बिना श्रेणीभारतीये पॉलिटिक्स

आरबीआई के नए गवर्नर शक्तिकांत दास के करियर से जुड़ी यह है कुछ ख़ास बातें:

शक्तिकांत दास बने नए आरबीआई गवर्नर


जहाँ एक तरफ विधान सभा का इलेक्शन रिजल्ट आना बाकी है तो वही दूसरी तरफ आरबीआई के पूर्व गवर्नर रहे उर्जित पटेल के इस्तीफा देने के बाद ही आरबीआई ने शक्तिकांत दास को आरबीआई का नया गवर्नर नियुक्त किया है।शक्तिकांत दास  की नियुक्ति के बाद अब सभी की निगाहें  शक्तिकांत  दास  पर है क्यूंकि अब उनके सामने अर्थव्यवस्था केसुधार को लेकर कई सारी चुनौतियाँ सामने आ खड़ी हुई है.लेकिन उससे पहले हम जानेंगे की आखिर शक्तिकांत दास है कौन?

Shaktikant das

यहाँ जाने शक्तिकांतदास के करियर से जुड़ी यह कुछ एहम बातें:

1.शक्तिकांत दास 1980 में तमिलनाडू  काडर के आईएएस अधिकारी थे.

2.अपने 37 साल के कार्यकाल में शक्तिदास ने केंद्र और राज्य में आर्थिक और वित्त विभाग में काम  किया है.

3.2008  में उन्हें पहली बार  वित्त मंत्रालय में  संयुक्त सचिव के तौर पर  चुना गया था.

4.2013  में फिर शक्तिकांतदास को रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय में सचिव बनाया गया

यहाँ भी पढ़े : “Lumbini festival 2018”

5.उसके बाद उन्हें 2014 में केन्द्र में भाजपा की सरकार बनने के बाद वित्त मंत्रालय में राजस्व सचिव बनाया गया

6.जब देश में नोटबंदी हुई तब अर्थव्यवस्था में 500 और 2,000 रुपये का नया नोट जारी करने में उन्होंने अपनी भूमिका निभाई

7.साथ ही उन्होंने बीजेपी में कालेधन  को लेकर आवाज़ भी उठाई थी और जीएसटी को लागू  करने में  आपसी सहमति में भी भूमिका निभाई

8. शक्तिकांत दास अब रिजर्व बैंक के 25वें गवर्नर होंगे.

तो यह है आरबीआई के नए गवर्नर शक्तिकांत दास  के  अब तक  करियर से जुड़ी  कुछ  ख़ास बातें।  अब देखना यह है की क्या शक्तिकांत  दास सभी चुनौतियों  को पूरी तरह सम्हाल पाते है या नहीं। क्यूंकि अब उनको आर्थिक फैसलों को लागू करने  के लिए  रिजर्व बैंक की कमान सौंप दी गई  है.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button
Hey, wait!

अगर आप भी चाहते हैं कुछ हटके वीडियो, महिलाओ पर आधारित प्रेरणादायक स्टोरी, और निष्पक्ष खबरें तो ऐसी खबरों के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करें और पाए बेकार की न्यूज़अलर्ट से छुटकारा।