Categories
लाइफस्टाइल

जानें महामारी ने कैसे लोगों की सेक्स लाइफ को किया प्रभावित

महामारी और लॉकडाउन के बीच पिसती लोगों की सेक्स लाइफ- शोध


साल 2019 में आई कोरोना महामारी ने धीरे-धीरे करके लोगों की जिदंगी को पूरी तरह से बदल दिया है। पिछले साल मार्च महीने में लगे लॉकडाउन ने लोगों के अंदर कई तरह की डर और इंजाइटी को पैदा कर दिया है। मानसिक तनाव के साथ- साथ अब लोगों की जिदंगी में शारीरिक तनाव भी ला दिया है। लॉकडाउन के शुरुआती दिनों में जो लोग इस बात से बहुत खुश थे कि अब अपनी जिदंगी को थोड़ा टाइम देंगे। वहीं लोग अब धीरे-धीरे महामारी के कारण कई तरह की परेशानियों से जूझ रहे हैं। इसका असर अब लोगों की सेक्स लाइफ पर भी पड़ा है।

महामारी के कारण कई तरह के बदलाव हुए हैं।  एक्सपर्ट की मानें तो महामारी के कारण लोगों में तनाव बढ़ रहा है, जिसका सीधा असर लोगों की सेक्स लाइफ पर पड़ा है। लोगों में सेक्स की इच्छा कम हो रही है। अब जब पूरी दुनिया महामारी से कारण अपनी जीविकायापन को लेकर परेशान है। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि क्या दोबारा से एक बार फिर कपल्स अच्छी सेक्स लाइफ की शुरुआत कर सकते हैं।

इन विषयों  पर लगातार शोध किए जा रहे हैं। जिससे महामारी के दौरान लोगों की सेक्स लाइफ के बारे में पता लगाया जा सके। सोशल साइकोलॉजी एंड पर्सनैलिटी साइंस नामक पात्रिका में छपे एक शोध के अनुसार जो कपल्स सप्ताह में एक बार सेक्स करते थे। वो लोग उन लोगों को मुकाबले ज्यादा संतुष्ट है जो कम सेक्स करते थे। रिसर्च के दौरान यह पाया है कि जो कपल्स सप्ताह में में एक बार से ज्यादा सेक्स करते हैं उनके संबंधों में भी कुछ खास फर्क नहीं पड़ा।

और पढ़ें: जाने क्या होती है हेलिकॉप्टर पैरेंटिंग और कैसे होती है यह बच्चों के लिए नुकसानदेह

महामारी के इस दौर में जब लोग बहुत परेशान है ऐसे में एक्सपर्ट के अनुसार रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए कपल्स को आपस में  यौन संबंधी बातें करनी चाहिए। जिससे दोनों के बीच एक रोमांटिक माहौल बनें। इतना ही नहीं दोनों के बीच यौन इच्छाएं बरकरार रहें।

लोगों की सेक्स लाइफ पर किए गए रिसर्च में रिसर्चर ने पाया कि इटली, भारत और अमेरिका में साल 2020 में लगाए लॉकडाउन के सीधा असर लोगों की सेक्स लाइफ पर पड़ा है। जिसके अनुसार एक बार भी सेक्स करने वाले पार्टनर में कमी आई है।

बीबीसी में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार लॉकडाउन और सेक्स के बारे में टेक्सस विश्वविद्यालय के असिस्टेंट प्रोफेसर और साइकोलॉजिस्ट रोएंडा बल्जारिनी का कहना है कि लॉकडाउन के शुरुआती दिनों में लोग खुश थे। एक दूसरे की मदद भी कर रहे थे। यहां तक की लोग अपने पड़ोसी की मदद बिना किसी रुकावट की करते थे।

लेकिन समय के साथ संसाधनों में कमी आ गई। लोगों में तनाव बढ़ने लगा। लोग निराशा और अवसाद में चले गए। जिसका सीधा असर लोगों की निजी जिदंगी और रिश्तों पर पड़ने लगा। बल्जारिनी और उनके साथी द्वारा की गई एक स्टडी में  यह भी पाया गया है  कि महामारी के शुरुआती दिनों में 18 साल से अधिक उम्र के लोगों में आर्थिक मोर्चे की चिंताओं ने सेक्स की इच्छा को और बढ़ा दिया था । लेकिन जैसे-जैसे स्थिति बदली, लोगों मे तनाव, अकेलापन के कारण सेक्स की इच्छा कम होती गई।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
मनोरंजन

जाने ऋषि कपूर के उन यादगार किरदारों के बारे में, जिनसे वो सभी लोगों के दिलों में सदा रहेंगे जिन्दा

जाने ऋषि कपूर के बेस्ट किरदारों के बारे


बॉलीवुड और एक्टिंग की दुनिया के पावरहाउस ऋषि कपूर आज हम सभी के बीच नहीं है। लेकिन उनके द्वारा निभाए गए किरदार आज भी लोगों के जेहन में ताजे फूलों की महक की तरह जिन्दा है। क्योंकि ऋषि कपूर की एक्टिंग इतनी अच्छी थी कि लोग अपनी पुरानी यादों को भूलकर उनकी एक्टिंग के कायल हो जाया करते थे। ऋषि कपूर को बॉलीवुड इंडस्ट्री का एक बेहतरीन कलाकार समझा जाता है भले ही आज ऋषि कपूर हमारे बीच नहीं है लेकिन उनकी यादे और उनके किरदार आज भी लोगों के दिलों में है जिन्हे वो कभी भूल नहीं सकते।

मेरा नाम जोकर: अगर हम ऋषि कपूर के बॉलीवुड करियर की बात करें तो वैसे कहा जाता है कि ऋषि कपूर ने बॉलीवुड में डेब्यू फिल्म ‘बॉबी’ से किया था। लेकिन स्क्रीन पर उनका डेब्यू ‘मेरा नाम जोकर’ से ही हो गया था। इस फिल्म में ऋषि कपूर ने पिता और फिल्म के लीड हीरो, राज कपूर के बचपन का रोल प्ले किया था।

बॉबी: फिल्म बॉबी में ऋषि कपूर ने एक हीरो के तौर पर शानदार डेब्यू किया था। जो कि एक ब्लॉकबस्टर फिल्म साबित हुई थी। इस फिल्म से ही ऋषि कपूर सभी जवां दिलों की धड़कन बन गए थे। इस फिल्म के बाद ऋषि कपूर युवा लड़कियों के मोस्ट फेवरेट तो वही यंग लड़कों के बॉलीवुड आइडियल बन गए थे। इतना ही नहीं आपको बता दे कि इस फिल्म के लिए ऋषि कपूर को बेस्ट एक्टर का फिल्मफेयर पुरस्कार भी मिला था।

और पढ़ें: 90’s के बेस्ट किड्स सीरियल जो दिलाते हैं आपको अपने बचपन की याद

दो दुनी चार: ऋषि कपूर और नीतू कपूर की जोड़ी बॉलीवुड की टॉप जोड़ियों में से एक है। दोनों कई फिल्मों में साथ काम कर चुके है। लेकिन लम्बे समय बाद दोनों ”दो दुनी चार’ में साथ नजर आये थे। तो लगा ही नहीं कि कोई स्टार जोड़ी है। इस फिल्म में दोनों ने एक मिडिल क्लास कपल के रूप में आम जिंदगी की परेशानी को बखूबी दिखाया था।

नॉट आउट: अमिताभ बच्चन और ऋषि कपूर ने कई फिल्मों में स्क्रीन शेयर की है। लेकिन फिल्म ‘नॉट आउट’ बाकि फिल्मों से अलग है क्योंकि इस फिल्म में दोनों एक्टर्स ने बाप बेटे का रोल निभाना था। इस फिल्म में अमिताभ बच्चन ने 105 साल के पिता का और ऋषि कपूर ने 75 साल के बेटे का रोल निभाया है। इस फिल्म में दोनों की जुगलबंदी, डायलॉग टाइमिंग और शानदार एक्टिंग ने लोगों को खूब इंप्रेस किया था।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
काम की बात करोना

कोरोना की दूसरी लहर में : घर पर रहें अपने और अपनो के लिए

The second wave of Corona battered India


दिंसबर के महीने की कड़कती ठंड में जब पहली बार लोगों ने कोरोना का नाम सुना था। तब जहन में बस एक ही बात थी यह सिर्फ चीन के वुहान में एक बीमारी है। जो समय के साथ ठीक हो जाएंगी। लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ ब्लकि धीरे-धीरे करके सारी दुनिया इसकी चपेट में आ गई। कहीं अस्पतालों में बेड की कमी दिखी तो कहीं श्मशान घाट में पड़े लाशों की ढेर। हर चीज ने लोगों का दिल दहल दिया। डरमौत का डर लोगों के जहन में इस कदर भर गया कि इंसान-इंसान से दूरी बनाने लगा। हर कोई इससे निजात पाना चाहता था। लगभग एक साल बाद अब इसकी दूसरी लहर देश में शुरु हो गई है। आईये जानते हैं इन दोनों में क्या अंतर है

एक दिन में एक लाख केस

सितंबर 172020 को पहली वेब में एक दिन में 98 हजार केस आएं थे। अप्रैल 2021 में एक दिन में दो लाख केस आएं है. सारा अंतर यही से समझ में आ रहा है।  पिछले साल आठ हजार केस से 97 हजार केस पहुंचने में 100 दिन लग गए थे। वहीं इस बार  इससे आधे टाइम में दूसरी वेब के दौरान एक लाख तक केस पहुंच गए हैं। यह लोगों को ज्यादा इंफेक्ट कर रहा है।  लेकिन मौत का आंकड़ा  पहले के मुकाबले इस बार कम है क्योंकि डॉक्टर की मानें तो अभी तक सेकेंड वेब पिक तक नहीं पहुंच पाई है। जहां पहली वेब में एकदिन में 1200 लोगों की मौत हुई थी।  वहीं दूसरी वेब में अभी तक 700 लोगों की ही मौत हुई है। पहली वेब में 50 से ज्यादा उम्र वालों पर इसका असर रहा था। वहीं दूसरी बेव में देखा जा रहा है कि यह 40 साल से कम उम्र वाले लोगों  पर ज्यादा आक्रामक हो रहा है। जिसके कारण मौतों की संख्या बढ़ने की उम्मीद की जा रही है। सोचने वाली बात यह है कि जिन राज्यों में पहली वेब के दौरान ज्यादा केस आ रहे थे। उन्हीं में दूसरी लहर में भी आ रहे हैं। इसका एक कारण टेस्टिंग भी है क्योंकि जितनी ज्यादा टेस्टिंग होगी उतना ही लोगों को डिटेक्ट किया जाएगा।  

और पढ़ें: Rafale deal controversy: अनिल अंबानी के बाद अब मिडिल मैन का ट्विस्ट आया राफेल सौदे में

पिछली बार लॉकडाउन इस बार नाइट कर्फ्यू

भारत मे पहला केस 30 जनवरी 2020 में आया था। जिसके बाद लगातार बढ़ते केसों के बीच आज देश में 1,42,94,899 कन्फर्म केस हैंजिसमें से 15,69,465 एक्टिव केस हैं। इन दोनों वेब में काफी सारा अंतर देखा जा सकता है। पहली वेब में लोगों को पहले ही  घरों में बंद करवा दिया गया। ताकि इस पर नियंत्रण पाया जा सके। सरकार द्वारा मार्च 2020 में लॉकडाउन लगा दिया गया था। जिसके बाद लोगों के अंदर इसको लेकर एक डर समा गया था। न कोई किसी के घर जाता और न ज्यादा मार्केटयहां तक की हाथ धोने की आदत ने लोगों के साफ सुथरा रहना सिखा दिया। लोग कहीं भी बाहर निकलते तो पूरी तरह से अपनी सेफ्टी की ध्यान  रखतें है। यहां तक ही गांवकस्बों में भी लोग अलर्ट थे। लेकिन दूसरी लहर में लोग पूरी तरह से निश्चित हैं। कई लोग तो सबसे जरुरी मास्क का भी इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं। चूंकि लोग लॉकडाउन की मार को झेल चुके हैं। इसलिए कमाने खाने के लिए घरों से बाहर निकल रहे हैं। जहां पिछली बार लॉकडाउन लगा था वहीं इस बार नाइट कर्फ्यू पर ज्यादा जोर दिया जा रहा है। ताकि अपनी आजीविका से भी वंचित न हो।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
वीमेन टॉक

जानें कौन है मनदीप कौर, जो न्यूजीलैंड में बनी पहली भारतीय मूल की पुलिस सर्जेन्ट

टैक्सी ड्राइवर से ऑफिसर बनने तक का सफर


  आज भारतीय विश्व के हर कोने में अपना परचम लहरा रहे हैं।  इस पंक्ति में महिलाएं भी पीछे नहीं हैं। जहां सुंदर पिचई जैसे पुरुष गूगल के सीईओ बनकर भारत का नाम रोशन कर रहे हैं। वहीं इस कड़ी में महिलाएं भी आगे आ रही हैं। मनदीप कौर भी ऐसी ही एक भारतीय मूल की महिला है जो आज न्यूजीलैंड में भारत का नाम और ऊंचा कर रही है। तो चलिए आज आपको मनदीप कौर के बारे में  बताते हैं।

Image Source- Women economic forum

सीनियर सर्जेन्ट बनी मनदीप कौर

टैक्सी ड्राइवर से पुलिस सर्जेंट बनी मनदीप आज भारत का गर्व है। वह न्यूजीलैंड में भारत की पहली महिला पुलिस सर्जेंट बनी है। इसके लिए उनकी नियुक्ति मार्च महीने में हुई थी।  न्यूजीलैंड की मीडिया के अनुसार 52 वर्षीय मनदीप ने अपने करियर की शुरुआत 17 साल पहले की थी। उसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और आज वह कई भारतीय के लिए प्रेरणा का स्त्रोत है। मनदीप के पुलिस सर्जेंट बनने पर न्यूजीलैंड में भारत के उच्चायुक्त मुक्तेश परदेशी ने उन्हें गुरु देव जी की एक किताब तोहफे में दी। आज मनदीप न्यूजीलैंड मे फ्रंन्टलाइन सर्जेंट है। इसके अलावा वह घरेलू हिंसा और जांच में सहायक के तौर पर काम कर रही हैं।  इतना ही नहीं वह लोगों से लगातार मिलती हैं  और उन्हें उनकी परेशानियों के लिए सलाह भी दी हैं। इससे पहले उन्होंने न्यूजीलैंड में पुलिस के लिए भांगड़ा ग्रुप भी बनाया था। जहां वह स्वयं लोगों को भांगड़ा सीखती थी।

और पढ़ें:Dancing Dadi: जानें आखिर कौन है रवि बाला जो डांसिंग दादी के नाम से फेमस हैं.

न्यूजीलैंड में पहले टैक्सी चलाई

न्यूजीलैंड में अपने करियर के शुरुआती दौर में मनदीप ने न्यूजीलैंड  में टैक्सी चलाई। इस दौरान उनकी मुलाकात एक शख्स से हुई मनदीप की कद कठी को देखते हुए उन्होंने उन्हें पुलिस में ज्वांइन होने के लिए प्रेरित किया, और यही से शुरु हुआ उनकी जिदंगी में बदलाव का। मनदीप की जिदंगी में उसके धर्म ने अहम रोल अदा किया है। वह गुरुद्वारे में रोज भजन-कीर्तन करने जाया करती थी। लेकिन पुलिस की नौकरी करने के लिए बहुत सी विपरीत परिस्थितियों से होकर गुजरना पड़ता था। क्योंकि वह गुरुद्वारा में भजन गाया करती थी, इसलिए इस नौकरी के लिए उन पर सामजिक प्रेशर भी पड़ रहा था। लेकिन मनदीप के घरवालों इस मुश्किल दौर में उनका खूब साथ दिया।

कौन है मनदीप कौर?

मनदीप मूल रुप से पंजाब के चंडीगड की रहने वाली है। मात्र 18 साल की उम्र में ही उनकी शादी कर दी गई थी। साल 1992 में उनकी यह शादी टूट गई। इसके  बाद शुरु हुई मनदीप की असली परीक्षा, उन्हें अपने साथ-साथ दो बच्चों को भी पालना था। वह 1996 में ऑस्ट्रेलिया  गयी। उस वक्त उनके पास न तो कोई डिग्री थी और न ही उन्हें अंग्रेजी बोलने आती थी। इन दौरान उन्होंने सबसे पहले एक सेल्समैन की जॉब की। उसके बाद 1999 में वह न्यूजीलैंड आई और टैक्सी चलानी लगी और यही से शुरु हुई उनकी जिदंगी की एक और पारी, जहां आज वह कई महिलाओं के लिए प्रेरणा का स्त्रोत बन गई हैं।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

work from home ideas: घर से काम करने पर भी कैसे बने रहे Productive?

Work From Home कर रहे हैं तो कैसे बने रहे Productive


Work from home ideas: कोरोना इस  समय भारत मे तीसरे स्टेज पर हैं यानी अभी कोई Community Infection नही हैं और इसे आगे बढ़ने से रोकने लिए लोग घर से ही काम कर रहे हैं. कोरोना न ही एक हेल्थ आपदा हैं बल्कि  पूरे विश्व के लिए economic आपदा भी हैं, ऐसे मे जरूरी ही कि  हम सब एक दूसरे का साथ दे.  सरकार लोगों को हिदायत दे रही हैं कि वो घरो से काम करे. अगर आप भी कर रहे हैं Work from home तो इन बातों का रखे ध्यान
1. अलास न करे : घर से काम करने का मतलब ये नही कि  आप अलास करे. काम करे और distractions को कहें न
2. Panic न करे : क्यूंकी आप घर पर हैं, छोटे – मोटे काम करना लाजमी हैं तो टाइम मेनेज करे और panic न हो.
3. फ़ोन पर रहे उपलब्ध : आपकी टीम को आपकी कभी भी जरूरत पड सकती हैं, ऐसे मे जरूरी हैं कि  आप फ़ोन पर रहे उपलब्ध.

और पढ़ें: COVID 19 outbreak के दौरान क्यो ज़रूरी हैं Emotional Health को चेक मे रखना ?

4. सुबह करे एक मीटिंग और आपस मे करे काम delegate : सुबह एक बार मीटिंग करे ले और काम कर ले आप delegate .
5. दिन के अंत मे दे अपना अपडेट : बहुत जरूरी हैं कि दिन के अंत मे आप अपने मेनेजेर को दे अपना अपडेट. ताकी communication  में न आये कोई भी गैप.
अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com
Categories
सेहत

COVID 19 outbreak के दौरान क्यो ज़रूरी हैं Emotional Health को चेक मे रखना ?

कैसे रखे अपनी emotional health को चेक मे ?


कोरोना का कहर तो पूरा विशव देख रहा हैं. जहां देखो वही कोरोना की बात. लोगो से लेकर सोशल मीडिया तक. ऐसे मे लोगो मे डर इतना ज़्यादा हैं कि ज़रा सी खांसी  को भी लोग कोरोना समझ रहे हैं. भारत मे  ये खतरनाक virus अभी दूसरे चरम पर हैं और अब भी देश के पास 30 दिन हैं इसे महामारी बनने से रोकने के लिए. ताजा आकडो की बात करे तो अब तक 153 मामले सामने आये हैं.
लोगो मे डर हैं ऐसे मे ज़रूरी हैं कि हम अपनी emotional health का भी ख्याल रखे. यहां हैं पांच तरीके जिस से आप रख सकते हैं अपना मुड लाइट:
1. अपने खास लोगों से बात करे:  फ़ोन करे और बात करे. पुरानी यादे ताजा करे और अच्छी बाते करे. जितना हो सके कोरोना की बात न ही करे.
2. अच्छा  खाना बनायें और फैमिली के साथ करे enjoy:  घर का खाना भी अच्छा लगता हैं अगर सब साथ हो. अभी मौका भी हैं सब घर पर हैं तो अच्छा खाना बनायें  और खाये. साथ मे फिल्म देखे और games खेले.

और पढ़ें: कोरोना का दुनिया भर में कहर: Self Quarantine के दौरान कैसे करें समय utilise?

3. सोशल मीडिया को कहे न: ज़्यादा फेक खबरे देखने से negativity ही होती हैं ऐसे मे थोड़ा ब्रेक ले और सोशल मीडिया से दूरी बना ले.
4. Gardening करे: plants का रखे ख्याल ये आपको अच्छा फील  कारवाने मे मदद करेगा.
5. Meditation करे: थोड़ा ध्यान लगाये. ये आपके दिमाग को शांत रखेगा और आपको positve फील करने मे करेगा मदद.
आखिर मे एक चीज याद रखे “बुरे दिन के बाद अच्छे दिन आते हैं” ये ग्लोबल आपदा हैं इस भी डरना नही हैं बल्की लड़ना हैं.
अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com
Categories
मनोरंजन

Beyhadh 2 update: रुद्र को छोड़ माया करेगी विक्रम से शादी?

Beyhadh 2 बेहद बड़ा Twist कर देगा आपको shock!


 
TRP के चलते बेहद 2 का समय बदल कर 10:30 बजे से कर दिया गया हैं. काफी दिनो से शो की बंद होने की खबरे आ रही थी पर शो की लीड Jennifer Winget ने इसी  झूठ बताया और अब शो मे आ गया हैं बेहद बड़ा twist . शो मे आया हैं 1 साल का लीप. माया और रुद्र हो गए हैं जुदा. यहां रुद्र चाहता हैं माया से बदला और माया को नही हैं कुछ भी याद. 
 
आपको बता दे कि आने वाले episode मे माया कर लेंगी विक्रम से शादी. माया के पैर भी हो गए हैं खराब. अब ऐसे मे देखना होगा की बेहद नफरत जीतेगी या फिर बेहद प्यार. क्या रुद्र और माया के प्यार की दास्तां  रह जायेगी अधूरी? माया के  मायाजाल का क्या  होगा अंजाम और कैसे लेगी माया MJ से अपना बदला?
 

और पढ़ें: बॉलीवुड हस्तियाँ जिन्होंने बच्चों को गोद लेकर बेहतर जीवन दिया

Jennifer का खूबसूरत फोटोशूट 

Jennifer ने हाल मे ही एक खूबसूरत फोटोशूट करवाया  हैं और अपने फैसं को बेहद जरूरी मेसेज दिया और घरो मे रहने की हिदायत दी हैं. Jennifer ने लोगो से अनुरोध किया की कुछ दिनो की बात हैं ऐसे मे बाहर जाने से बचे और अपना ख्याल रखे. 
 
अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
लाइफस्टाइल

कोरोना का दुनिया भर में कहर: Self Quarantine के दौरान कैसे करें समय utilise?

कोरोना की वजह से दुनिया भर में हुआ ‘lockdown’


पिछले कुछ समय से दुनिया कोरोना के डर में जी रही है। चीन से शुरू होकर, अब 148 देश इस बीमारी की चपेट में आ चुके हैं। अब तक इस बिमारी से मरने वालो की संख्या 7000 तक हो गई है। भारत में भी अब तक 125 लोग इसकी चपेट में हैं। सरकार द्वारा 31 मार्च तक सभी स्कूल और कॉलेज बंद करने के आदेश दिये गए हैं। ऐसे में लोग खुद को किसी भी तरह की सोशल मीटिंग से दूर रख रहे हैं। अगर आप भी Self Quarantine कर रहे हैं और सोच रहे हैं कि आखिर कैसे क्रेन समय Utilise? तो हम ले आये हैं कुछ खास Ideas

1. किताब पढ़े: अगर आप बहुत दिनों से कोई किताब पढ़ने की सोच रहे थे तो ये है सब से सही वक़्त। तो देर किस बात की?

2. अपने खास लोगों से करें बात: समय की कमी के चलते आप नहीं दे पा रहे थे अपने New Relationship को टाइम तो अब तो आपके पास समय ही समय हैं। करीये बेहिसाब बाते.

3. NetFlix & chill: काफी दिनों. से अगर कोई सीरीज बाकी रह गई तो फिक्र नॉट ये समय करीये अच्छे से utilise

4.खुद का रखें ख्याल: बाहर जाना मना है पर घर पर तो आप रख सकती हैं अपना ख्याल, फेसपेक बनाएं और चेहरे पर लगाएं। बालो को करें nourish.

5. ऑफिस के काम को पूरा करें: इन सब के बीच बस काम करना न भूले, पूरा काम करें और नयी Plannings पर काम करें!

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com