Jannah Theme License is not validated, Go to the theme options page to validate the license, You need a single license for each domain name.
वीमेन टॉक

Divorce in India: भारत मे टूट रही है शादियां, चौका देने वाला आकड़ा आया सामने

Divorce in India: जाने भारत के उन राज्यों के बारे में जहां होते है सबसे ज्यादा तलाक़


  • कोविड के दौरान क्यों भारत में तलाक़ के मामले बहुत ज्यादा बढ़े?
  • जाने भारत के उन राज्यों के बारे में जहां होते है सबसे ज्यादा तलाक़
  • जाने भारत में क्यों तेजी से बढ़ रहे हैं तलाक़ के मामले
  • दुनिया के इन देशों के लोग लेते है सबसे ज्यादा तलाक़
  • क्या तलाक़ के बढ़ते मामले का कारण लिव इन रिलेशनशिप है?
  • अन्य देशों से स्थिति बेहतर
  • तलाक़ और सेलीब्रिटी

Divorce in India: हमारे देश में शादी की ही तरह तलाक़ भी एक शाश्वत सच्चाई है। हमारे देश के संविधान में तलाक़ को हिन्दू मैरिज एक्ट के सेक्शन 13 में शादी को ख़त्म करने के तौर पर मान्यता दी गई है। वहीं अगर हम मुस्लिम शादियों की बात करें तो मुस्लिम शादियों में यह Dissolution of Muslim Marriages Act, 1939 के मान्यता दी गई है। अगर हम महाराष्ट्र के मुंबई की बात करें तो यहां हर दिन लगभग 22 तलाक़ की पिटीशन फ़ाइल होती हैं यह सुन कर आपको ऐसा लग रहा होगा कि महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा तलाक़ होते होंगे लेकिन आप गलत है पिछले साल आई एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में सबसे ज्यादा तलाक़ केरल में होते है उसके बाद दूसरे नंबर पर महाराष्ट्र, कर्नाटक, मध्यप्रदेश और हरियाणा आते है। इतना ही नहीं इसके साथ एक और आंकड़ा भी सामने आया है जिसके अनुसार भारत में कोविड के दौरान तलाक़ के मामले बहुत ज्यादा बढ़े हैं। तो चलिए जानते है क्या है इसके पीछे की वजह।

Divorce in India
Divorce in India

जाने भारत में क्यों तेजी से बढ़ रहे हैं तलाक़ के मामले

महिलाओं में जागरूक: आज के समय पर तलाक़ होने का एक बहुत बड़ा कारण महिलाओं का अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होना है। अपने अधिकारों को जानने और समझने वाली महिलाओं ने अपने पति या फिर उसके परिवार के द्वारा किए जाने अन्याय के ख़िलाफ़ खुलकर बोलना शुरु कर दिया है। अब महिलाओं ने अपने अधिकारों की रक्षा करने और अपने सम्मान को बचाने के लिए जन्म-जन्मान्तर के बंधन से बाहर निकलना शुरु कर दिया है।

घरेलू हिंसा: एक समय पर महिलाओं द्वारा घरेलू हिंसा को बेहद सामान्य माना जाता था, लेकिन आज के समय पर महिलाएं अपने साथ हो रही हर हिंसा के ख़िलाफ़ आवाज़ उठती है। आज महिलाएं हर जोखिम उठाने को तैयार रहने लगी हैं। अगर हम फैमिली कोर्ट की बात करें तो फैमिली कोर्ट ने घरेलू हिंसा को तलाक़ की एक बड़ी वजह बताया है।

सेक्सुअल समस्याएं: एक कपल के बीच सेक्सुअल कम्पेटिबिलिटी का न होना भी आज के समय पर तलाक़ के बड़ते कारणों में से एक है। कई बार इंटरेस्ट की कमी या फिर किसी तरह के सेक्सुअल डिसऑर्डर को छिपाना भी तलाक़ का एक बड़ा कारण बन जाता है।

Read more: Fake News: अग्निपथ स्कीम से लेकर बेरोजगारी भत्ता, ऐसी खबरें जिनमें नहीं था पूरा सच!

दुनिया के इन देशों के लोग लेते है सबसे ज्यादा तलाक़

रूस: रूस में हजार में से 5 लोग अपनी शादी तोड़ देते है यानी की वो अपने पार्टनर तलाक़ ले लेते है।

बेलारूस: बेलारूस में हजार में से 3.80 लोगों का तलाक होता है।

यूक्रेन: यूक्रेन में हजार में से 3.60 लोगों का तलाक होता है।

अमेरिका: अमेरिका में हजार में से 3.40 लोगों का तलाक होता है।

बरमूडा: बरमूडा में हजार में से 3.30 लोगों का तलाक होता है।

Divorce in India
Divorce in India

क्या तलाक़ के बढ़ते मामले का कारण लिव इन रिलेशनशिप है?

फैमिली लॉ पर कानूनी रिसर्च करते हुए एडवोकेट पंकज वाधवानी ने बताया कि हमारे समाज में शादी अथवा विवाह बंधन का एक महत्वपूर्ण स्थान है। आगे वो बोलते है कि पहले तो लिव इन परंपरा सिर्फ पश्चिमी देशों में थी उसके बाद यह लिव इन परंपरा भारत के मेट्रो शहरों तक पहुंची, लेकिन आज के समय पर यह हर परंपरा हर राज्य में देखने को मिल रही है। फिर वो कहते है कि आज के समय पर तेजी से बढ़ रही तलाक दर, लोगों की विवाह के प्रति अरुचि और लिव इन रिलेशनशिप एक चिंताजनक बात बनती जा रही है।

अन्य देशों से स्थिति बेहतर

कुछ सालों पहले तक या फिर कहे एक दशक पहले के आंकड़े यह दर्शाते है कि भारत में विवाह एक महत्वपूर्ण संस्कार और बंधन के रूप में हर धर्म में देखा जाता था इसके साथ ही शादी के बाद दोनों लोग पूरी गभीरता के साथ अपना पूरा जीवन साथ बिताते थे। उस समय पर हमारे देश में तलाक़ बहुत कम हुआ करते थे। लेकिन आज के समय पर 100 शादियों में से दो शादी तलाक़ की ओर बढ़ जाती है। आज के समय पर अभी आपको तलाक़ के मामले में भारत की स्थिति अच्छी दिख रही होगी लेकिन अगर हम पिछले कुछ सालों के आंकड़े देखे तो पिछले कुछ सालों में जिस प्रकार से तेजी से तलाक़ के मामले बढ़े हैं ये भविष्य की एक भयावह तस्वीर को सामने ला रहे हैं।

Divorce in India
Divorce in India

Read more- Tips for Interviews: सपनो की नौकरी को पाना अब नहीं रहा मुश्किल! बस ध्यान में रखें निम्नलिखित महत्वपूर्ण बातों को!

तलाक़ और सेलीब्रिटी

अगर हम भारत के सेलीब्रिटी की बात करें तो यहां भी आपको तलाक़ का आंकड़ा बढ़ता हुआ दिख जायेगा। अगर हम कुछ सेलीब्रिटी की बात करें, तो अभी हाल ही में दक्षिण भारत के सुपर स्टार रजनीकांत की बेटी ऐश्वर्या ने अपने पति धनुष से शादी के सत्रह साल बाद हमेशा-हमेशा के लिए अलग होने का फैसला कर लिया है। वहीं आमिर खान भी अपनी दूसरी पत्नी किरण राव से अलग हो गए है और तो और आईएएस की परीक्षा में पहले स्थान पर आई टीना डाबी ने उसी साल परीक्षा में दूसरे स्थान पर आये अतहर से शादी की। लेकिन अपनी शादी के बंधन को ये दोनों सिर्फ ढाई साल ही बचा सके।

अभी हमने आपको जितने भी नाम गिनाये हैं, ये लोग आम लोग नहीं है ये सभी सेलीब्रिटिज हैं और इनके पास बेशुमार दौलत है। कोई भी लड़की या लड़का इनसे शादी करने से इंकार करने से पहले हजारों बार सोचेगा। लेकिन शादी के बाद क्या होगा? वही जो अक्सर लोगों के साथ होता है क्योंकि आपसी टकराव, तनाव, तू-तू मैं-मैं, को न तो धन रोक सकता है न ग्लैमर और न ही पावरफुल पद।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Back to top button