10 स्वास्थ्य जांच सभी महिलाओं के लिए करवाना है बेहद जरुरी

0
22
10-health-screenings

10 स्वास्थ्य जांच सभी महिलाओं के लिए करवाना है बेहद जरुरी


हर महिला को अपने लिए समय निकालकर स्वास्थ्य जांच करवाना बहुत महत्वपूर्ण होता हैं क्योंकि बढ़ती उम्र के साथ और मेनोपॉज़ से होने वाली बीमारियों से बचने के लिए ये जरूरी होती हैं। इन सभी स्वास्थ्य जांच के द्वारा बीमारी का पता लगाकर गंभीर समस्याओं से बचा जा सकता हैं। स्वास्थ्य जांच के साथ-साथ स्वस्थ आदतों जैसे व्यायाम करना, तनाव से बचना, नुट्रिशयस डाइट लेना आदि भी करनी चाहिए।

जाने यहाँ 10 स्वास्थ्य जांच के बारे में :

 1. ब्लड प्रेशर स्क्रीनिंग – BP

ब्लड प्रेशर की जांच करवाकर आप हृदय रोग, डायबिटीज और हार्ट अटैक से बच सकते हैं। आपको वर्ष में कम से कम एक बार अपने ब्लड प्रेशर की जांच करवानी चाहिए।

2. कोलेस्ट्रॉल चेकअप 

कोलेस्ट्रॉल जांच करवाकर आप डिस्लिपिडेमिया (dyslipidemia) और हार्ट के सम्बंधित बिमारियों से बच सकते हैं। इसके अलावा असामान्य कोलेस्ट्रॉल के  कारण मधुमेह मेलेटस और उच्च बीपी का खतरा रहता हैं। सामान्य कोलेस्ट्रॉल 200 मिलीग्राम/डेसिलिटर होना चाहिए। आपको कोलेस्ट्रॉल टेस्ट को हर पांच साल में करवाना चाहिए और कुछ स्वास्थ्य समस्या होने पर नियमित जांच करवाएं।

3. पैप टेस्ट और ह्यूमन पेपिलोमा वायरस टेस्ट (एचपीवी )

 इस टेस्ट से आप गर्भाशय ग्रीवा (cervix) कैंसर और ह्यूमन पेपिलोमा वायरस (एचपीवी) के बारें में पता लगाते हैं। 20 से 30 साल उम्र वालो को यह टेस्ट हर 3 साल में  और 30 साल से ऊपर वालो को हर 5 साल में करवाना चाहिए।

4. मैमोग्राम टेस्ट

मैमोग्राफी टेस्ट से स्तन असामान्यताओं के बारें जाना जाता हैं। 40 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं को साल में एक बार और 50 वर्ष या उससे ज्यादा उम्र की महिलाओं को वर्ष में दो बार इस टेस्ट को करवाना चाहिए।

5. सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज टेस्ट 

सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज(एसटीडी) और सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इन्फेक्शन्स (एसटीआई) या वेनेरेअल डिजीज (venereal diseases) के कारण एड्स के खतरे को जानने के लिए एसटीआई (STI) स्क्रीनिंग टेस्टकिया जाता हैं।इसके साथ ही कुछ अन्य टेस्ट जैसे हेपेटाइटिस बी(hepatitis B), क्लैमाइडिया (chlamydia) और सिफलिस (syphilis) आदि भी किये जाते हैं।

6. हड्डी घनत्व स्क्रीनिंग 

इस टेस्ट से ऑस्टियोपोरोसिस बीमारी के बारें में जाना हैं। पतले शरीर वालो या 50 साल की उम्र से ज्यादा वालों को यह टेस्ट करवाना चाहिए।

7. ब्लड ग्लूकोज टेस्ट 

ब्लड ग्लूकोज टेस्ट के द्वारा मधुमेह (diabetes) का पता लगता हैं। 45 साल की उम्र के बाद हर तीन साल में और मोटे लोगों को समय -समय पर ये टेस्ट करवाना चाहिए।

8. कोलन कैंसर स्क्रीनिंग

कोलन कैंसर स्क्रीनिंग टेस्ट से बडी आंतो में पॉलीप्स और कैंसर के बारे में पता चलता हैं। ये टेस्ट 45 या 50 साल की उम्र शुरू होने पर हर 10 साल में करवाना चाहिए। IBD होने पर ये टेस्ट डॉक्टर से पूछकर करवाना चाहिए।

9. त्वचा स्व परीक्षा 

सभी महिलाओं को त्वचा स्व परीक्षा यानि सर से पैर तक अपनी त्वचा की जांच करनी चाहिए। किसी नए परिवर्तन या पुराने मोल से स्किन कैंसर का खतरा हो सकता हैं। समस्या दिखने पर डॉक्टर से सलाह अवश्य करें।

10. डेंटल टेस्ट/ आंखो का टेस्ट

सभी को साल में एक बार अपने दांतों के टेस्ट और 2 साल में कम से कम एक बार आंखों की जांच करवाएं। समय-समय पर अपने डॉक्टर से सलाह करके अपना वजन, हाइट और बीएमआई की जाँच अवश्य करें।

Read More:- #KargilDiwas: भारत के वीर सपूतों को हमारा सलाम !

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments