भारत

एयरफोर्स डे: खतरों से निपटने के लिए बड़े सुधार की जरुत- अरुप राहा

एयरफोर्स डे: खतरों से निपटने के लिए बड़े सुधार की जरुत- अरुप राहा


एयरफोर्स डे: खतरों से निपटने के लिए बड़े सुधार की जरुत- अरुप राहा:- आज इंडियन एयरफोर्स का 84वां स्थापना दिवस है। इस मौके पर एयरफोर्स डे मनाया जा रहा है। एयरफोर्स दिवस दिल्ली से सटे गजियाबाद के हिंडन एयबेस पर मनाया जा रहा है।

इस मौके पर एयर चीफ मार्शल अरुप राहा भी मौजूद थे। राहा ने ही परेड का अगुवाई है। इसके साथ ही थलसेना चीफ दलबीर सिंह सुहाग भी वहां मौजूद थे। इसके लिए प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी और राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने सेना को बधाई दी।

खतरों से निपटने के लिए बड़े सुधार की जरुरत

इस मौके पर राहा ने कहा कि हमें खतरों से निपटने के लिए बड़े सुधार करने होगें। पठानकोट हमले का जिक्र करते हुए एयर चीफ मार्शल ने कहा ‘पठानकोठ एयरबेस पर हुआ हमला इस बात की ताकीद करता है कि हम कितने मुश्किल समय में जी रहे है। अगले कुछ सालों में 36 राफेल विमानों के अधिग्रहण से निकट भविष्य में हमारे परिचालन क्षमता में वृद्धि होगी।’

एयरफोर्स डे: खतरों से निपटने के लिए बड़े सुधार की जरुत- अरुप राहा
करतब दिखाते जवान

एयरफोर्स के इस कार्यक्रम की शुरुआत आकाश गंगा की टीम ने 2000 फीट की ऊंचाई से पैराशूट से कार्यक्रम स्थल पर उतर कर की। आकाश गंगा की टीम का नेतृत्व वायुसैनिक गजानन यादव ने की।

इसके बाद हवा में तरह-तरह की करतब दिखाकर सेना ने वाहवाही लुटी। इसके बाद वायु सैनिकों ने सुंदर मार्च पास्ट किया। इस मौके पर निशान टोली की खूबसूरती देखते ही बनती थी। एयर वोरियर रायफल ने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया।

तरह-तरह के करतब दिखाए वायुसेना ने

वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने हवा में करतब दिखाये। हवा में करतब दिखने वाले विमानों ने हरकुलिस सी 13 ए मिग, 29 सुखोई सी 17 ग्लोवल मास्टर, जागुआर तथा सारंग थे। दो साल बाद हवाई परेड में शामिल हुआ सारंग ने सबके दिल जीत लिए।

इसके बाद सबसे पुराने विमानों से लेकर दुनिया के सबसे आधुनिक फाइटर एयरक्राफ्ट में से सुखोई आसमान में अपनी ताकत को लोहा दिखाया। पहली बार फ्लाई पास्ट में स्वदेशी लड़ाकू विमान तेजस भी शिरकत किया।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Back to top button