मी परेशान कर सकती है। इसके साथ ही एक रिपोर्ट से ये साफ़ हुआ कि अगर लॉकडाउन नहीं होता तो इस समय गर्मी और प्रदूषण की स्थिति कहीं अधिक होती। गाजियाबाद में भी हवा खराब स्तर की रही। इसके अलावा गुड़गांव, ग्रेटर नोएडा, मानेसर आदि में हवा सामान्य स्तर पर ही दर्ज हुई है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com