How to cure migraine? माइग्रेन से चाहते है निज़ात तो फॉलो करे ये आसान टिप्स!

0
5
how to cure migraine

How to cure migraine? योग करने से मिल सकता है आपको माइग्रेन से निजात, यहाँ जाने कैसे?


माइग्रेन  –  योग

Cure migraine with yoga: माइग्रेन एक ऐसा रोग है जो हर दूसरे इंसान को होना आम बात है और इसके पीछे कारण है उनकी व्यस्त और भागदौड़ वाली जीवनशैली। इस रोग की चपेट से कोई भी अछूता नहीं है चाहे वो बच्चे हो, वयस्क या वृद्ध हो। इस रोग की प्रमुख वजह मानसिक तनाव है। आइये जानते है इससे बचने के लिए क्या करें।

माइग्रेन के लक्षण-

माइग्रेन में सिर के एक भाग में तेज और असहनीय दर्द होता है जो चार घंटे से लेकर 72 घंटे की अवधि तक रहता है। इसके लक्षण  – उल्टी  आना, प्रकाश, गंध या शोर के प्रति अत्यधिक संवेदनशीलता, जी मिचलाना तथा शारीरिक कमज़ोरी आदि होते है|

इससे बचने के लिए क्या करें?

माइग्रेन से बचने के लिए आप योग का सहारा ले सकते हैं। पुराने समय में लोग माइग्रेन का इलाज योग प्रक्रियाओं द्वारा करते थे। योग से शरीर, मन और आत्मा का शांति मिलती है। माइग्रेन से लड़ने के लिए योग विधि एक अति प्रभावी उपाय है। एक शोध के अनुसार, योग के जरिये आप माइग्रेन से मुक्ति पा सकते है। माइग्रेन के उपचार में योग की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होती हैं।

और पढ़ें: क्या आप भी पहले बार इंटरव्यू के लिए जा रहे है ? तो ये है कुछ ख़ास टिप्स

माइग्रेन को दूर करने के योगासन

1. कपालभाति – इस योगासन में पद्मासन या सुखासन की स्थिति में सीधे बैठकर गहरी साँस खींचे तथा साँस को भी बाहर छोड़े। इसको नियमित 10 से 15 मिनट करने से माइग्रेन की समस्या से निजात पाया जा सकता है।

2. अलोम-विलोम – ये योगासन करने के लिए अपने दायें हाथ के अंगूठे से नाक के दाये छिद्र को बंद करें और बायें नाक के छिद्र से अंदर साँस खीचें। फिर बायें छिद्र को अंगूठे के पास वाली दो उंगलियों की मदद से बंद करें तथा दायें छिद्र से अंगूठे हटाकर साँस को बाहर निकालें। अब इस प्रक्रिया को बायें नाक के छिद्र के साथ दोहराये। इसको करने से माइग्रेन की समस्या से निजात पाया जा सकता है।

3. योग मुद्रा – इस आसान को करने के लिए पद्मासन की मुद्रा में बैठ जाएं। दोनों हाथों को पीछे ले जाकर अपनी कलाइयां पकड़ लें। फिर धीरे-धीरे कमर को आगे की ओर झुकाते हुए अपनी ठोड़ी को जमीन पर लगाने की कोशिश करें। यह आसन करने से पहले अपनी शारीरिक क्षमता का ध्यान रखें। उतनी ही कमर झुकायें जितना आप कर सकें।

4. हस्तपदासन –
इस आसान में पैरों को एक साथ रखते हुए सीधे खड़े हो जाएँ और हाथों को शरीर के साथ रखें। अपने शरीर के वजन को दोनो पैरों पर संभलकर साँस अंदर लें और हाथों को सिर के ऊपर ले जाएँ। साँस छोड़ते हुए आगे और नीचे की ओर झुकते हुए पैरों की तरफ जाएँ। ऐसा करने से आपको सर दर्द में आराम आएगा।

5. अधोमुखश्वानासन
 – इस आसान को करने के लिए घुटनों के बल खड़े हो जाएं और दोनों हाथों को जमीन पर रखें। पंजों पर जोर देते हुए घुटने सीधे करें। अब अपनी कमर और नितम्भ का हिस्सा ऊपर उठाएं। हाथों को आगे करके सिर नीचे झुकाये। सांस छोड़ते हुए आराम से बैठ जाएँ।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments