थॉयरायड के बारे में जाने कुछ खास बातें


पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में थॉयरायड होने की संभावना अधिक


थॉयरायड आज दुनिया भर में बडी समस्या बनता जा रहा है। लगभग 4.2 करोड़ लोग भारत में इस समस्या से पीड़ित हैं। यानी के भारत में 10 में से एक व्यक्ति इससे किसी न किसी रूप में पीड़ित है।

देखा गया हैं कि, पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में थॉयरायड विकार होने की संभावना 80% तक अधिक होती है। जिसकी वजह से शरीर में होने वाले बहुत सारे हार्मोन के बदलाव हैं। महिलाओं में आयोडीन की कमी होने की संभावना अधिक होती है।

थॉयरायड, प्रतीकात्मक तस्वीर
थॉयरायड, प्रतीकात्मक तस्वीर

यहाँ पढ़ें : नींद न आने की समस्या से पाए छुटकारा

थायराइड के लक्षण:

  • थायराइड की वजय से मेटापा लगातार बढने लगता हैं।
  • जब थायराइड होता है तो शरीर को पुरी एनर्जी नहीं मिल पाती। इसलिए नींद भी अधिक आती हैं। थोडा सा काम कपने पर भी काफी थकावट होने लगती हैं। मांसपेशी और जोड़ों में दर्द रहता है।
  • कई बार यह भी देखा गया हैं कि, थायराइड से लोग डिप्रेशन की भी समस्या का सामना करते हैं। मानसिक तनाव का संबंध थायराइड हार्मोन्स का कम उत्पादित होना भी है।
  • कुछ लक्षण सबसे पहले दिखने शुरु हो जाते हैं जैसे, नाखूनों में सफेद सी लाइने दिखाई देना, पतले नाखून हो जाना साथ ही नाखून रूखे होने शुरू होने लगते हैं, और नाखून अपने आप टूटने लगते हैं।
  • महिलाओं को पीरियड्स में भी दिन कम-ज्यादा होने शुरू हो जाते है। कई बार महिलाओं में दो पीरियड्स के इंटरवल में भी अधिक दिनों का अंतर शुरू होने लगता है। जैसे कि, 28 दिन का साइकिल 40 दिन का बना रहता हैं।
  • अघिकतर डाक्टर उन महिलाओं को थायराइड के टेस्ट कराने को बोलते हैं जिनमें उपर बताए गए इस प्रकार के लक्षण दिखाई देने लगते है। आपको बतादें कि, थायराइड के रोग के बारे मे हमे ज्लदी से नहीं पता लगता यह ब्‍लड टेस्‍ट कराने के बाद ही पता चल पाता है।
Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Story By : AvatarNidhi Mudgill
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
%d bloggers like this: