हॉट टॉपिक्स

आज किसान आंदोलन का 25वां दिन: आज भूख हड़ताल पर रहेंगे किसान

आज किसान आंदोलन का 25वां दिन, जाने सिंघु बॉर्डर का लाइव अपडेट


तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग करते किसान आज आंदोलन के 25वां दिन पर आ पहुंचा है. आज भी किसान दिल्ली एनसीआर के बॉर्डर पर डटे हुए है.  अभी दिल्ली एनसीआर में कड़ाके की ठंड में भी किसानों ने केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आवाज बुलंद की हुई है. कल यानि की रविवार को किसानों ने अपने साथी किसानों को जिन्होंने आंदोलन के दौरान जान गंवाई  उन्हें याद करते हुए देश के सभी जिलों, तहसील व गांवों में श्रद्धांजलि सभाएं की थी.  किसानों ने गाजीपुर बॉर्डर और भाकियू कार्यालय समेत कई जगहों पर आंदोलन के दौरान अपनी जान गंवाने वाले किसानों को श्रद्धांजलि दी थी. और आज किसान भूख हड़ताल पर रहेंगे.

आज किसान भूख हड़ताल पर रहेंगे

कल किसानों ने आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों को श्रद्धांजलि दी थी.  आज केंद्र के नए कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन को तेज करते हुए भूख हड़ताल करने की बात की थी.  साथ ही उन्होंने 23 दिसंबर तक एक वक्त का भोजन छोड़ने की अपील भी की है. इतना ही नहीं उन्होंने कहा है कि 25 से 27 दिसंबर तक हरियाणा में सभी राजमार्गों पर वो टोल वसूली नहीं करने देंगे. बीते करीब चार हफ्ते से दिल्ली एनसीआर के विभिन्न सीमाओं पर हजारों की संख्या में किसान प्रदर्शन कर रहे हैं और नए काले कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे हैं.

और पढ़ें: जानें इस साल की 5 तारीख में ऐसा क्या है खास, जो हमें हमेशा याद रहेगा

farmers bill

3 घंटे बंद रहने के बाद शुरू हुआ किसान एकता मोर्चा का फेसबुक पेज

नए काले कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे  किसानों द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे फेसबुक अकाउंट को लाइव प्रसारण के बाद ब्लॉक कर दिया गया  इतना ही नहीं इंस्टाग्राम अकाउंट पर कंटेंट डालने पर रोक लगा दी गई है, प्रदर्शनकारी किसानों का सरकार पर आरोप है कि सरकार के इस कदम ने ऑनलाइन सेंसरशिप के बारे में बहस को फिर से खड़ा कर दिया है. हालांकि 3 घंटे बंद रहने के बाद फेसबुक ने फिर से वो पेज दोबारा खोल दिया और इंस्टाग्राम कंटेंट पर लगाई गयी रोक को भी खत्म कर दिया गया.

जाने एमएसपी को लेकर क्या बोले मनोहर लाल खट्टर

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि किसानों को फसल पर मिलने वाला एमएसपी यानि की न्यूनतम समर्थन मूल्य हमेशा बना रहेगा.  क्योंकि ये हमारे किसानों के हित में है. इतना ही नहीं मनोहर लाल खट्टर ने कहा “अगर कोई न्यूनतम समर्थन मूल्य को खत्म करने की कोशिश करेगा, तो मैं राजनीति छोड़ दूंगा. लेकिन एमएसपी खत्म नहीं होने दूंगा”.

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button