रामजनम भूमि: वर्डिक्ट आने से पहले सख्त हुई लोगो की सुरक्षा, तैनात हुई RAF

0
30

वर्डिक्ट आने तक स्कूल-हस्पताल को खुले रखने का दिया गया निर्देश


उत्तर प्रदेश सरकार ने अयोध्या ज़मीन विवाद पर कुछ नए और कड़े कदम उठाये है। इस पर अयोध्या में राम जनम भूमि जाने वाले सभी मार्गों को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है और इसके साथ ही दोपहिया और चार पहिया वाहनों को भी रोक दिया गया है। अब सघन चेकिंग के बाद ही यात्री और श्रद्धालु राम नगरी की तरफ पैदल प्रवेश कर पा रहे हैं।

RAF संभालेगी मोर्चा:

अयोध्या में संभावित तौर पर फैसले को लेकर प्रदेश के एडीजी अभियोजन आशुतोष पांडे ने अयोध्या में कमान संभल ली है।अयोध्या की सुरक्षा को लेकर एडीजी अभियोजन आशुतोष पांडे ने सर्किट हाउस में पुलिस अधिकारियों के साथ मीटिंग भी की. अयोध्या की सुरक्षा में सिविल पुलिस के साथ पीएसी, आरएएफ को लगाया गया है. इसके साथ ही एटीएस भी अयोध्या पर नजर रख रही है साथ ही खुफिया एजेंसी को भी सतर्क रखा गया है. ड्रोन कैमरे से अयोध्या की निगरानी की जा रही है। बुधवार से ही अयोध्या की सड़कों पर आरएएफ की टीमें नजर आने लगी है। भारी संख्या में पीएसी के जवान अयोध्या पहुंच चुके हैं। जनपद के लगभग दो सौ स्कूलों में सुरक्षाबलों को ठहराया जा रहा है इसके साथ ही रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, होटल, धर्मशाला जैसी भीड़ भाड़ वाली जगहों पर पुलिस की नजरे है।

Read more: अयोध्या पर फैसला आने से पहले अंबेडकर नगर में पुलिस हुई अलर्ट

स्कूल और हस्पताल खुले रहेंगे:

ऐसा कहा जा रहा है की अयोध्या के चप्पे-चप्पे पर पुलिस की नजर होगी। हालांकि जिला प्रशासन कोशिश कर रहा है कि अस्पताल स्कूल खुले रहें और अयोध्या का वातावरण सामान्य रहे। बता दें, एडीजी अभियोजन आशुतोष पांडे पूर्व में अयोध्या में हुए धर्म संसद को सकुशल संपन्न करा चुके हैं। जिससे एक बार फिर शासन ने आशुतोष पांडे पर भरोसा जताया है।

होंगे 16 हजार स्वयंसेवी तैनात:

पहले फैजाबाद पुलिस ने सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक सामग्री पर नजर रखने के लिए 16 हजार स्वयंसेवियों को तैनात किया है । वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आशीष तिवारी ने बताया कि राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर जब आदेश आयेगा, उस समय शांति कायम रखने के लिए जिले के 1,600 स्थानों पर भी इतनी ही संख्या में स्वयंसेवियों को रखा गया है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com