हॉट टॉपिक्स

यूआरओ का ऐलान विश्व विज्ञान में भारत को 5 साल में बनाएंगे महागुरु

विज्ञान की दुनिया में चमत्कारी बदलाव लाना है


यूनिवर्स रिफॉर्म ऑर्गनाइजेशन ने बुधवार को लाल किले के 15 अगस्त पार्क से देश को अगले पांच सालों में विश्व विज्ञान महागुरु बनने की घोषणा की है. यूनिवर्स लॉर्ड ऑफ साइंटिस्ट (यूआरओ) के सहसंस्थापक और चेयरमैन सुंदर सिंह राठी ने इसके लिए मिशन तय किया है. राठी ने कहा कि इस मिशन के तहत अगले पांच वर्षों में ग्लोबल वार्मिंग, प्रदूषित पर्यावरण, बाढ़ की समस्या और पानी का किल्लत का हल निकलना ही हमारा मकसद है. जो विज्ञान की दुनिया में एक चमत्कारी बदलाव को लाएगी.

और पढ़ें: पीएम मोदी ने बढ़ते कोरोना केस के बीच आज आठ राज्यों के मुख्यमंत्री से की वीडियो कांफ्रेंस के जरिए बाताचीत

यूनिवर्सल लॉर्ड ऑफ साइंटिस्ट यूआरओ के सहसंस्थापक और चेयरमैन सुंदर सिंह राठी ने कहा, “इंसान को सांस लेने के लिए प्रदूषण मुक्त ताजी हवा, शुद्ध पीने का पानी, भरपेट पौष्टिक भोजन प्राकृतिक तत्वों से ही हासिल होता है. पिछले कुछ सालों से यह प्राकृतिक व्यवस्था हमारी अज्ञानता और गलतियों के कारण नष्ट-भ्रष्ट हो गई है. अपनी बात को आगे बढ़ते हुए“ उन्होंने कहा कि संस्था ने महाविज्ञान की मदद से 5 वर्षों में इस व्यवस्था को फिर से चुस्त-दुरुस्त करने का बीड़ा उठाया है. सभी वैज्ञानिकों को इस मिशन में सहयोग देना चाहिए. जरूरत से ज्यादा प्राकृतिक दोहन से ग्लोबल वार्मिंग, प्रदूषण, भंडारण, जल समस्या और खाद्य समस्या आदि समस्याएं सिर उठा रही हैं.

यूआरओ के संहसंस्थापक और चेयरमैन ने कहा, “महाविज्ञान से हर इंसान की जीवनशैली में सुधार आएगा. दिल्ली में प्रदूषण सबसे बड़ी समस्या पराली को वैज्ञानिक विधि से जलाकर प्रदूषण से मुक्ति पाई जा सकती है. बारिश के मौसम में पानी का भंडारण देकर हम मानव जाति को जल के संकट से मुक्ति दिला जा सकता है.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button