जहरीली हवा से हुआ युवती को कैंसर, दिल्ली का पहला मामला आया सामने

0
57
Cancer gas

दिल्ली की जहरीली हवा से हो सकता है आपको कैंसर 


सुनने में आपको अजीब लगेगा लेकिन ये खबर सुनकर आप दिल्ली की जहरीली हवा में सांस लेने भी घबराएंगे। जी हाँ, हाल ही में दिल्ली की जहरीली हवा से एक युवती को कैंसर हो गया हैं। इस बात की पुष्टि में सर गंगाराम अस्पताल के डॉक्टरों ने की हैं। दिल्ली की हवा पहले सिर्फ प्रदूषित कही जाती थी लेकिन अब ये जहरीली  भी हो गई हैं। दिल्ली की हवा में सांस लेना इतना दुर्भर हो गया  कि लोग अब मास्क पहनकर घूमने लगे हैं। जहरीली हवा से  फेफड़ों के साथ-साथ अन्य कई बड़ी-बड़ी गंभीर बीमारिया हो जाती हैं।

दिल्ली का पहला केस 

सर गंगाराम अस्पताल के डॉक्टरों के अनुसार, अस्पताल में एक युवती जांच के लिए आई जो बीमार थी। युवती को हॉस्पिटल वालों ने कुछ टेस्ट करवाने के लिए कहा लेकिन जब टेस्ट रिपोर्ट आई तो हॉस्पिटल वालों के साथ-साथ  अचंभित थी। टेस्ट रिपोर्ट के अनुसार युवती को कैंसर की गंभीर बीमारी हो गई थी। जब युवती की मेडिकल हिस्ट्री की जांच की गई तो सब कुछ सामने पाया गया तो कुछ और टेस्ट से  की जहरीली गैस  कैंसर हुआ हैं। गंगाराम के सेंटर फॉर चेस्ट के चेयरपर्सन डॉ. अरविंद कुमार (Dr. Arvind Kumar) ने  स्वयं इस बात की पुष्टि की। जहरीली हवा से इस युवती के फेफड़ों का कैंसर होने का दावा किया  जा रहा है जो कि दिल्ली में पहला मामला बताया जा रहाहैं

क्या कहते है सेंटर फॉर चेस्ट के चेयरपर्सन डॉ. अरविंद कुमार
गंगाराम के सेंटर फॉर चेस्ट के चेयरपर्सन डॉ. अरविंद कुमार (Dr. Arvind Kumar) के अनुसार,”उनकी ओपीडी (OPD) में एक 28 साल की युवती जांच के लिए आई थी। युवती ने उनको बताया कि वो जन्म से लेकर स्कूल जाने तक गाजीपुर इलाके में रहती थी। इसके बाद वो और उनका परिवार पश्चिमी दिल्ली में आकर रहने लगा। परिवार के किसी भी सदस्य के धूम्रपान करने का रिकॉर्ड भी नहीं मिला है। ये मामला सीधे वायु प्रदूषण से ही जुड़ा है।”

डॉ. कुमार के अनुसार,”दुनिया के सभी मानवों की संरचना एक जैसी है। दिल्ली में फैली जहरीली हवा एक साइलेंट किलर की तरह काम कर रहा है जिसका असर उम्र के उम्र  शुरूआती चरण में ना दिखकर 20-30 साल की उम्र के बाद दिखता है। डब्ल्यूएचओ (WHO) ने इस समस्या को  दुनिया भर में जन स्वास्थ्य आपात (पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी) घोषित कर रखा है। डॉ. कुमार के अनुसार उन्होंने सरकार से युवती के मामले पर किसी भी संस्था से शोध या अध्ययन कराअपील की हैं।

Read More:-कैंसर और कई रोगों से बचने के लिए करें मछली का सेवन 

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com