साहित्य और कविताएँ

करन जौहर : ‘फ्रीडम ऑफ एक्स्प्रेसन भारत में सबसे बड़ा मजाक’

बॉलीवुड के मशहूर निर्देशक और निर्माता करन जौहर ने अब असहिष्णुता को लेकर बड़ा बयान दे दिया है। करन ने कहा की मन की बात कहना भारत में सबसे मुश्किल है। उन्होंने कहा ‘फ्रीडम ऑफ एक्स्प्रेसन भारत में सबसे बड़ा मजाक है और डेमोक्रेसी उससे भी बड़ा मजाक है।’

करन जौहर ने ये बाते जयपुर में चल रहे साहित्य सम्मेलन में कही। साथ ही करन नें कहा ‘मुझे तो लगता है जैसे हमेशा कोई लीगल नोटिस मेरा पीछा करता रहता है। किसी को पता नहीं कब उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज़ हो जाये।’ करन जौहर ने यहाँ अपनी जीवनी ‘एन अन्स्युटेबल बॉय’ के बारे में लेखिका शोभा डे और जीवनी लिखने वाली पूनम सक्सेना से बातचीत की। उन्होंने समलैंगिकता से लेकर बोलने की आज़ादी, फिल्मों और शाहरुख़ खान के साथ अपने सम्बन्धों को लेकर कई अलग-अलग विषयों पर अपने विचार रखे।

karan-johar

गुरुवार को जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का पहला दिन था। इस लिटरेचर फेस्टिवल में असहिष्णुता के मुद्दे पर अवार्ड लौटने वाले लेखकों ने एक बार फिर विरोध में अपनी आवाज़ बुलंद की तो उनके साथ में कई और लेखक भी खड़े दिखे। इसी मुद्दे पर सीनियर राइटर रस्किन बॉन्ड ने लेखकों के विरोध का जवाब देते हुए कहा कि इस तरह के व्यवहार से असहिष्णुता ही बढ़ेगी।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Back to top button