हॉट टॉपिक्स

जुलाई से बदलने वाले है बैंकिंग, एटीएम और सेविंग खातों से जुड़े कई नियम

1 जुलाई से बदलने वाले है बैंक के ये 3 नियम


देश भर में 1 जुलाई से बैंक के कई नियमों में बदलाव होने जा रहे है। बैंक एटीएम से पैसे निकालने से लेकर लेनदेन तक कई चीजों के नियम बदलने जा रहा है। जिसके बारे में जानना हम सब लोगों के लिए बहुत जरूरी है। बचत खाते में मिनिमम बैलेंस सीमा हटाने जैसे नियमों को भी बदला जा रहा है। तो चलिए हम आपको विस्तार से बताएंगे कि बैंक किन किन चीजों में क्या क्या बदलाव करने जा रहा है। क्योकि आपकी एक छोटी सी गलती आपको भारी पड़ सकती है।

1 जुलाई से बदल जाएंगे एटीएम के नियम

भारत सरकार ने कोरोना वायरस और लॉकडाउन के कारण तीन महीनों के लिए एटीएम से पैसे निकालने के चार्ज में छूट दी थी। जो 30 जून को खत्म हो जाएगी। मौजूदा समय में आपको एटीएम से दस हजार रुपए निकालने की छूट है। 1 जुलाई से देश भर में एटीएम निकासी में मिलने वाली छूट खत्म हो जाएगी। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने लॉकडाउन में छूट की घोषणा करते हुए कहा था कि ये छूट लोगों को लॉकडाउन और कोरोना वायरस से राहत देने के लिए दी जा रही है।

और पढ़ें: अपने सपनों के घर का कुछ इस तरह करें डेकोर, घर से आएगी पॉजिटिविटी

पीएनबी घटा रहा है सेविंग अकाउंट पर मिलने वाले ब्याज

देश का सबसे बड़ा बैंक एसबीआई और कोटक महिंद्रा बैंक के बाद अब पंजाब नेशनल बैंक भी सेविंग अकाउंट पर मिलने वाले ब्याज में कटौती करने जा रहा है। पंजाब नेशनल बैंक ने सेविंग अकाउंट पर मिलने वाली ब्याज दर में 0.50 फीसदी की कटौती की। 1 जुलाई से पीएनबी के सेविंग अकाउंट पर अधिकतम 3.25 फीसदी का सालाना ब्याज मिलेगा। पीएनबी के सेविंग अकाउंट में 50 लाख रुपए होने पर 3 फीसदी सालाना और 50 लाख से ज्यादा होने पर 3.25 फीसदी सालाना की ब्याज मिलेगा।

bank ke naye niyam 2020

मिनिमम बैलेंस रखने की मियाद खत्म

भारत सरकार ने लॉकडाउन के कारण सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस मेंटेन रखने की जरूरत को लॉकडाउन के दौरान खत्म कर दिया था। अब बैंक सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस पर मिली छूट को 30 जून को खत्म करने जा रही है। अगर ग्राहक के सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस मौजूद नहीं होगा तो बैंक उससे चार्ज नहीं वसूलेंगे। अभी बैंक मेट्रो सिटी, शहरी, अर्ध शहरी और ग्रामीण इलाकों के हिसाब से अलग-अलग बैंकों में सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस रखने की लिमिट अलग-अलग है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button