बॉलीवुड कोरियोग्राफर पर लगा पोर्न दिखाने का आरोप: जानिए कौन है वो ?

0
60

बॉलीवुड कोरियोग्राफर पर लगा पोर्न दिखाने का आरोप, राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) को मिला पत्र


बॉलीवुड कोरियोग्राफर पर लगा पोर्न दिखाने का आरोप आये दिन बॉलीवुड की हस्तियां सुर्ख़ियों में छाई रहती हैं वो बात चाहे उनकी रील लाइफ की हो या रियल लाइफ की। हाल ही में मिली ख़बरों के अनुसार, बॉलीवुड फिल्मों में कोरियोग्राफी करने वाले मशहूर नृत्य निर्देशक गणेश आचार्य पर 33 वर्षीय महिला को जबरन पोर्न वीडियो दिखाने का आरोप लगा है।
इस संबंध में इस सम्बन्ध में इस महिला ने राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) को पत्र लिखा है। आइये जानते है क्या है पूरा मामला।

क्या है आरोप?

गणेश आचार्य पर उनकी महिला सहायक कोरियोग्राफर ने यह आरोप लगाया हैं कि वो उस महिला को जबरदस्ती पोर्न देखने पर मज़बूर करते थे। महिला ने बताया कि जब भी वो गणेश आचार्य के मुंबई वाले ऑफिस जाती थी तब गणेश उसे पोर्न वीडियो देखने को कहते और मना करने पर मजबूर करते थे। सूत्रों ने बताया कि गणेश के साथ काम करने वाले महिला उनके ऑफिस में सहायक कोरियोग्राफर के तौर पर काम करती हैं।

राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) को मिला पत्र

इस बात की जानकारी राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) को मिले एक पत्र से हुई जो उस महिला ने लिखा था। महिला आयोग को लिखे पत्र में कोटियां ने दावा कि किया कि वह जब भी आचार्य के दफ्तर जाती थी, वह उसे आपत्तिजनक वीडियो देखने को मजबूर करते थे। अंबोली थाने में दर्ज शिकायत में उसने कहा कि आचार्य फिल्म उद्योग में काम करने के लिए उससे कमीशन मांगते थे। पुलिस में एक शिकायत भी दर्ज करवाई है जिसमे महिला ने आरोप लगाया है कि आचार्य और दो महिलाओं ने रविवार को अंधेरी में आयोजित इंडियन फिल्म एंड टेलीविजन कोरियोग्राफर्स एसोसिएशन (आईएफटीसीए) के कार्यक्रम के दौरान उसका उत्पीड़न किया।
पुलिस के एक अधिकारी ने मंगलवार को कहा कि शिकायतकर्ता दिव्या कोटियां ने आचार्य के अलावा जयश्री केलकर और प्रीति लाड पर उत्पीडऩ का आरोप लगाया है। हालाँकि, इस मामले में अभी तक आचार्य ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी हैं।

पुलिस की जांच

दिव्या कोटियां आईएफटीसीए की सदस्य भी हैं और आईएफटीसीए के महासचिव पद पर गणेश आचार्य हैं। शिकायत में यह भी बताया गया कि अंधेरी के दफ्तर में दिव्या को अक्सर गणेश के फोन आया करते थे। उन्होंने कहा कि जब 26 जनवरी को कोटियां आईएफटीसीए के दफ्तर पहुंची, आचार्य उन पर चिल्लाए और कहा कि उन्हें निलंबित’’ किया जा रहा है। पुलिस अधिकारी ने कहा कि आचार्य को यह जान कर गुस्सा आया कि कोटियां भी आईएफटीसीए की सदस्य हैं और उन्होंने अपनी टीम की सदस्य जयश्री केलकर से उन्हें कथित तौर पर थप्पड़ मारने को कहा। शिकायत में कहा गया,’केलकर और प्रीति लाड ने सरेआम मुझे मारा जो सीसीटीवी में कैद है।’ अधिकारी ने बताया कि पुलिस गैर संज्ञेय अपराध दर्ज कर इसकी जांच कर रही है।
अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com