Categories
बॉलीवुड

तान्हाजी’ video क्लिप में PM मोदी दिखे शिवाजी के रूप में हो गया बवाल

तान्हाजी’ video क्लिप में PM मोदी दिखे : खूब मच रहा है बवाल


बॉलीवुड फिल्म ‘तान्हाजी- द अनसंग वॉरियर’ (Tanhaji) शुरू से कॉन्ट्रोवर्सीज का हिस्सा बन रही हैं। हालाँकि, इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा रखा हैं लेकिन हाल ही सोशल मीडिया पर एक ऐसी वीडियो क्लिप सामने आयी है जिसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) को छत्रपति शिवाजी  और केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह को तान्हाजी के रूप में दिखाया गया है। इस वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होने से बवाल मचा हुआ हैं।

वीडियो क्लिप –  प्रधानमंत्री मोदी दिखे शिवाजी और अमित शाह दिखे तान्हाजी

सोशल मीडिया पर ‘तान्हाजी- द अनसंग वॉरियर’ (Tanhaji) के एक वीडियो ने धमाल मचा रखा हैं। इस वीडियो में नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) को छत्रपति शिवाजी और केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह को तान्हाजी के रूप में दिखाया गया है। इस वीडियो की हर जगह निंदा की जा रही हैं। इस वीडियो  के बारे में महाराष्ट्र के गृह मंत्री और राकांपा नेता अनिल देशमुख ने वीडियो की निंदा करते हुए कहा कि सरकार यूट्यूब के साथ इस मुद्दे को उठायेगी।गृह मंत्री देशमुख ने कहा, ‘‘मैं राजनीतिक लाभ लेने के लिए इतना नीचे गिरने के लिए भाजपा की निंदा करता हूं। (राजनीतिक फायदे के लिए) शिवाजी महाराज, तान्हाजी का इस्तेमाल करना गलत है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम इस मुद्दे को यूटयूब के समक्ष उठायेंगे।’’

कब वायरल हुआ वीडियो क्लिप?

/> यह वीडियो क्लिप सबसे पहले ट्विटर हैंडल ‘पॉलिटिकल कीड़ा’ पर पोस्ट की गई।  इसमें दिल्ली के प्रधानमंत्री मोदी को शिवाजी, अमित शाह को तान्हाजी और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को उदयभान सिंह राठौड़ के रूप में दिखाया गया है। गृह मंत्री देशमुख  के पास इस वीडियो के बारे में शिकायतें आयी हैं।

क्या कहना है शिवसेना का?

शिवसेना के नेता संजय राउत ने पत्रकारों को बताया कि उनकी पार्टी छत्रपति शिवाजी का इस तरह का ‘‘अपमान’’ सहन नहीं करेगी। उन्होंने पूछा कि जिन लोगों ने उनकी टिप्पणी के खिलाफ विरोध किया, वे अब क्लिप को लेकर चुप क्यों हैं। भाजपा ने वीडियो क्लिप से दूरी बनाते हुए कहा कि यह पार्टी से संबंधित नहीं है और वह छत्रपति शिवाजी के साथ कभी भी किसी की तुलना नहीं करेगी। शिवसेना के नेता संजय राउ ने कहा कि उनकी पार्टी अपने ‘‘देवता’’ शिवाजी महाराज का अपमान सहन नहीं करेगी। अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
हॉट टॉपिक्स

Ram Mandir Construction – आसमान को छूने वाले राम मंदिर का निर्माण – चार महीने में किया जाएगा

Ram Mandir Construction: राम मंदिर का निर्माण – चार महीने में किया जाएगा


Ram Mandir Construction

हाल ही में झारखंड के पाकुड़ में आयोजित एक जनसभा को संबोधित करने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह पहुंचे हुए थे। यहाँ पर आकर इन्होने अयोध्या में भगवान राम के भव्य मंदिर के निर्माण के बारें में बात की। अमित शाह ने पाकुड़ और गोड्डा जिलों में अलग-अलग रैलियों को संबोधित करते हुए राम मंदिर के चार महीनों के अंदर बनने के बारें में घोषणा कर दी।

पाकुड़ और गोड्डा जिलों में अलग-अलग रैलियों को संबोधित

अमित शाह ने रैली के सामने कहा,”अभी-अभी सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या के लिए फैसला दिया। सौ वर्षों से दुनियाभर के भारतीयों की मांग थी कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनना चाहिए। अब भव्य राम मंदिर अयोध्या में बनने जा रहा है। यह कांग्रेस पार्टी न तो विकास कर सकती है, न देश को सुरक्षित कर सकती है, न देश को सुरक्षित कर सकती है, न देशी की जनता की जनभावनाओं को सम्मान कर सकती है।”

और पढ़ें: UK election 2019 – क्या होंगे ब्रिटिश चुनाव परिणाम

अमित शाह ने कांग्रेस पर साधा निशाना

अमित शाह ने रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर निशाना साधा।  उन्होंने कहा की,”वर्षों तक झारखंड के युवा लड़ते रहे लेकिन कांग्रेस के शासन में झारखंड की रचना नहीं हो पाई। केंद्र में अटल बिहारी वाजपेयी की बीजेपी सरकार आने के बाद झारखंड का निर्माण हुआ। अटल बिहारी वाजपेयी ने झारखंड का निर्माण किया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने ने झारखंड को संवारने और विकास का काम किया है।”

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
हॉट टॉपिक्स

KaamKiKhabar : देश और दुनिया की बड़ी खबर – 23rd September

देश और दुनिया की लेटेस्ट खबरें


1. हाउड़ी और मोदी के बाद अब ट्रम्प पहुचें न्यू यॉर्क,UN में बात की धार्मिक सवतंत्रता पर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ टेक्सास में हाउड़ी मोदी कायर्कम को संबोधित किया और अब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने न्यू यॉर्क पहुचे। डोनाल्ड ट्रम्प ने यहां सयुंक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में हिस्सा लिया और सभा को भी संबोधित किया।

2. तिहाड़ जेल में चिदंबरम से मिलने पहुचें सोनिया-मनमोहन

तिहाड़ जेल में 5 सितम्बर से कैद पी.चिंदबरम है और 3 अक्टूबर तक उनकी सज़ा को बड़ाया गया है। जब तिहाड़ में चिंदबरम से मुलाकात करने सोनिया और मनमोहन पहुचें तो उसी बीच चिंदबरम के बेटे और कांग्रेस सांसद कार्ति चिंदबरम भी पहुचे हुऐ थे।

3. शेयर बाजार में आया ज़बरदस्त सुधार, सेंसेक्स 1300 बढकर खुला

सेंसेक्स 1300 अंक बड़कर खुला, वही निफ्टी कि बात करे 11550 के पार पहुँच गया। वही विदेशी और घरेलू निवेशको में भी जमकर खरीदारी होरही है। असार जताऐ जारहे है की कॉरपोरेट टैक्स में कटोती हो सकती है।

4. मला में प्याज़ सब से मंहगा, लोगो को जमकर ऱूला रहा है प्याज़

बिते 15 दिनों से प्याज़ की किमत में60 रूपये प्रति किलो की गिरावट आई है। 100 से 120 रूपये प्रति किलो बिक रहा है प्याज़। वही अगर सेब कि बात करे तो वो 40-50 रूपये प्रति किलों बिक रहा है।

5. गुजरात पर मंड़रा रहा है चक्रवाती तूफान का खतरा, बाहरी बारीश की आकंशा जताई जा रही है

पूर्व-मध्य और उत्तर-पूर्व अरब सागर में बन रहा दबाव अब गुजरात के तरफ ऱूख लेता नज़र आरहा है। भारतीय मौसम विभाग कि जानकारी के मुताबिक अभी कम-से-कम 170 किलोमिटर दूर है ये तुफान।

6. डीज़ल और पेट्रोल के दाम हुआ फिर मेहंगा, 29 पैसे की भारी बड़ौती

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में तेजी का दौर आज सोमवार को भी जारी है। भारत की राजधानी दिल्ली में आज पेट्रोल-डिज़ल बड़कर 73.91 रूपये प्रति लीटर और डीजल 66.93 रुपये प्रति लीटर है। यानी पेट्रोल 29 पैसे और डीज़ल 19 पैसे पर बिक रहा है।

7. कश्मीर मुद्दे पर बोले अमित शाह कहाइसमें कांग्रेस को दिखती है राजनीति और हमे देशभक्ति

एक बार फिर से अमित शाह के बयान पर बवाल शूरू हो गया है। उन्होने फिर से कश्मीर मुद्दे पर बोला है। उन्होने कहा अगर नेहरू ने बेवक्त पाकिस्तान के साथ संघर्ष विराम की घोषणा नहीं करते तो पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर’ आज के दौर में नही होता।

और पढ़ें: देश और दुनिया की लेटेस्ट खबरें

8. 26 सितम्बर से लेकर २ अक्टूबर तक फिर बंद रहेंगे बैंकनिपटा ले ज़रूरी काम

बैंको में विलय के विरोध में बैकों के अधिकारीयों ने 26 और 27 सितम्बर को हड़ताल करने का ऐलान किया। तो इसलिऐ 6 दिन तक बैक बंद रहेगा।

9. 98% चंद्रयान 2 सफल हुआ हैऐसा कहना है इसरो चीफ का

इसरो चीफ का ऐसा माना है की उन्होंने चंद्रयान2 में 98% सफलता हासिल कर ली हैमगर उनके इस बयान पर काफी विज्ञानकी संतुष्ट नहीं है और उनकी तकनीक पर भी सवाल उठा रहे है।

10. सुसाइड करने के लिए 18 घंटे होटल की छत पर खड़ा रहा टिक टोक स्टार

50 लाख फोल्लोवेर वाला टिक टोक स्टार १८ घंटे तक होटल की छत हज खड़ा रहा और अपने आप को मारने की धमकी देने लग गया। रविवार को अरमान मलिक ने मारने की धमकी दी और यह वीडियो उन्होने टिक टोक पर भी डाली। 

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
पॉलिटिक्स

बीजेपी कर रही है पीएम मोदी के वाराणसी दौरे की खास तैयारी

ऐतिहासिक होगा वाराणसी का नामांकन


जहाँ एक तरफ लोकसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान खत्म हो चुके है वही दूसरी और अब बीजेपी वाराणसी में चुनाव से पहले पीएम मोदी के  चुनाव नामांकन भरने को लेकरतैयारियां पूरे जोरों शोरो से कर रही है. इस बार बीजेपी पीएम मोदी के इस वाराणसी नामांकन को ऐतिहासिक बनाना चाहती है. इसी के साथ पीएम मोदी नामांकन से पहले बनारसमें गंगा की पूजा भी करेंगे.

ऐसा होगा पीएम मोदी का वाराणसी दौरा

आपको बात दे कि पीएम मोदी का नामांकन 26 अप्रैल को होगा. इससे एक दिन पहले 25 अप्रैल को नरेंद्र मोदी बनारस में रोड शो भी करेंगे. मोदी बनारस के लंका में स्थित मालवीयप्रतिमा को माला चढ़ाएंगे जिसके बाद रोड शो शुरू करेंगे और ये रोड शो गोदौलिया पर जाकर खत्म होगा. इसके बाद पीएम मोदी काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन करने के बाद  गंगाआरती में भी शामिल होंगे.

यहाँ भी पढ़े: चुनावी मौसम में इस नेता के बिगड़े बोल

साथ ही इस नामांकन को ऐतिहासिक बनाने के लिए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शुक्रवार यानी 12 अप्रैल की शाम को वाराणसी पहुंचे. जहाँ उन्होंने देर रात हरहुआ स्थितगोकुल धाम में पीएम मोदी के नामांकन को ऐतिहासिक बनाने के लिए संगठन के साथ मंथन किया. इस बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा के अलावाप्रदेश और  काशी के संगठन पदाधिकारी शामिल थे.

वही दूसरी और पीएम  मोदी के नामांकन को लेकर वाराणसी में कड़ी सुरक्षा का इंतज़ाम भी रखा जा रहा है.  पीएम मोदी के वाराणसी के दौरे  वाले दिन इलाके के सुरक्षा में पुलिसफोर्स को तैनात किया जायेगा  और उससे पहले पूरी सुरक्षा व्यवस्था का परीक्षण भी किया जाएगा.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
पॉलिटिक्स भारतीये पॉलिटिक्स

बेटे पर लगे आरोपों को बाद पहली बार अमित शाह मीडिया के सामने आएं

कहा यह करप्शन नहीं है


बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने अपने बड़े जय शाह की कंपनी का टर्नओवर को लेकर पहले बार सफाई दी है।

अमित शाह

प्रमाण भी है

एक टीवी न्यूज के कार्यक्रम के दौरान अमित शाह ने सफाई के तौर पर कहा कि जय शाह की कंपनी में कोई गड़बड़ी नहीं हुई है। जिसका प्रमाण है उनके द्वारा सौ करोड़ का मानहानि का केस क्योंकि कांग्रेस पर आजादी के बाद से इतने आरोप लगने के बाद भी कभी उस पार्टी मे इतना नैतिक साहस नही हुआ कि वो ऐसा कर पाती।

न्यूज चैनल के टॉक शो को दौरान अमित शाह से पूछा गया कि आरोप लग रहा है कि शाह की कंपनी का टर्नओवर 5 हजार से बढ़कर 80.5 करोड़ रुपये हो गया। विपक्ष पूछ रहा है कि ये कैसे हो गया?

करप्शन कांग्रेस को दौरान होते थे

इसका जवाब देते हुए अमित शाह ने कहा कि मैं इस कार्यक्रम के माध्यम से, पहले कुछ सवाल उठाना चाहता हूं फिर जबाव दूंगा। कांग्रेस पर आजादी के बाद से इतने करप्शन के आरोप लेगें। लेकिन कांग्रेस ने एक भी मानहानि का, और सौ करोड़ की मानहानि के केस किया क्या? नहीं किया तो इतनी हिम्मत क्यों नहीं हुई। जय ने आज अपराधिक मानहानि का केस फाइल किया है। विपक्ष जांच की मांग कर रहा है। जय ने तो स्वयं जांच मांगी है। अब आपके पास जो तथ्य लेकर पहुंच जाइए कोर्ट में, कोर्ट फैसला करेगी। हमने स्वयं जांच को आमंत्रित किया है।

विपक्ष पर वार करते हुए अमित ने कहा कि कंपनी ने एक रुपये का व्यापार सरकार के साथ नहीं किया है। एक रुपये की मदद नहीं ली है। सरकारी जमीन नहीं ली है और न ही बोफोर्स की तरह दलाली खाई है तो इसमें करप्शन का सवाल ही पैदा नहीं होता।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in

Categories
पॉलिटिक्स भारतीये पॉलिटिक्स

मिशन 2019- बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह अपने 95 दिनों की देशव्यापी यात्रा के दौरान आज जम्मू रवाना

साल 2014 में लोकसभा चुनाव में बीजेपी की भरी बहुमत की जीत के बाद अब बीजेपी ने 2019 के लिए भी मिशन तैयार करना शुरु कर दिया है।

पिछली बार हारी हुई 120 सीटों पर विशेष ध्यान

पार्टी की स्थिति को और मजबूत करने के लिए शाह 95 दिनों का देशव्यापी दौरे करेंगे। इसी क्रम में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष देश के विभिन्न हिस्सों में जाकर बीजेपी की कड़ी को मौजूद करेंगे। इन 95 दिनों में शाह लोकसभा चुनाव जीतने की रणनीति को बनाएंगे।

अमित शाह

इसके साथ ही उन 120 सीटें पर ध्यान केंद्रित करेंगे। जिनमें साल 2014 में बीजेपी की हार हुई थी।

जम्मू में दो दिन का दौरा

मिशन 2019 को सफल बनाने के शाह ने लेफ्ट का गढ़ माने जाने बंगाल के नक्सलबाड़ी में दौरा किया। आज से वह जम्मू में दो दिन के दौरे पर जा रहे हैं।

जम्मू दौरे से एक दिन पहले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि वह चुनावी महत्व के हिसाब से एक से तीन दिनों तक राज्यों में समय बिताएंगे। राज्यों को चुनावी महत्व के हिसाब से तीन श्रेणियों में बांटा गया है। उन्होंने कहा साल 2014 में हम जिन स्थानों पर हारे है वही 120 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है।

साथ ही कहा कि मेरे दौरे में हमारे संगठन की शक्ति का जायजा लेने पर ध्यान केंद्रित होगा और पूरे देश में विचारधारा और चुनावी अपील के विस्तार पर ध्यान दिया जाएगा।

600 फुसटाइमर्स की टीम तैयार

राज्यों के दौरे के अलावा शाह ने आगामी चुनाव के लिए 600 फुलटाइर्मस की टीम तैयार की है, जो साल 2019 में पार्टी की जीत को सुनिश्चित करने का काम करेगी।

साल 2019 की जीत के लिए शाह ने पांच राज्यों को खासतौर पर चिन्हित किया है। जहां वह बूथ स्तर पर मैनेजमेंट का काम देखेंगे। ये पांच राज्य है गुजरात, ओडिशा, तेलंगाना लक्ष्यद्वीप और पश्चिम बंगाल है। इन पांचों राज्यों में शाह 15 दिन का समय बिताएंगे और बूथ स्तर की तैयारी का जायजा लेगें।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
पॉलिटिक्स भारतीये पॉलिटिक्स

पूरा उत्‍तर प्रदेश रंगा केसरिया रंग से, चला मोदी का जादू

के‍सरिया रंग में रंगा भारत देश


उत्‍तर प्रदेश में हुए विधानसभा चुनावों के रुझान आज आ चुके हैं. रुझानों के अनुसार, उत्‍तर प्रदेश में बीजेपी बहुमत के साथ अपनी सरकार बना रही है. समाजवादी पार्टी – कांग्रेस पार्टी गठबंधन और मायावती की पार्टी बसपा काफी पीछे नजर आ रहे है. एक बार फिर यूपी में पीएम नरेन्‍द्र मोदी की लहर दौड़ी गई है और उस लहर ने विपक्ष को धराशायी कर दिया है.

आइए जानें यूपी में किस को कितनी सीटें मिली.

उत्‍तर प्रदेशः 403 सीटें
बीजेपी – 309 सीटें
सपा-कांग्रेस गठबंधन – 62 सीटें
बीएसपी – 18 सीटें
अन्‍य – 14 सीटें

यूपी में बीजेपी की ऐतिहासिक जीत

इस बार यूपी के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 300 सीटों का आंकड़ा पार कर लिया है. इस जीत के बाद यूपी के लखनऊ बीजेपी दफ्तर में बीजेपी के समर्थकों में जश्न का माहौल बना हुआ है. केसरिया रंग से होली खेली जा रही है. अगर बीजेपी का यूपी में इतिहास देखा जाए तो साल 1991 बाद बीजेपी की ये बड़ी जीत है. 1991 में 221 सीटों से बीजेपी ने जीत दर्ज की थी.

बीजेपी नेताओं की जीत पर प्रतिक्रिया

  • बीजेपी की मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा, कि यह पीएम मोदी के नेतृत्व और अमित शाह की कड़ी मेहनत की जीत है.
  • योगी आदित्‍यनाथ ने कहा, कि लोगों ने सपा-कांग्रेस के गठबंधन को नकार दिया है. जनता ने विकास के लिए वोट किया है.
  • अमित शाह ने ट्वीट करके भाजपा के सभी कार्यकर्ताओं और प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को बधाई दी है.

आइए जानते हैं साल 1980 से साल 2012 तक का यूपी में बीजेपी का सीटों का इतिहास.

साल 1980 – 11 सीटें
साल 1985 – 16 सीटें
साल 1989 – 57 सीटें
साल 1991 – 221 सीटें
साल 1993 – 177 सीटें
साल 1996 – 174 सीटें
साल 2002 – 88 सीटें
साल 2007 – 51 सीटें
साल 2012 – 47 सीटें

जनता को पसंद नहीं आया यूपी के लड़कों का साथ

दरअसल, उत्‍तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव और कांग्रेस पार्टी के उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने एक साथ मिलकर चुनाव लड़ा और कई नारे लिखे गए, कि यूपी को ये साथ पसंद है. दोनों ने अपने आप को यूपी के लड़के बताया. चुनावी रैलियों में पीएम नरेन्‍द्र मोदी ने दोनों के गठबंधन को दो कुनबों का गठबंधन कहा, मगर अखिलेश ने इस बात पर जोर दिया, कि ये गठबंधन दो कुनबों का नहीं, दो युवाओं का है.

यूपी में नहीं चली भैय्या-भाई की जोड़ी

चुनावी रैलियों में अखिलेश यादव की पत्‍नी डिंपल यादव का जादू भी बहुत देखने को मिला. मगर चुनाव परिणाम में वो जादू नहीं दिखा. दरअसल, ऐसा माना जा रहा था, कि अखिलेश भैय्या और डिंपल भाभी की जोड़ी यूपी में युवाओं और महिलाओं के सपनों को साकार करेगी और यूपी की जनता इस जोड़ी पर विश्‍वास करेगी. मगर ऐसा कुछ नहीं हुआ.

मायावती के वोटबैंक पर सवाल

बसपा ने इस चुनाव में मुस्लिम वोटरों को लुभान की जमकर कोशिश की और पार्टी ने अबतक के अपने विधानसभा चुनावों के इतिहास में सबसे ज्यादा 97 मुसलमान उम्मीदवारों को मैदान में उतारा था. साल 2017 के चुनावों में मायावती की सीटें कुछ इतना नीचे पहुंच गई हैं, कि उन्‍हें देखते हुए सवाल उनके वोटबैंक पर उठना तय हो गया है. सवाल ये है, कि क्या लोकसभा चुनावों 2014 के बाद, एक बार फिर उत्‍तर प्रदेश के दलित वोटरों ने किसी का वोटबैंक बनने से साफ इंकार कर दिया है.

आप को बता दें, यूपी में सात चरणों में चुनाव हुए थे. पहले चरण के लिए 1 फरवरी को वोट डाले गए थे. दूसरे चरण के लिए 15 फरवरी को, तीसरे चरण के लिए 19 फरवरी को, चौथे चरण में 53 सीटों पर 23 फरवरी को वोटिंग हुई. पांचवें चरण के लिए 27 फरवरी को, छठे चरण के लिए 4 मार्च को, सातवें चरण में 40 सीटों पर 8 मार्च को वोट डाले गए थे.

Categories
पॉलिटिक्स

यूपी विधानसभा चुनाव : अमित शाह ने रद्द की मेरठ में पद यात्रा

अमित शाह ने रद्द की मेरठ में पद यात्रा


मेरठ में कारोबारी की हत्या के विरोध में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को मेरठ में प्रस्तावित अपनी पद यात्रा रद्द कर दी है।
हालांकि स्थानीय नेताओं ने गुरुवार को हुई इस वारदात को देखते हुए पदयात्रा को संपर्क यात्रा में बदल दिया था लेकिन अमित शाह ने पूरा कार्यक्रम रद्द कर दिया।

मृतक के परिचनों से मिलें अमित शाह

मेरठ पहुंचे अमित शाह ने कहा कि जिस इलाके में घर के सामने ही एक नौजवान कारोबारी की हत्या कर दी गई हो, उस इलाके में चुनावी संपर्क का कोई औचित्य नहीं है। उन्होंने मृतक कारोबारी अभिषेक के घर पर परिजनों से मुलाकात की और उन्हें ढांढस बंधाया।
ब्रह्मपुरी तिराहे पर करीब 12 बजे पहुंचे अमित शाह ने अपने 15 मिनट के संबोधन में कानून-व्यवस्था को लेकर प्रदेश सरकार को जमकर कोसा। उन्होंने अभिषेक की हत्या के हवाले से पूरे प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े किए।

अमित शाह

और पढ़े : अपनी पहले चुनाव अभियान में अखिलेश ने केंद्र को बनाया निशाना

राज्य में 500 दंगे हुए है

कहा कि प्रदेश में हर रोज़ 24 बलात्कार और 21 बलात्कार के प्रयास होते है। बलात्कार की घटनाओं में 161 प्रतिशत वृद्धि हुई है। हर दिन 13 मर्डर होते है। इनमें से 70 प्रतिशत घटनाएं सपा के मंत्रियों के इलाके में होती है। दो लाख 78 हज़ार आपराधिक घटनाएं यूपी में हुई।

सपा के कार्यकाल में 500 दंगे हुए। उन्होंने कहा कि अच्छा होगा कि आज प्रस्तावित अपनी संयुक्त प्रेसवार्ता में अखिलेश यादव और राहुल गांधी सूबे की कानून-व्यवस्था पर भी कुछ बोलें। उन्होंने कहा कि गठबंधन करने वाली कांग्रेस और सपा ने देश को बहुत नुकसान पहुंचाया है। एक ने देश तो दूसरे ने प्रदेश को लूटा है।

और पढ़े : सोनिया के बाद अब राहुल के करेंगे यूपी में रोड शो

अमित शाह ने कहा कि यूपी चुनाव की शुरुआत पश्चिमी यूपी से शुरू होने जा रही है। इसी से साफ है कि इसका क्या महत्व है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकारों की अनेदेखी के कारण उत्तर प्रदेश विकास में काफी पिछड़ गया है। भाजपा चाहती है कि प्रदेश विकास के रास्ते पर चले।

सपा और कांग्रेस के गठबंधन के बारे में अमित शाह ने कहा कि प्रदेश की कानून व्यवस्था, पश्चिम उत्तर प्रदेश के पलायन और असल मुद्दों से जनता का ध्यान भटकाने के लिए सपा और कांग्रेस का गठबंधन कर लिया है। साथ ही कहा कि दोनों शहजादे यूपी की जनता के आंखों में धूल झोंकना चाहते हैं

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
पॉलिटिक्स

अमित शाह ने किया दावा इस बार यूपी में खिलेगा कमल

उत्तर प्रेदश विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे पास आ रहे हैं, वैसे-वैसे बीजेपी के हौंसले बुलंद होते जा रहे हैं। जी हां, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने एक इंटरव्यू में दावा किया है कि इस बार चुनाव सिर्फ बीजेपी बनाम समाजवाजी पार्टी के बीच होगा।

यहीं नही उन्होंने यह भी कहा है कि इस बार यूपी में केवल कमल ही खिलेगा। आप सब डिब्बे खुलने पर इसे याद रखना।

अमित शाह

उन्होंने कहा, “इस बार उत्तर प्रेदश की जनता बदलाव चाहती है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कारण पार्टी यूपी में वोटरों के बीच बदलाव का संदेश लेकर जाएगी।”

इसी के साथ उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि दलित मुद्दे के पीछे राजनीतिक साजिश है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
पॉलिटिक्स

एक बार फिर बीजेपी ने अपने सांसदों को किया व्हिप, आठ अगस्त को जीएसटी लोकसभा में…

जीएसटी बिल राज्यसभा में पास होने के बाद अब एक बार फिर लोकसभा में आठ अगस्त को पेश किया जाएगा। बीजेपी ने अपने सांसदों को व्हिप जारी कर दिया है।

आपको बता दे, इस मामले को लेकर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक 27 अगस्त को बुलाई है। 27 अगस्‍त को होने वाली बैठक का मुख्य एजेंडा जीएसटी होगा और जिसमें इस संविधान संशोधन बिल का अनुमोदन करने का आग्रह किया जाएगा। इसके साथ ही सरकार से जुड़े अन्य मुद्दों पर चर्चा होगी। साथ ही आम आदमी से जुड़ी सरकार की योजनाओं के कार्यान्वन पर चर्चा होगी। 23 अगस्त को दिल्ली में सभी राज्यों की कोर ग्रुप की बैठक भी होगी।

जीएसटी बिल

दरअसल, देश के नौ राज्यों में बीजेपी की सरकार है जोकि है गुजरात, असम, मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, झारखंड, हरियाणा, महाराष्ट्र और गोवा। साथ ही चार राज्यों में बीजेपी की गठबंधन सरकार है जोकि है आंध्र प्रदेश, नागालैंड, पंजाब,  जम्मू और कश्मीर मतलब कि 13 राज्यो में और जीएसटी के लिए 15 राज्यों से पास होना जरूरी है। राज्‍य बिहार और बंगाल से समर्थन की बात कही जा चुकी है।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in