Jannah Theme License is not validated, Go to the theme options page to validate the license, You need a single license for each domain name.
सेहत

Kala Namak Nuksan : सावधान! अधिक काला नमक खाने से सेहत को हो सकते हैं ये नुकसान, स्वास्थ्य पर पड़ता है बुरा असर

काला नमक का सेवन वैसे तो सेहत के लिए फायदेमंद होता है। इसे लोग एसिडिटी और अपच होने में खाते हैं लेकिन कुछ लोग नही जानते है कि रेगुलर काला नमक का प्रयोग से हमें हानि भी पहुंचा सकते है।

Kala Namak Nuksan : आंख मूंद कर न काला नमक का करें सेवन! 90% लोग नहीं जानते इसके 3 नुकसानों के बारे में

काला नमक का सेवन वैसे तो सेहत के लिए फायदेमंद होता है। इसे लोग एसिडिटी और अपच होने में खाते हैं लेकिन कुछ लोग नही जानते है कि रेगुलर काला नमक का प्रयोग से हमें हानि भी पहुंचा सकते है।

We’re now on WhatsApp. Click to join

सेहत के लिए होता है फायदेमंद –

काला नमक के सिर्फ हम लोग फायदे के बारे में ही जानते हैं क्योंकि हम इसे सलाद में खाते हैं या फिर चाट-पकौड़ी में डालकर खाते हैं। लेकिन इसका ज्यादा सेवन आपकी सेहत के लिए नुकसानदेह भी हो सकता है जिसके बारे में बहुत कम लोग ही जानते हैं। दरअसल, काला नमक में कुछ ऐसे कंपाउंड्स पाए जाते हैं जिसकी अधिक सेवन आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है जैसे कि ये न सिर्फ आपके पाचन अंगों को प्रभावित करती है बल्कि, ये आपकी किडनी के सेहत के लिए भी नुकसानदेह होते है।

स्वास्थ्य के लिए हानिकारक भी होते है –

ये तो सभी जानते ही है कि काले नमक के प्रयोग से हमारे शरीर को काफी फायदा होता है। वैसे भी काले नमक Black Salt का सेवन करने से एसिडिटी Acidity, उल्टी Vomiting और कब्ज जैसी समस्याओं से राहत पाया जा सकता है। यह एसिडिटी होने के खतरे को कम कर देता है। अगर आप रोजाना काला नमक खाते हैं, तो यह पाचन के लिए भी बहुत ही अच्छा होता है। काला नमक सेहत के लिए बहुत ही अच्छा होता है, लेकिन स्वास्थ्य के लिए इसके कुछ नुकसान भी होते हैं।

Read more:- Foods for Love Hormones: इन 5 चीजों को खाने – पीने से बढ़ जाएगा Oxytocin , प्यार करने की चाहत होगी ज्यादा

काला नमक खाने के ये तीन नुकसान –

हाई बीपी का कारण  –

काले नमक के अत्यधिक सेवन से शरीर में सोडियम की अधिक मात्रा हो सकती है, जिसके कारण शरीर में वॉटर रिटेंशन बढ़ता है जो कि हाई बीपी का भी कारण बन सकती है। इसके अलावा काले नमक में फ्लोराइड और अन्य रसायन भी पाए  हैं जो कि शारीरिक कार्यों को प्रभावित कर सकते हैं। इसलिए हाई बीपी के मरीजों को काला नमक खाने से बचना जरूरी हो जाता है।

आयोडीन की कमी से थायराइड का खतरा –

काला नमक आयोडीन युक्त नहीं होता है और आयोडीन थायराइड के कामकाज में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। काले नमक की जगह आयोडीन युक्त नमक न लें। अगर आप ऐसा करते हैं, तो आपको इस आदत को कंट्रोल करना होगा नही तो ये आपको ये नुकसान न पहुंचा सकते है।

किडनी को नुकसान –

काला नमक में फ्लोराइड और अन्य केमिकल भी होते हैं, यह शारीरिक कार्यों पर प्रभाव डाल सकते हैं। नियमित रूप से काले नमक का सेवन करने से आपके शरीर में किडनी की पथरी बनने का खतरा हो सकता है, जो दर्दनाक साबित हो सकती है और साथ ही आपके मूत्र कार्य में भी बाधा उत्पन्न कर सकती है। इसके अलावा ये लैक्सटिव है यानी पेट साफ करने वाला, जिस वजह से इसका सेवन मेटाबॉलिज्म को ओवरएक्टिव करती है और पाचन क्रिया को प्रभावित करती है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Back to top button