Categories
बॉलीवुड

तान्हाजी’ video क्लिप में PM मोदी दिखे शिवाजी के रूप में हो गया बवाल

तान्हाजी’ video क्लिप में PM मोदी दिखे : खूब मच रहा है बवाल


बॉलीवुड फिल्म ‘तान्हाजी- द अनसंग वॉरियर’ (Tanhaji) शुरू से कॉन्ट्रोवर्सीज का हिस्सा बन रही हैं। हालाँकि, इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा रखा हैं लेकिन हाल ही सोशल मीडिया पर एक ऐसी वीडियो क्लिप सामने आयी है जिसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) को छत्रपति शिवाजी  और केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह को तान्हाजी के रूप में दिखाया गया है। इस वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होने से बवाल मचा हुआ हैं।

वीडियो क्लिप –  प्रधानमंत्री मोदी दिखे शिवाजी और अमित शाह दिखे तान्हाजी

सोशल मीडिया पर ‘तान्हाजी- द अनसंग वॉरियर’ (Tanhaji) के एक वीडियो ने धमाल मचा रखा हैं। इस वीडियो में नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) को छत्रपति शिवाजी और केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह को तान्हाजी के रूप में दिखाया गया है। इस वीडियो की हर जगह निंदा की जा रही हैं। इस वीडियो  के बारे में महाराष्ट्र के गृह मंत्री और राकांपा नेता अनिल देशमुख ने वीडियो की निंदा करते हुए कहा कि सरकार यूट्यूब के साथ इस मुद्दे को उठायेगी।गृह मंत्री देशमुख ने कहा, ‘‘मैं राजनीतिक लाभ लेने के लिए इतना नीचे गिरने के लिए भाजपा की निंदा करता हूं। (राजनीतिक फायदे के लिए) शिवाजी महाराज, तान्हाजी का इस्तेमाल करना गलत है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम इस मुद्दे को यूटयूब के समक्ष उठायेंगे।’’

कब वायरल हुआ वीडियो क्लिप?

/> यह वीडियो क्लिप सबसे पहले ट्विटर हैंडल ‘पॉलिटिकल कीड़ा’ पर पोस्ट की गई।  इसमें दिल्ली के प्रधानमंत्री मोदी को शिवाजी, अमित शाह को तान्हाजी और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को उदयभान सिंह राठौड़ के रूप में दिखाया गया है। गृह मंत्री देशमुख  के पास इस वीडियो के बारे में शिकायतें आयी हैं।

क्या कहना है शिवसेना का?

शिवसेना के नेता संजय राउत ने पत्रकारों को बताया कि उनकी पार्टी छत्रपति शिवाजी का इस तरह का ‘‘अपमान’’ सहन नहीं करेगी। उन्होंने पूछा कि जिन लोगों ने उनकी टिप्पणी के खिलाफ विरोध किया, वे अब क्लिप को लेकर चुप क्यों हैं। भाजपा ने वीडियो क्लिप से दूरी बनाते हुए कहा कि यह पार्टी से संबंधित नहीं है और वह छत्रपति शिवाजी के साथ कभी भी किसी की तुलना नहीं करेगी। शिवसेना के नेता संजय राउ ने कहा कि उनकी पार्टी अपने ‘‘देवता’’ शिवाजी महाराज का अपमान सहन नहीं करेगी। अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
हॉट टॉपिक्स

Maharashtra politics news updates: महाराष्ट्र में महा ड्रामा: एक और ट्विस्ट के चलते बीजेपी को पेश होना होगा सुप्रीम कोर्ट में

Maharashtra politics news updates: अजित पवार को मनाने में जुटी NCP


Maharashtra politics news updates: महाराष्ट्र में नई सरकार को लेकर अभी भी वॉर जारी है।  शनिवार को देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री और अजित पवार ने उप-मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, जिसका शिवसेना-कांग्रेस और एनसीपी ने विरोध  किया है।  अब यह मामला सुप्रीम कोर्ट में पहुंच गया है।  सुप्रीम कोर्ट में शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी ने याचिका दाखिल कर महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के उस आदेश को रद्द करने की मांग की है जिसमें उन्होंने सूबे में सरकार बनाने के लिए देवेंद्र फडणवीस को आमंत्रित किया था। आज इस मामले पर जस्टिस एनवी रमना, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस संजीव खन्ना की बेंच सुनवाई करेगी। यह सुनवाई सुप्रीम कोर्ट की कोर्ट नंबर 2 में रविवार सुबह 11:30 बजे से होगी

NCP का 51 विदायको का दवा:

51 विधायकों के हस्ताक्षर के साथ एनसीपी विधायक दल के नेता जयंत पाटील राजभवन पहुंचे हैं। जयंत पाटील का कहना है कि राज्यपाल ‘भगत सिंह कोश्यारी’ दिल्ली में हैं, ऐसे में उनसे मुलाकात नहीं हो पाई है।

थोड़ी देर में शुरू होगी सुनवाई:

महाराष्ट्र मामले पर थोड़ी देर में सुनवाई शुरू होने वाली है और दोनों पक्षों के लोग कोर्ट पहुंचने लगे हैं। महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता पृथ्वीराज चव्हाण, रणदीप सुरजेवाला, अभिषेक मनु सिंघवी अभी सुप्रीम कोर्ट पहुंचे हैं। अभिषेक मनु सिंघवी से पत्रकारों ने सवाल किया तो वह बिना कोई प्रतिक्रिया दिए मुस्कराते हुए आगे बढ़ गए।

और पढ़ें: फडणवीस फिर बने महाराष्ट्र के सीएम, अजित पवार बने डिप्टी सीएम

मुंबई होटल में शिफ्ट हुए कांग्रेस विधायक:

कांग्रेस के विधायकों को अब जयपुर नहीं भेजा जाएगा। 30 विधायकों को मुंबई के JW मेरिएट होटल में शिफ्ट किया गया है।

सुप्रीम कोर्ट में होगा आज फैसला:

शनिवार सुबह अचानक बीजेपी सरकार ने शपथ दिलाने के खिलाफ शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट रविवार को सुबह 11.30 बजे सुनवाई करेगी। शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस शनिवार शाम सुप्रीम कोर्ट पहुंची और नई सरकार को 24 घंटे के भीतर बहुमत साबित करने का निर्देश देने की अपील की थी। बीजेपी से नाता तोड़ चुकी पार्टी ने इस मामले में शीर्ष अदालत से शनिवार ही रात याचिका पर सुनवाई करने का अनुरोध किया है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
हॉट टॉपिक्स

Devendra Fadnavis becomes CM: फडणवीस फिर बने महाराष्ट्र के सीएम, अजित पवार बने डिप्टी सीएम

Devendra Fadnavis becomes CM: बीजेपी ने एनसीपी के साथ मिलकर बनाई सरकार


Devendra Fadnavis becomes CM: महाराष्ट्र में किस की सरकार बनेगी इस पर विराम लग चुका है। जी हाँ, बीजेपी ने एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बना ली है और महाराष्ट्र का नया सीएम देवेंद्र फडणवीस को बना दिया गया है। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने देवेंद्र फडणवीस को सीएम पद की शपथ दिलाई। साथ ही अजित पवार को डिप्टी सीएम बना दिया गया है।

आपको बता दें की शपथ लेने के बाद देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि महाराष्ट्र की जनता ने एक बार फिर उनपर भरोसा कर अपना सही फैसला किया है। हमारे साथ लड़ी शिवसेना ने उस जनता को नकार कर दूसरी जगह गठबंधन बनाने का प्रयास किया। महाराष्ट्र को स्थिर शासन देने की जरूरत थी। महाराष्ट्र को स्थायी सरकार देने का फैसला करने के लिए अजित पवार को धन्यवाद।

और पढ़ें: राजनाथ सिंह की अगुवाई वाली रक्षा कमेटी में साध्वी प्रज्ञा को मिली बड़ी जिम्मेदारी

पीएम मोदी ने  देवेंद्र फडणवीस को सीएम बनने पर दी बधाई

महारष्ट्र का फिर सीएम बनते ही देवेंद्र फडणवीस को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बधाई दी। पीएम मोदी ने बधाई देते हुए कहा की देवेंद्र फडणवीस जी और अजित पवार जी को मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने पर बधाई। मुझे विश्वास है कि वे महाराष्ट्र के उज्ज्वल भविष्य के लिए लगन से काम करेंगे।

महाराष्ट्र में विधानसभा के 288 सीटों के लिए 21 अक्टूबर को चुनाव हुए थे। वही राज्य में किसी पार्टी या गठबंधन के सरकार बनाने का दावा पेश नहीं करने की वजह से राज्य में 12 नवंबर को राष्ट्रपति शासन भी लगा दिया गया था।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
पॉलिटिक्स

LK ADVANI BIRTHDAY: बीजेपी को शुन्य से शिखर तक पहुंचने वाले लाल कृष्ण अडवाणी बना रह है अपना 92 वां जन्मदिन

आखिर क्यों बुलाते थे अडवाणी को आयरन मेन


LK Adwani birthday : देश के पूर्व ग़ृह मंत्री और भाजपा को शुन्य से शिखर पर पहुंचने वाले एल.के अडवाणी मना रहे है आज अपना 92वां जन्मदिन। अडवाणी जी ने अपने जीवन की शुरुआत सवयंसेवक कार्यकर्ता के रूप में की थी और इतना ही नहीं अडवाणी ही रामजन्म भूमि के आंदोलन का चेहरा भी बने थे।

आयरन मेन के नाम से भी जाने जाते हैं अडवाणी:

लाल कृष्ण अडवाणी का जन्म 8 नवंबर 1927 को कराची में हुआ था। उनके पिता का नाम केके अडवाणी था और बंटवारे के बाद उनका परिवार पाकिस्तान से भारत आ गया था। शुरआती शिक्षा अडवाणी की पाकिस्तान में ही हुई थी, लेकिन भारत आने के बाद उन्होंने मुंबई के गवर्नमेंट लॉ कॉलेज से कानून की शिक्षा हासिल की। इन सबके आलावा 1944 में अडवाणी जी ने कराची मॉडल हाई स्कूल में टीचर के तौर पर भी काम किया है। 1965 में अडवाणी जी ने कमला देवी से शादी की।

अडवाणी बीजेपी के तीन बार अध्यक्ष, चार बार राज्य सभा सदस्य और पांच बार लोक सभा सदस्य रह चुके हैं। अडवाणी को उनके कड़े फैसले और आक्रामक अंदाज़ की वहज से आयरन मेन भी कहा जाता है।

यथ यात्रा से बदली देश की राजनीति:

1989 में अयोधया में राम मंदिर के आंदोलन और बाबरी मस्जिद के खिलाफ कार सेवको को इक्कठा किया था और गुजरात के सोमनाथ मंदिर से ये रथ यात्रा शुरू हुई थी जिसने अडवाणी की लोकप्रियता को बड़ा दिया और वो हिंदुत्व के ‘न्यू पोस्टर बॉय’ के रूप में उभरे। अडवाणी की इस रथ यात्रा के ठीक 3 साल बाद ही, यानि 6 दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद को गिरा दिया गया था।

और पढ़ें: रामजनम भूमि: वर्डिक्ट आने से पहले सख्त हुई लोगो की सुरक्षा, तैनात हुई RAF

इस रथ यात्रा ने राजनीति की दिशा ही बदल दी थी, क्यूंकि इस यात्रा के ठीक दो साल बाद यानि की 1991 में बीजेपी एक बार फिर से आम चुनाव में दूसरी बड़ी पार्टी बन कर सामने आई और महज़ 5 साल बाद ही सबसे बड़ी पार्टी के रूप में सत्ता में आई।

अटल बिहारी वाजपेयी के समय अडवाणी दो बार ग़ृह मंत्री बने और उप-प्रधानमंत्री का पद भी संभाला। इससे पहले 1997 में मोरारजी देसाई की सरकार गज्ज नेता मनहोर और अटल भयहारी वाजपेयी के साथ मागदर्शन मंडल में शामिल हो गये। इन सबके आलावा अडवाणी जी ने ‘माई कंट्री, माई लाइफ’ नाम से आत्मकथा भी लिखी है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
हॉट टॉपिक्स

KaamKiKhabar : देश और दुनिया की बड़ी खबर – 24th September

देश और दुनिया की लेटेस्ट खबरें


1. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने पाकिस्तानी आर्मी के अलकायदा को ट्रैंनिंग देने की बात कबूली

आतंकवाद पर इमरान खान ने पाकिस्तान की गलती मानी और कहा पाकिस्तानी आर्मी ने ही किया है आतंकवादियों को ट्रैन। आगे उन्होने कहा की अमेरिका पर भरोसा करना पाकिस्तान की थी सब से बड़ी गलती।

2. बीजेपी-शिवसेना के बीच ताना-तानी बड़ीसंजय राउत ने कहा भारत-पाकिस्तान के बटवारे से भयंकर है स्थिति

महाराष्ट्र में शिवसेना और बीजेपी के बीच सीटों के बटवारे को लेकर शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा महाराष्ट्र की 288 सीटों का बटवारा भारत पाकिस्तान के बटवारे से भी ज़्यादा भयंकर है।  

3. पीएम मोदी ने चीन से मिलने वाली पाकिस्तान को मदद पर किया खुला ज़िक्र

मोदी ने अप्रत्यक्ष रूप से चीन द्वारा पाकिस्तान की मदद किए जाने पर कहा कि आतंकवादियों को किसी भी तरीके से धन और हथियार नहीं मिलने चाहिए।

4. न्यूड पार्टी के पोस्टर पर मचा गोवा में बवालपोस्टर में लिखा विदेशी लड़कियाँ भी आऐगी

सोशल मीडिया पर दो पोस्टर इस न्यूड पार्टी के काफी वायरल हो रहे हैजिस्म इस न्यूड पार्टी का प्रचार हो रहा है। इसमे उत्तर गोवा के मोरजिम समुद्र तट के पास असीमित सेक्स का दावा किया है।

5. RBI का पंजाब-महाराष्ट्र सीओ-ऑपरेटिव बैंक पर लिया एक्शन१००० से अधिक राशि नहीं निकाल पाएंगे खाताधारी

रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया तरह-तरह से पंजाब एंड महाराष्ट्र बैंक के ऊपर पांबंदियाँ लगाए जा रही है और RBI की वहज से ग्राहकों का काफी परेशानी हो रही है। केंद्र बैंक ने बैंक के नियमों का उलंघन किया है। अगले ६ महीने तक ग्राहकों को परेशानी झेलनी पड़ सकती है।

6. मोस्ट पावरफुल वीमेन की सूचि में शामिल हुआ एकता कपूर का नामऑल्ट बालाजी की कामयाबी से मिला रुतबा

फार्च्यून इंडिया की सबसे पावरफुल वीमेन की सूचि में एकता कपूर का नाम जुड़ गया है। दो साल तक एकता कपूर के नाम बस टीवी तक ही सीमित था पर धीरे धीरे एकता कपूर ने वीडियो पलटफोर्म पर भी अपनी पकड़ बना ली।

7. कागज़ात नहीं होने पर भी नहीं कटेगा चलानसरकार ने जारी किया सर्कुलर

सरकार के नए सर्कुलर के मुताबिक कागज़ात नहीं होने के बाद भी आपका चलान नहीं कटेगा। अगर ड्राइवर के पास मोबाइल फोन नहीं है तब भी ट्रैफिक पुलिस अपनी मोबाइल के जरिए आपकी गाड़ी के कागज़ डिजिलॉकर एप पर चेक कर सकती है। आपके ड्राइविंग लाइसेंस या वाहन नंबर के जरिए पुलिस आपके गाड़ी के डॉक्यूमनेट जांच सकती है।

और पढ़ें: देश और दुनिया की लेटेस्ट खबरें

8. शेयर में उतार चढ़ाव बरकरारसेंसेक्स 39 हज़ार के नीच

बीते दो कारोबारी दिन में सेंसेक्‍स में 3000 अंक से अधिक की बढ़त दर्ज की गई है। वहीं इस दौरान निवेशकों को 10 लाख करोड़ रुपये से अधिक का फायदा हुआ है।

9. टल गई है 26-27 को बैंको की हड़तालनहीं होगी अब आम आदमी को परेशानी

आम आदमी के लिए राहत भरी खबर है। बैंकों ने 26 और 27 सितंबर की अपनी हड़ताल को टाल दिया है। पब्लिक सेक्टर के बैंकों के अधिकारियों के यूनियनों ने इस हड़ताल को टाला है।

10. कांग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा ने मोदी की तारीफ कीप्रधानमंत्री ने किया आभार वियक्त

मिलिंद ने कहा की मोदी का टेक्सास में दिया गया भाषण भारत की सॉफ्ट पावर कूटनीति के हिसाब से काफी महत्पूर्ण है।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
बिना श्रेणी

#MondayMotivation : कैसे महिला सशक्तिकरण की परिभाषा को स्मृति ईरानी ने दी नई दिशा?

स्मृति ईरानी – मैकडॉनल्ड्स में वेटर की नौकरी करने से लेकर कैबिनेट मिनिस्टर बनने तक का सफ़र 


कहते है हर व्यक्ति का एक अतीत होता है और कुछ लोगों का अतीत ऐसा होता है जो दूसरों के लिए मिसाल बन जाता है। ऐसा ही अतीत रहा है हमारी टेलीविजन की स्टार और “सास भी कभी बहू थी’ की तुलसी यानि स्मृति ईरानी का। जी हाँ, हम बात कर रहे है यूनियन कैबिनेट मिनिस्टर स्मृति ईरानी की जिनका टेलीविज़न से लेकर राजनीति तक का सफर बहुत ही दिलचस्प रहा है।

वेट्रेस से मॉडलिंग और एक्टिंग का सफर 

मॉडलिंग से एक्टिंग और टेलेविज़न इंडस्ट्री की तुलसी राजनीति में अपने पैर ज़मा चुकी हैं। लेकिन क्या आप जानते है वो कभी मैकडॉनल्ड्स में वेटर की नौकरी करती थी। 23 मार्च 1976 को दिल्ली में जन्मी स्मृति ईरानी 3 बहनों में सबसे बड़ी होने के नाते बचपन से ही समझदार थी। होली चाइल्ड ऑक्जिलियम स्कूल से अपनी स्कूल शिक्षा पूरी करने के बाद उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय में एडमिशन लिया। उसके बाद मिस इंडिया कॉम्पिटिशन और 1998 में मिस इंडिया पेजेंट फाइनलिस्ट में अपनी पहचान बनाने के बाद स्मृति ने मीका सिंह के साथ एक एल्बम ‘सावन में लग गई आग’ के गाने ‘बोलियां’ पर परफॉर्म किया। फिर उन्हें छोटे पर्दे पर “सास भी कभी बहू थी” में तुलसी की भूमिका मिली जिसे वो भारतीय महिलाओ के बीच एक प्रसिद्ध चेहरा बन गई।

राजनीति का सफर

एक्टिंग के बाद टीवी ने उन्हें ऐसी पहचान दी जिससे उन्हें राजनीति में एंट्री का मौका मिला और फिर शुरू हुआ उनका राजनीति का सफर जो अभी तक एक सफल दिशा में जा रह है। 2003 में स्मृति ईरानी ने भारतीय जनता पार्टी में आने का फैसला किया। एक साल बाद महाराष्ट्र की यूथ विंग का वाइस प्रेसिडेंट बनकर उन्होंने लोगों का विश्वास जीता। इसी विश्वास के दम पर वो अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार में टेक्सटाइल मिनिस्टर के पद पर कार्य कर रही हैं। इससे पहले वो केंद्र में मानव संसाधन मंत्री रह चुकी हैं।

और पढ़ें: वो कौन से काम है जो सक्सेसफुल लोगों को बनाते हैं ख़ास

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
बॉलीवुड

सिंगर दलेर मेहंदी  – क्या किया करते थे मानव तस्करी

सिंगर दलेर मेहंदी क्यों छाए हुए थे सुर्ख़ियों में


सुपरहिट पंजाबी गानों के बादशाह और अपनी दमदार आवाज से पॉप गानों से बॉलीवुड में अपनी पहचान बनाने वाले दलेर मेहंदी (daler mehandi) 2 साल के लिए जेल जा चुके हैं और उन्हें मानव तस्करी के मामले में गिरफ्तार भी किया जा चूका हैं। हाल ही में 2019 में बीजेपी में शामिल होने के बाद से वो सुर्ख़ियों में छाए हुए थे। वो मानव तस्करी के अलावा, राजनीति की वजह से भी चर्चा का विषय बन गए थे।

मानव तस्करी के मामले में क्या हुआ था ?

कुछ साल पहले दलेर मेहंदी (Daler mehandi) को मानव तस्करी (human trafficking) के मामले में गंभीर आरोप लगाकर गिरफ्तार किया गया था।  पंजाब के पटियाला कोर्ट में केस चलने पर उन्हें दोषी करार कर दिया गया था। कुछ समय तक वो हिरासत में भी रहें थे। लगभग 15 सालों तक चलने वाले इस कई में दलेर मेहंदी को दोषी पाया गया और उन्हें 2 साल की कैद की सजा सुनाई गयी थी। सूत्रों के अनुसार, दलेर मेहंदी अमेरिका में एक शो के दौरान मानव तस्करी करते हुए पकडे गये थे। इस केस में दलेर के भाई शमशेर सिंह (Shamsher singh) पर भी मानव तस्करी का आरोप लगा था।

बीजेपी पार्टी की मेम्बरशिप क्यों ली।

इसी साल बीजेपी पार्टी में शामिल होने के बाद से यह माना जा रहा है कि भाजपा अपने कैंडिडेट दलेर मेहंदी को पंजाब की किसी सीट से मैदान में उतार सकती है। दिल्ली में भाजपा ने एक कार्यक्रम के दौरान दलेर जी को भाजपा पार्टी की सदस्यता दिलवाई और इस पार्टी में सभी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी, श्याम जाजू, केंद्रीयमंत्र हर्षवर्धन और उत्तर-पश्चिम दिल्ली से भाजपा उम्मीदवार हंसराज हंस भी मौजूद थे।

Read More:- हैप्पीनेस क्लास से कैसे बदली दिल्ली सरकार ने स्कूलों की रूपरेखा?

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com

Categories
बिना श्रेणी

‘तीन तलाक triple talaaq – लोकसभा में बिल की पेशी,जेडीयू (JDU) करेगा विरोध 

Triple Talaq to be presented in Lok Sabha


ट्रिपल तलाक़ बिल को भाजपा सरकार लोकसभा में पेश करने जा रही हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने अपने पहले कार्यकाल में भारत की महिलाओं से जो वादा किया था, वो पूरा करने का समय आ आज्ञा हैं। आज ‘तीन तलाक’  ट्रिपल तलाक़ बिल को भाजपा सरकार लोकसभा में पेश करने जा रही हैं। आज चर्चा के बाद बिल को पारित किये जाने की संभावना जताई जा रही है। लोकसभा में बिल दोपहर 12.30 बजे पेश करने के बाद चर्चा का विषय रहेगा।  हाल ही में मिली आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक भाजपा सरकार ने लोकसभाके पहले सत्र के पहले दिन ही तीन तलाक विधेयक का ड्राफ्ट पेश किया था।  आज के सदन के लिए सरकार ने अपने सभी सांसदों को व्हिप जारी कर दिया है। इसके अनुसार सभी सांसदों का सदन में निश्चित समय पर उपस्थित होना होता है।

तीन तलाक़ बिल क्या हैं 
तीन तलाक़ ऐसा बिल है जिसमे तीन तलाक को अपराध बताया गया हैं और इसमें तीन   तलाक़ करने वाले व्यक्ति को अपराधी बताते हुए दोषी माने जाने का प्रावधान हैं। साथ ही व्यक्ति को जेल की सजा सुनाए जाने का प्रावधान है हालाँकि सज़ा की अवधि निश्चित नहीं हुई हैं।
जेडीयू (JDU) करेगा विरोध 
तीन तलाक बिल को लेकर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के सहयोगी दल जनता दल यूनाइटेड (JDU) बिल के मौजूदा स्वरूप को लेकर भाजपा सरकार का समर्थन नहीं करेगा। जेडीयू (JDU) संसद में आज इस बिल का विरोध करेगी। आपको बता दे कि इससे पहले भी जेडीयू तीन तलाक बिल पर अपना विरोध प्रकट कर चुकी है हालाँकि स्पष्ट रूप से कुछ नई नहीं था। जेडीयू सरकार का ये रुख इस कारण है कि सरकार ने इस बिल पर उनसे कोई चर्चा नहीं की थी।

विपक्षी दलों का विरोध

तीन तलाक(Triple talaq) बिल को लेकर कई विपक्षी दलों का कड़ा विरोध हो रहा है और मोदी सरकार को इसका सामन करना पड़ सकता हैं। लेकिन भाजपा सरकार के अनुसार सभी बराबर के हकदार है और उनके अनुसार मुस्लिम महिलाओं की स्थिति में सुधार और लैंगिक समानता के लिए यह कदम जरूरी है। इसी कदम को आगे बढ़ाते हुए बीजेपी(BJP) ने लोकसभा के पहले सत्र के दौरान कांग्रेस(Congress) से  अपील की थी कि वह देश में समानता और समान नागरिक संहिता के लिए उनका सहयोग करें।

Read More:- भारतवंशी प्रीति पटेल बनी ब्रिटेन की गृहमंत्री बनीं , यह देखे exclusive pictures

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com

Categories
पॉलिटिक्स

ये कहाँ  झाड़ू लगा रही है हेमा मालिनी, यहाँ देखिये वायरल वीडियो 

संसद के बाहर चलाया गया स्वच्छ भारत अभियान


देश को स्वच्छता की ओर जागरूक करने के लिए संसद के बाहर लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला की अगुवाई में सभी नेताओ  ने झाड़ू लगाया .जी हाँ, स्वच्छ भारत अभियान को चलाने  हेतु आज संसद के बाहर हेमा मालिनी झाड़ू लगाती हुई नज़र आई. जिसकी तस्वीर तेज़ी से  सोशल  मीडिया पर वायरल हो रही है. साथ ही हेमा मालिनी ने लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला की तारीफ  करते हुए कहा  कि यह काफी सराहनीय है कि महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर संसद में ‘स्वच्छ भारत अभियान’ को पूरा करने के लिए लोकसभा अध्यक्ष ने पहल की. मैं अगले सप्ताह मथुरा वापस जाऊंगी और वहां इस अभियान को आगे बढ़ाऊंगीं.’

हेमा मालिनी के साथ झाड़ू लगाते दिखे कई दिग्गज नेता  

आपको बता दे कि संसद में स्वच्छता अभियान सुबह 9 बजे शुरू हुआ. जिसमे स्पीकर ओम बिड़ला सहित भारतीय जनता पार्टी के कई दिग्गज मंत्रियों और सांसदों ने संसद के बाहर झाड़ू लगाया .साल 2014 में केंद्र में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की अगुवाई वाली सरकार बनते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वच्छता पर ख़ास ध्यान दिया था. उन्होंने इसके लिए देश में स्वच्छता अभियान को शुरू किया.

वही ओम बिड़ला को  19 जून को 17वीं लोकसभा के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया . उन्हें राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ने अपना उम्मीदवार बनाया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सदन में बजट सत्र के तीसरे दिन बिड़ला के समर्थन में प्रस्ताव पेश किया जिसके बाद उसे पारित कर दिया गया.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com

Categories
पॉलिटिक्स

कांग्रेस पार्टी पर छाये संकट के बादल, 21 मंत्रियों ने दिया इस्तीफा

राजनीतिक संकट से गुजर रही कांग्रेस को एक और झटका


लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद राजनीति में कई नए बदलाव देखने को मिल रहे है. बीजेपी अपने पहले बजट को पेश कर अपने कार्य में जुट गयी है. कांग्रेस में आये दिन नेताओ की इस्तीफा देने की होड़ लग गयी है. लोकसभा चुनाव में मिली हार से कांग्रेस पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया और उनके साथ ज्योतिरादित्य सिंध्या ने भी अपने महासचिव पद से इस्तीफा दे दिया है.

कर्नाटका में कांग्रेस-JDS गठबंधन की सरकार चला रहे एच.डी. कुमारस्‍वामी के मंत्रिमंडल से कांग्रेस बाहर हो गई है. कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धारमैया ने कहा कि कांग्रेस के सभी 21 मंत्रियों ने इस्‍तीफा दे दिया है. इस बीच सीएम कुमारस्‍वामी ने कहा है कि ‘मसला सुलझ जाएगा. सरकार आराम से चलेगी.’

वही अब इसके अलावा निर्दलीय विधायक ने भी सरकार से समर्थन वापस लेकर भारतीय जनता पार्टी का समर्थन किया है. साथ ही कांग्रेस नेता और कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने ट्वीट कर सभी विधायकों से अपील की है कि वह अपना इस्तीफा वापस ले लें. कांग्रेस मंत्रियों के साथ- साथ जेडीएस पार्टियों के मंत्रियों ने भी अपना इस्तीफा सौंप दिया है और कर्नाटक में जल्द ही नया मंत्रिमंडल बनाया जा सकता है

कर्नाटका में जितने भी मंत्रियों ने इस्तीफा दिया है और मुंबई चले गए है उन पर कांग्रेस पार्टी कड़े एक्शन लेंगी. अगर मंत्री पार्टी में वापस नहीं लौटते तो उन्हें पार्टी से बाहर कर दिया जायेगा- कुमारस्वामी ने कहा

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.com