Jannah Theme License is not validated, Go to the theme options page to validate the license, You need a single license for each domain name.
लाइफस्टाइल

Human bad habits- अगर आप भी समय से पहले बूढ़े नहीं होना चाहते हैं, तो आज ही छोड़े इन आदतों को

Human bad habits- आज ही इन आदतों को दे त्याग, पाएं स्वास्थ्य जीवन


उम्र बढ़ना एक आम प्रक्रिया है लेकिन कोई भी व्यक्ति समय से पहले बूढ़ा होना नहीं चाहता है। हर इंसान की यह ख्वाहिश होती है कि वह हमेशा यंग दिखे। उसकी स्किन हमेशा जवां दिखे। लेकिन हमारी कुछ गलतियों के कारण हमारे शरीर में कई तरह की बीमारियां लग जाती हैं। जिसके कारण हम उम्र से पहले बूढ़े हो जाते हैं। या यूं कह लें हमारी कुछ गलतियों के कारण हम समय से पहले उम्रदराज दिखने लगे जाते हैं।

हर एक नए दिन के साथ हमारी उम्र भी बढ़ती जाती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुमान के मुताबिक साल 2050 तक दुनिया भर में दो अरब से अधिक लोग 60 साल और उससे अधिक उम्र के हो जाएंगे। वास्तव में, पूरी दुनिया में लोग पहले से कहीं अधिक लंबे समय तक जी रहे हैं।हमारी कुछ गलतियों के कारण हमारे शरीर में कई तरह की बीमारियां लग जाती हैं। जिसके कारण हम उम्र से पहले बूढ़े हो जाते हैं। या यूं कह लें हमारी कुछ गलतियों के कारण हम समय से पहले उम्रदराज दिखने लगे जाते हैं।

हर एक नए दिन के साथ हमारी उम्र भी बढ़ती जाती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुमान के मुताबिक साल 2050 तक दुनिया भर में दो अरब से अधिक लोग 60 साल और उससे अधिक उम्र के हो जाएंगे जनसांख्यिकीय अनुसंधान में प्रकाशित एक स्टडी में भी इस बात की भविष्यवाणी की गई है कि इस सदी के अंत तक इंसान 120 साल तक जिंदा रहेगा। नेचर ह्यूमन बिहेवियर के शोध के अनुसार उम्र बढ़ने के साथ लोगों की  मानसिक क्षमताओं में सुधार देखा गया है। हालांकि, ये सब कुछ आपकी लाइफस्टाइल के तरीके पर निर्भर करता है। अगर आप भी हमेशा जवां दिखना चाहते हैं तो इन गलतियों को ना करें। आइये जानते हैं इन गलतियों के बारे में।

देर रात तक टीवी देखना

https://www.instagram.com/p/CXNLfyxJDky/?utm_source=ig_web_copy_link

हम में से कई लोगों की आदत होती है देर रात तक टीवी देखनी। या यूं कह ले कुछ लोगों को टीवी देखें बिना नींद नहीं आती है। वैसे कभी-कभी देर रात तक टीवी देखने में कोई बुराई नहीं है लेकिन रोज इसे देखने कीआदत नहीं बनानी चाहिए। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के रिसर्च के अनुसार, मध्यम आयु में बहुत अधिक समय तक चैनल बदलने की आदत से सोचने-समझने की क्षमता में गिरावट आती है। शोध के मुताबिक, बहुत टीवी देखने से मस्तिष्क में ग्रे मैटर की मात्रा कम होती है।

ग्रे मैटर तंत्रिका तंत्र से जुड़ा है और सोचने या निर्णय लेने की क्षमता इसी से बनती है। इसलिए अगर आपको अपने दिमाग को भी यंग रखना है तो इस आदत को छोड़ना होगा।

सुस्त रहना

सिर्फ टीवी ही नहीं बल्कि पूरे दिन बिना किसी काम के इधर-उधर पड़े रहना या फिर हर समय सुस्त रहना भी उम्र से पहले बुढ़ापा लाता है।  ये ना सिर्फ शारीरिक बल्कि मानसिक तौर पर भी असर डालता है। इसलिए जरूरी है कि हम अपने शरीर और दिमाग को काम पर लगाये। इसके लिए एक्सरसाइज करना जरुरी है। एक्सरसाइज करने से ना सिर्फ हड्डियां और मांसपेशिया स्वस्थ रहती हैं। यह शरीर को जवान बनाने में मदद करता है।

JAMA मेडिकल पत्रिका में छपी एक स्टडी के अनुसार, एक ही उम्र के आलसी लोगों की तुलना में हमेशा एक्टिव रहने वाले लोग ज्यादा दिनों तक जवान बने रहते हैं. स्टडी के अनुसार इस प्रकार के लाइफस्टाइल से लोग ज्यादा बीमार रहते हैं।

अनियमित सोने की आदत

ऐसा लगभग हर किसी के साथ हो रहा है। कोरोना महामारी की वजह से ज्यादातर लोगों की सोने की आदत में बदलाव आया है।  खराब स्लीपिंग पैटर्न का असर चेहरे पर साफ दिखता है। साइंटिफिक जर्नल में छपी एक स्टडी के मुताबिक, मध्यम आयु वर्ग के जो लोग नियमित रूप से 6-8 घंटे से अधिक या कम सोते हैं, उनमें सोचने-समझने की क्षमता  में 4-7 साल तक की गिरावट आ सकती है।

क्लिनिकल एंड एक्सपेरिमेंटल डर्मेटोलॉजी में छपी एक अन्य स्टडी में पाया गया है कि खराब नींद लेने वालों की त्वचा तेजी से बूढ़ी होती है। जो महिलाएं पूरी नींद नहीं लेती हैं। उनकी स्किन पर प्री-मेच्योर एजिंग के लक्षण दिखाई देने लगते है। इसलिए अगर आप समय से पहले बूढ़े नहीं दिखना चाहते हैं तो इस आदत में सुधार करें।

https://www.instagram.com/franklindavid/p/CXGqMANuR-8/?utm_medium=copy_link

बहुत ज्यादा ऑनलाइन समय बिताना

https://www.instagram.com/p/BFA_SSnogzk/?utm_source=ig_web_copy_link

आज की समय में जब भी कोई इंसान फ्री होता है तो तुरंत अपना मोबाइल चेक करता है। इसमें कोई बुराई नहीं है। लेकिन पिछले दो साल से कोरोना की वजह से लोगों को ज्यादातर समय इंटरनेट पर बीत रहा है। लोगों का स्क्रीन टाइम काफी बढ़ गया है।  एजिंग एंड मैकेनिज्म ऑफ डिजीज में छपी स्टडी के मुताबिक, कम्प्यूटर और स्मार्टफोन से निकलने वाली ब्लू लाइट हमारी आंखों और स्किन पर बहुत बुरा असर डालती है। और इसकी वजह से एजिंग प्रोसेस बढ़ जाता है. ब्लू लाइट मस्तिष्क और आंखों की कोशिकाओं दोनों को नुकसान पहुंचाती है।

Benefits of turmeric milk: सर्दियों में बेहद फायदेमंद होता है हल्दी वाला दूध, इन के लिए है लाभप्रद

इसकी जगह अपना समय ऑफलाइन एक्टिविटी जैसे कि किताब पढ़ने या कुछ लिखने में बिताएं। इससे दिमाग भी तेज होता है। तो अगर आप भी समय से पहले बूढ़े नहीं दिखना चाहते हैं तो आज ही मोबाइल से दूरी बनाना शुरू कर दें। इससे आपकी ब्यूटी और ब्रेन दोनों ही जवान रहेंगे।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Back to top button