Categories
बिना श्रेणी

ममता बनर्जी को चुनाव लड़ाने के लिए सीट नहीं मिलेगी- अमित शाह

कूचबिहार में हुई परिवर्तन यात्रा की रैली


आगामी बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी द्वारा चुनावी बिगुल फूंक दिया गया है. परिवर्तन रैली के चौथे दौर में आज गृहमंत्री अमित शाह कूचबिहार गए हैं. जहां उन्होंने ममता दीदी और उनकी पार्टी को ललकारते हुए कहा है कि तृणमूल के विधायकों को बीजेपी के ब्लॉक लेबल के लोग चुनाव में मात देंगे.

बंगाल में गुंडे जीताते है

आज कूचबिहार में हुई रैली के दौरान अमित शाह ने कहा इस बार का बंगाल चुनाव ऐतिहासिक है. दीदी को चुनाव लड़ने के लिए सीट नहीं मिलेगी. ममता बनर्जी के गुंडे चुनाव जीताते हैं. गुंडागर्दी के दम पर ही दीदी चुनाव जीतती आई है. लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. अगर हमारी सरकार बंगाल में चुनाव जीतती है तो इन गुंडों पर करवाई की जाएगी. रैली में अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए गृहमंत्री ने कहा कि बंगाल में जय श्री राम बोलने पर आपत्ति होती है. अगर हम जय श्री राम बंगाल में नहीं बोलेगे तो पाकिस्तान में बोलेंगे?, चुनाव खत्म होते ही ममता बनर्जी जय श्री राम बोलेंगी. सिर्फ वोट लेने के लिए ही ममता बनर्जी ये सब करती है. ताकि एक समुदाय का वोट ले सके.

Read more: जानें कैसे सोशल मीडिया द्वारा आम आदमी ही नहीं सेलेब्रिटिज भी दो गुटों में बंट जाते हैं

केंद्र सरकार की योजनाएं लागू होगी

हाल ही बंगाल में आयुष्मान भारत की तर्ज पर स्वास्थ्य कार्ड दिया जा रहा है. इसी दौरान रैली में अमित शाह ने कहा कि अगर बंगाल में बीजेपी सरकार बनाती है तो आयुष्मान भारत योजना लागू की जाएगी. प्रदेश में दीदी और उनका भतीजा केंद्र की योजना को लागू नहीं करने देते हैं. लेकिन अगर हमारी सरकार आती है तो हम सभी केंद्र की योजनाओं लागू करेंगे. गृहमंत्री ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस पार्टी ने यहां विकास के लिए कुछ नहीं किया है. मोदी सरकार हमेशा सबका साथ, सबका विकास मानकर काम करती है, हम सभी समाजों को, समाज की संस्कृति, भाषा, संगीत, सहित्य को आगे लेकर जाने वाले लोग हैं. यही वजह है कि धीरे-धीरे मोदी जी नेतृत्तव में भाजपा से जुड़ा हुआ है.

बीजेपी को एक मौका दिया जाए

आज रैली से पहले गृहमंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल पहुंचकर ममता दीदी पर जमकर हमला किया. उन्होंने कहा दीदी को जय श्रीराम का नारे को अपमान समझती है. मैं आपसे वादा करता हूं, चुनाव खत्म होते-होते ममता दीदी भी जय श्रीराम बोलने लगेगी. इसके साथ ही कहा कि आप लोगों ने दस साल तक ममता दीदी को मौका दिया है. एक बार हमें भी मौका  दीजिए.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
हॉट टॉपिक्स

आठवें दिन किसान संगठन और सरकार के बीच की बातचीत रही बेनतीजा

आज कैप्टन अमरिंदर सिंह से मिले अमित शाह


किसान आंदोलन के आठवें दिन भी कोई समाधान नहीं निकला पाया है. आज लगभग साढ़े सात घंटे तक किसान संगठनों और सरकार के बीच चली बैठक बेनतीजा रही. अगली बैठक 5 दिसंबर को होगी.

आज हुई बैठक से पहले किसान आंदोलन की बैठक के दौरान हुए लंच में किसानों ने सरकार के खाने को मनाकर दिया. ब्रेक के दौरान सिंघु बॉर्डर से आये खाने को किसानों ने खाया. किसानों के बने लंगर से ही विज्ञान भवन में खाना लाया गया था. खाना सफेद रंग की एम्बुलेंस में लाया गया था.

सरकार के साथ हो रही बैठक में कविता तालुकदार अकेली महिला बैठक का हिस्सा बनी. कविता एक समाज सेविका भी है. बैठक के दौरान कविता ने अपने सवालों से कृषि मंत्रालय के पदाधिकारियों के पसीने छुड़ा दिए.

और पढ़ें: एनडीए सरकार में जितने भी कानूनों में संसोधन किया गया, ज्यादातर का जनता ने विरोध किया है

आज दोपहर 12 बजे शुरु हुई बैठक में एक बार फिर एमएसपी की बात को रखा. संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से 10 पन्नों का एक खाखा सरकार को सौंपा गया.  इस खाखे में पांच मुख्य बातें कही गई थी. जिसमें शामिल है एपीएमसी एक्ट 17 पॉइंट पर असहमति, एसेंशियल कमोडिटी एक्ट 8, कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग  एक्ट 12 पॉइंट पर असहमति जताई है.

किसान आंदोलन के 8वें दिन दिन आज पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह गृहमंत्री अमित शाह से मिले. बैठक के बाद उन्होंने कहा यह सरकार और किसानों के बीच का मामला है मैं इसमें कुछ नहीं कर सकता. मैं चाहता हूं जल्द से जल्द इसमें कोई समाधान निकाला जाए.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
हॉट टॉपिक्स

गृहमंत्री अमित शाह ने चुनाव से पहले कश्मीरी नेताओं को दी गुपकार गैंग की संज्ञा

सभी पार्टियों ने मिलकर बनाया है गुपकार संगठन


केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कश्मीरी नेताओं पर हमला करते हुए उन्हें गुपकार गैंग कहा है. ऐसा उन्होंने इसलिए कहा क्योंकि कश्मीर की लगभग सभी पार्टियों ने मिलकर पीपल्स अलॉयंस फॉर डिक्लेरेशन का गठन किया है. जिसको गुपकार संगठन कहा जाता है. इसी संगठन का नाम लेते हुए गृहमंत्री ने उन्हें गुपकार गैंग कहा है.

दरअसल गृहमंत्री ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि गुपकार गैंग ग्लोबल होता जा रहा है. वे चाहते है कि विदेशी शक्तियां जम्मू कश्मीर में हस्तक्षेप करें. गुपकार गैंग भारतीय तिरंगा का अपमान करता है. क्या सोनिया गांधी और राहुल गांधी गुपकार गैंग के इस कार्य का समर्थन करती हैं? उन्हें अपनी स्थिति भारत के लोगों सामने स्पष्ट करनी होगी.

एक और ट्वीट में गृहमंत्री ने कहा कि “कांग्रेस और गुपकार जम्मू कश्मीर को दोबारा से आतंक के युग में ले जाना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि वे दलितों,महिलाओं और आदिवासियों के वे अधिकार छीन लेना चाहते हैं जो अनुच्छेद 370 हटाकर दिए गए हैं. यह वजह है कि देश की जनता इन्हें हर जगह रिजेक्ट कर रही है.

इसके बाद एक और ट्वीट में उन्होंने लिखा- जम्मू और कश्मीर हमेशा से भारत का आंतरिक हिस्सा रहा है. भारत के लोग राष्ट्हित के खिलाफ बने किसी अपवित्र ग्लोबल गठबंधन को सहन नहीं करेंगे या तो गुपकार गैंग देश के मूड के साथ चले नहीं तो लोग उसे डुबो देंगे.

आपको बता दें गुपकार गठबंधन में शामिल राजनीतिक पार्टियों के नेताओं ने केंद्र सरकार द्वारा हटाए गए धारा 370 और 35ए का विरोध किया है. हाल ही में 11अक्टूबर को फारुक अब्दुला ने एक कहा था कि चीन की मदद से वह जम्मू कश्मीर की 370 की वापसी सुनिश्चित करेंगे. वहीं दूसरी ओर पीडीपी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने एक बयान में कहा कि वो कश्मीरी झंडे के अलावा और कोई झंडा नहीं उठाएंगी. जिस पर बीजेपी ने गहरी नाराजगी जताई है.

गौरतलब है कि 28 नवंबर को जम्मू-कश्मीर में स्थानीय निकाय के चुनाव होने वाले हैं. जिसके लिए सभी पार्टियों ने एकजुट होकर गुपकार गठबंधन का गठन किया है. जिसमें कांग्रेस भी शामिल है. बीजेपी की साथ सिर्फ अल्ताफ बुखारी की जम्मू कश्मीर अपनी पार्टी है.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
हॉट टॉपिक्स

कंगना रनौत को मिली Y सिक्योरिटी के बीच उठा टैक्स का सवाल

कंगना रनौत को मिलने वाली वाई कैटेगरी की सुरक्षा पर एक्ट्रेस की प्रतिक्रिया


बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस कंगना रनौत को वाई कैटेगरी की सुरक्षा देने के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सोमवार को मजूरी दी है. 9 सितंबर से मुंबई  पहुंचने के बाद कंगना की सुरक्षा में करीब 10 सशस्त्र कमांडो  तैनात रहेंगे. इस बारे में अधिकारी ने बताया कि कंगना रनौत बॉलीवुड की पहलीकलाकार हैं, जिन्हें वाई कैटेगरी की  सुरक्षा दी जा रही है. इस बात को लेकर बॉलीवुड से लेकर साउथ फिल्म इंडस्ट्री तक की एक्ट्रेस ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया देना शुरू कर दी. बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस कुबरा सैत ने ट्वीट अपनी प्रतिक्रिया दी. उनका ये ट्वीट अभी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. अपने ट्वीट में कुबरा सैत ने कंगना को मिलने वाली वाई कैटेगरी की सुरक्षा को लेकर सवाल किये. साथ ही उन्होंने पूछा कि क्या यह मेरे टैक्स में से जा रहा है.

क्या लिखा कुबरा सैत ने अपने ट्वीट में

बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस कुबरा सैत का ट्वीट अभी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. इस ट्वीट में उन्होंने लिखा “मैं सिर्फ जांच रही हूं, क्या यह मेरे टैक्स में से जा रहा है?” साथ ही आपको ये भी बता दे कि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हुआ कि कंगना रनौत को मिलने वाली वाई कैटेगरी की सुरक्षा के लिए सरकार को भुगतान करना होगा या नहीं. सोशल मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक वाई कैटेगरी की सुरक्षा में 10 सशस्त्र कमांडो को तैनात किया जायेगा. जो शिफ्ट के अनुसार हर समय कंगना रनौत की सुरक्षा में तैनात रहेंगे.

साउथ फिल्म इंडस्ट्री की मशहूर एक्ट्रेस खुशबू सुंदर ने भी किया ट्वीट

बॉलीवुड एक्ट्रेस कुबरा सैत के ट्वीट के बाद साउथ फिल्म इंडस्ट्री की मशहूर एक्ट्रेस खुशबू सुंदर ने ट्वीट किया. ट्वीट में खुशबू सुंदर ने लिखा “वाई कैटेगरी सिक्योरिटी?? सच में? लेकिन क्यों?” खुशबू सुंदर का ये ट्वीट अभी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. साथ ही लोग इस पर जमकर कमेंट भी कर रहे है. आपको बता दे कि ये सब इसलिए हो रहा है क्योकि सुशांत सिंह राजपूत की मौत बाद लगातार कंगना ने महाराष्ट्र पुलिस और बॉलीवुड पर लगातार कई तरह के सवाल उठाएं हैं. इतना ही नहीं शिवसेना के सांसद संजय राउत के साथ उनकी ट्विटर बहस भी खासी चर्चा का विषय बनी है. पिछले सप्ताह कंगना त ने कहा था कि उन्हें मुंबई पुलिस से डर लगता है और उन्होंने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से की थी. जिसके बाद कंगना रनौत को वाई कैटेगरी सिक्योरिटी प्रदान की गयी. उन्होंने ने ट्वीट पर वाई कैटेगरी सिक्योरिटी प्रदान करने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को धन्यवाद दिया.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
हॉट टॉपिक्स

दिल्ली में आज से शुरू होगा सीरोलॉजिकल सर्वे, एंटीबॉडी से लगाएंगे कोरोना संक्रमण का पता

गृह मंत्रालय का बड़ा बयान, 20 हजार लोगों की एंटीबॉडी से की जाएगी जांच


अभी पूरा देश कोरोना वायरस के कारण परेशान है। ऐसे में कल गृह मंत्रालय ने सीरोलॉजिकल सर्वे की जानकारी देते हुए कहा कि 20 हजार लोगों में एंटीबॉडी से जांच की जाएगी। कोरोना वायरस का पता लगाने और इससे रोकने के लिए आज से दिल्ली में सीरोलॉजिकल सर्वे की शुरुआत की जाएगी। गृह मंत्रालय की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक अब आधे घंटे में ब्लड टेस्ट के आधार पर यह पता लगाया जायेगा कि व्यक्ति के शरीर में कोरोना वायरस से लड़ने के लिए एंटीबॉडी है या नहीं। अगर हम इससे आसान शब्दों में समझे तो इसका मतलब है अगर कोई व्यक्ति कोरोना वायरस से सक्रमित होता है और अगर उस व्यक्ति में किसी भी प्रकार का लक्षण नहीं दिखता, तो पांच से सात दिन में उस व्यक्ति के शरीर में एंटीबॉडी बनना शुरू हो जाती है।

सीरोलॉजिकल सर्वे ली जाएगी आरोग्य सेतु और इतिहास मोबाइल एप की मदद

एंटीबॉडी से जांच कर यह पता लगाया जायेगा कि व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव है या नहीं। साथ ही इससे ये भी पता चल जायेगा कि दिल्ली में किस इलाके में सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव लोग है और किस इलाके में सबसे ज्यादा लोग इससे ठीक हुए है। कुछ दिन पहले गृह मंत्री अमित शाह ने अरविंद केजरीवाल और उपराज्यपाल अनिल बैजल से सीरोलॉजिकल सर्वे पर चर्चा की थी। यह सर्वे एनसीडीसी और दिल्ली सरकार संयुक्त रूप से मिल कर करेंगे। गृह मंत्रालय के अनुसार सीरोलॉजिकल सर्वे आज से शुरू किया जायेगा। साथ ही इस सीरोलॉजिकल सर्वे में टीम आरोग्य सेतु और इतिहास मोबाइल एप की मदद लेगी।

और पढ़ें: अगर आप डाइट में खाते हैं ये चीजें तो कोरोना वायरस रहेगा दूर

दिल्ली सरकार को है दिशा-निर्देशों का इंतजार

सोशल मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक 21 जून को हुई बैठक में गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली के हर घर की स्क्रीनिंग और सर्वे के मास्टर प्लान पर चर्चा की था। सीरोलॉजिकल सर्वे प्लान के लिए केंद्र ने दिल्ली सरकार को भरोसा दिया था कि मास्टर प्लान में गृह मंत्रालय के पास दस दिन की रणनीति है। लेकिन अब दिल्ली सरकार का कहना है कि वो पिछले एक हफ्ते से प्लान के विस्तृत दिशा-निर्देशों का इंतजार कर रहे है। दिल्ली सरकार के सूत्रों का कहना है कि इस तरह के महत्वपूर्ण अभियान के लिए जल्द से जल्द दिशा-निर्देश मिलना बेहद जरूरी है। बिना किसी मास्टर प्लान और दिशा-निर्देशों के दिल्ली सरकार के लिए यह असमंजस में है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com