इस किले पर आज तक नहीं हुई फतह हासिल

0
45

समुद्र के बीच बसे एक ऐतिहासिक किले की कहानी


ये तो आप मानते ही होंगे की भारत में प्राचीन रहस्यों की कोई कमी नहीं है क्योंकि हमारा इतिहास ही इतना प्रभावशाली और रहस्यमयी रहा है की जितना जानों उतना कम है। आज हम आपको ऐसे ही एक रहस्य के बारे में बताने जा रहे है। ये किस्सा है एक ऐसे किले का जिसने कई बड़ी लड़ाईयां देखी पर फिर भी ये किला अजेय रहा है। तो जानते है इसके पीछे
का रहस्य। पानी के बीच मौजूद है ये किलाये है महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के मुरुद गांव में स्थित मुरुद-जंजीरा फोर्ट जो अपनी बनावट के लिए जाना जाता है। चारों तरफ से पानी से घिरे होने की वजह से इसे आईलैंड फोर्ट भी कह सकते है। ये आइलैंड फोर्ट भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया में अपनी बनावट के लिए मशहूर है और हर साल इसे देखने के लिए लाखो सैलानी आते है.ऐसा किला दोबारा न बना इसके नाम में ही इसकी खासियत छिपी है दरअसल जंजीरा अरबी भाषा के ‘जजीरा’ शब्द से बना जिसका अर्थ होता है टापू।

आपको बता दें इस किले का निर्माण एक ख़ास वजह से किया गया था। लगभग 22 एकड़ में फैले इस किले का निर्माण कार्य 22 वर्षों में पूरा हुआ था। इसमें 22 सुरक्षा चौकियां है।जंजीरा किला समुद्र के बीच बना हुआ है और चारों ओर से खारे पानी से घिरा हुआ है। समुद्री तल से लगभग 90 फीट ऊंचे किले में शाह बाबा का मकबरा बन हुआ है और इसकी नींव 20 फीट गहरी है। इस किले की सुरक्षा के लिए 22 तोपें तैनात की गई थीं, 350 वर्ष पुराने इस किले में सिद्दीकी शासकों की तोपें आज भी मौजूद हैं। किले को जीतना नामुमकिन था समुन्द्र के बीच स्थित इस किले में कई लोगो ने अपनी नज़र डाली लेकिन यहाँ की सुरक्षा प्रणाली और समुद्र के बीच स्थित होने के कारण कोई भी बड़े बड़ा राजा यहाँ विजय प्राप्त नहीं कर पाया।

दुश्मन कभी किले के अंदर भी नहीं पहुंच पाए। बताया जाता है की युद्ध में इस्तेमाल की गयी तोपें आज भी किले में अपनी सही जगह पर रखीं हुई हैं. इस किले को देखने के लिए आपको सबसे नजदीकी एयरपोर्ट मुंबई पड़ेगा। आपको इस ऐतिहासिक किले पर एक बार अवश्य नज़र डालनी चाहिए

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments