Jannah Theme License is not validated, Go to the theme options page to validate the license, You need a single license for each domain name.
भारत

Punjab Congress MLA Sukhpal Singh Khaira Arrest: पंजाब कांग्रेस के विधायक सुखपाल सिंह खैरा गिरफ्तार, जानिए किस मामलें में की गई है कार्रवाई

पंजाब कांग्रेस के विधायक सुखपाल खैरा को पंजाब पुलिस ने चंडीगढ़ से गिरफ्तार किया है। पंजाब पुलिस की टीम ने खैरा के चंडीगढ़ वाले घर पर रेड के बाद गिरफ्तारी की।

Punjab Congress MLA Sukhpal Singh Khaira Arrest:गिरफ्तारी के दौरान फेसबुक पर लाइव थे खैरा, पुलिस से कर रहें थे अनेकों सवाल


पंजाब कांग्रेस के विधायक सुखपाल खैरा को पंजाब पुलिस ने चंडीगढ़ से गिरफ्तार किया है। पंजाब पुलिस की टीम ने खैरा के चंडीगढ़ वाले घर पर रेड के बाद गिरफ्तारी की। मिली जानकारी के अनुसार पंजाब पुलिस की टीम उन्हें जलालाबाद लेकर गई है और ये गिरफ्तारी 2015 के एक पुराने केस में की गई है।

Punjab Congress MLA Sukhpal Singh Khaira Arrest: इसकी जानकारी खुद सुखपाल खैरा ने दी और बताया कि उनके खिलाफ चल रहे एक पुराने एनडीपीएस केस में या छापेमारी की गई है। पुलिस टीम में दो महिला कांस्टेबल भी है। जानकारी के मुताबिक पंजाब पुलिस की टीम उन्हें जलालाबाद लेकर गई है और ये गिरफ्तारी 2015 के एक पुराने केस में की गई है। उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री भगवंत मान उनके खिलाफ दुश्मनी निकाल रहे हैं। खैरा कांग्रेस के किसान सेल के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं।

Read more: Jan Ashirwad Yatra : इन दिनों पार्टी से नाराज चल रहीं उमा भारती, ‘जन आशीर्वाद यात्रा’ का नहीं मिला निमंत्रण

छापेमारी के दौरान फेसबुक पर लाइव थे खैरा

छापेमारी के दौरान कांग्रेस विधायक खैरा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक पर लाइव थे। लाइव के दौरान खैरा को पुलिस से बहस करते देखा और सुना जा सकता है। इस दौरान वे पुलिस से गिरफ्तारी के लिए वारंट मांगते दिख रहे हैं। साथ ही वे गिरफ्तारी का कारण भी पूछते हुए, सुने जा सकते हैं।

फेसबुक लाइव के दौरान छापेमारी टीम में मौजूद एक अधिकारी खुद को डीएसपी जलालाबाद अच्छरू राम शर्मा बताता है। अधिकारी ने खैरा को बताया कि उन्हें एक पुराने एनडीपीएस मामले में गिरफ्तार किया जा रहा है। खैरा का दावा है कि सुप्रीम कोर्ट ने केस रद्द कर दिया है और वह गिरफ्तारी का विरोध करते हैं। उनका दावा है कि यह कदम राजनीति से प्रेरित है।

सुखपाल सिंह खैरा ने ली सुप्रीम कोर्ट की शरण

बता दें कि, सुखपाल सिंह खैरा पर इससे पहले भी कार्रवाई हो चुकी है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने इससे पहले भी उन्हें इस मामले में पूछताछ के लिए बुलाया था, जहां से उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था। ईडी ने आरोप लगाया था कि खैरा ने ड्रग मामले के दोषियों और फर्जी पासपोर्ट रैकेट के सहयोगी हैं। पंजाब हरियाणा में याचिका दाखिल करते हुए खैरा ने हाईकोर्ट को बताया है कि 2015 में एनडीपीएस एक्ट के तहत दर्ज मामला उनके खिलाफ विचाराधीन था। इस मामले के लंबित रहते मनी लॉन्ड्रिंग का केस भी याचिकाकर्ता के खिलाफ दर्ज कर लिया गया।

ये केस झूठा था, सुप्रीम कोर्ट से मिली थी राहत

आपको बता दें कि पुलिस सुबह करीब 6.30 बजे खेहरा के घर पर पहुंची। खेहरा को 2015 के एनडीपीएस एक्ट में दर्ज एक मामले के तहत गिरफ्तार किया गया है। जबकि मामले में सुखपाल खेहरा का कहना है कि यह केस झूठा था सुप्रीम कोर्ट ने भी उन्हें इस केस में राहत दे रखी है। खेहरा को जलालाबाद कोर्ट में पेश किया जाएगा।

खेहरा ने पुलिस कर्मचारियों से पूछी पहचान

घर में पुलिस के पहुंचने पर सबसे पहले विधायक खेहरा ने सीनियर अधिकारी से पहचान पूछी। जिस पर जवाब मिला कि वह डीएसपी जलालाबाद एआर शर्मा है। इस दौरान एएसआई पुष्पराज सिंह उन्हें बार बार चलने को कह रहे थे तो खेहरा ने कहा कि आप के सीनियर अफसर चुप खडे़ है तो आप को इतनी जल्दी क्या है। कई पुलिस कर्मचारी सादी वर्दी में थे। खेहरा ने पूछा कि चंडीगढ़ पुलिस क्यों नहीं आई इस पर पंजाब पुलिस ने कहा कि चंडीगढ़ पुलिस को जानकारी दी जा चुकी है। करीब आधे घंटे तक पुलिस कर्मचारी बहस करते रहे।

Read more: Swami Prasad Maurya shoe Attack: स्वामी प्रसाद मौर्य पर फेंका गया जूता, अखिलेश यादव के सामने हुई घटना

 पंजाब सरकार बदलाखोरी की नीति अपना रही

पुलिस का कहना है कि सुखपाल सिंह खेहरा के खिलाफ एक पुराना एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज है, जिस संबंध में कार्रवाई की जा रही है। जल्द ही उन्हें जलालाबाद लाकर कोर्ट में पेश किया जाएगा। उधर सुखपाल सिंह व उनका बेटा इसको लेकर लाइव हुआ, जिसमें वह पुलिस से किस केस में गिरफ्तार करने और गिरफ्तारी वारंट दिखाने की बात कहते हुए नजर आ रहे हैं। हालांकि, काफी देर बातें होने के बाद पुलिस ने सुखपाल सिंह खेहरा को हिरासत में ले लिया। इस दौरान सुखपाल सिंह खेहरा ने कहा कि वह पंजाब सरकार के खिलाफ आवाज उठाते रहते हैं, जिसके चलते सरकार बदलाखोरी की नीति अपना रही है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com   

Back to top button