एक बेहतर रिश्ते के लिए दोनों का साथ है जरुरी 

0
12

रिश्तो को बनाना ही नहीं निभाना है जरूरी


भीड़ भरी दुनिया में पारिवारिक रिश्तो के साथ साथ  हर किसी को  एक ऐसे साथी की भी तलाश रहती है जो उसे समझ सके उसकी नादान और अटपटी बातों को सुनकर एक बेहतर दुनिया से परिचय करा सके.ऐसे रिश्तो को शुरू करने के लिए बहुत साहस और सहनशीलता की बराबर जरुरत होती है ,.  कहते है रिश्ते बनाना बहुत आसान होता है मगर उन्हें निभाना उससे कही ज्यादा मुश्किल होता है ऐसे में अगर आप किसी रिलेटिव में हैं और अपने साथी को खोने से डरते है तो इन बातों का ध्यान रखिये.

जल्दबाज़ी से बचना होगा क्योकि ये रिश्ता है सदियों का

अक्सर लोग अपना अकेलापन दूर करने के लिए बिना कुछ सोचे समझे नए रिश्तो को अपना लेते है और कुछ समय बाद ही अपने साथी में बुराइयां देखने लगते है ,ऐसे में जरुरी है की किसी भी रिश्ते की शुरुवात से पहले एक दूसरे को अच्छी तरह से समझ लें एक दूसरे को वक़्त दें और कोशिश रहे की जब तक रिश्ते को लेकर आप पूरी तरह से संतुष्ट न हो जाएं उसे न अपनाएं .

एक दूसरे की जिंदगी में दखल देना आपके  रिश्ते में लाएगा खटास

रिश्ते की शुरुवात में सभी छोटी बड़ी बातें ख़ास सी लगती है एक दूसरे के साथ वक़्त बिताना और  एक दूसरे के बारे में एक बार में सबकुछ जान लेने का मन करता है लेकिन ज़रा रुक जाइये… हर रिश्ते में अपने पर्सनल स्पेस की बहुत ज़रुरत होती है बिना स्पेस के कोई भी रिश्ता ज्यादा लम्बा नहीं चल सकता है, इसलिए जरूरी है की अपने साथी की जिंदगी में जरूरत से ज्यादा दखल ना दें ,हो सकता है की आपके पार्टनर को रिश्ते में घुटन महसूस होने  आपसे दूरियां बना लें

यहाँ भी पढ़े:गर्मियों में आजमाइए ये  ट्रेंडिंग लुक

बातें करने से निकलेगा हर परेशानी का हल

कई बार ऐसा होता है की लोग अपनी परेशानियां एक दूसरे से साझा करने में हिचकिचाते है और मन ही मन खुदको तकलीफ देते रहते है और धीरे धीरे मन की घुटन  हो जाती है ऐसे में जरूरी है की आप बिना किसी झिझक के अपने पार्टनर से अपनी मंकी बात शेयर करेंइससे आपके रिश्ते में विश्वास भी बढ़ेगा और हो सकता है आपकी परेशानी का कोई हल भी निकल जाये.

 Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments