Categories
पॉलिटिक्स भारतीये पॉलिटिक्स

हर जगह मन की बात लेकिन बीजेपी की मन की बात कोई नहीं समझ पाया- अखिलेश यादव

बीजेपी की मन की बात कोई नहीं समझ पाया


यूपी मे पांचवे चरण के चुनाव के लिए चुनाव प्रचार जोरों से हो रहे हैं। यूपी के सीएम अखिलेश सिंह यादव आज सिद्धार्थनगर में एक रैली को संबोधित कर रहे हैं। कल पीएम मोदी ने गोंडा में चुनाव प्रचार किया था। हर जगह मन की बात लेकिन बीजेपी की मन की बात कोई नहीं समझ पाया- अखिलेश यादव।

अखिलेश सिंह यादव

नकल वाली बात पर दिया करारा जबाव

अखिलेश सिंह ने आज पीएम मोदी की नकल करने वाले बात पर जवाब दिया है। रैली को दौरान उन्होंने कहा कि हर किसी ने थोड़ी बहुत नकल की है। कैसा कोई नहीं है जिसने बचपन में पढ़ाई के दौरान नकल न की हो।

पीएम मोदी पर वार करते हुए अखिलेश ने कहा कि भाजपा ने तो हमारे वायदों की भी नकल है। पीएम न तो कपड़ो तक की नकल की है।
साथ ही कहा कि इतना झूठ बोलने वाला प्रधानमंत्री कहीं देखा, किसी ने देखा हो तो बताओ। ऐसा सपने दिखाने वाला प्रधानमंत्री नहीं देखा। अखिलेश यादव ने कहा कि आप कह रहे हैं कि गरीबों को लाभ मिल। हम पूछना चाहते है कि नोटबंदी का क्या फायदा हुआ जनता को इसका क्या लाभ मिला है। हम तो कहते हैं प्रधानमंत्री जी समाजवादियों से बहस कर लो, जो जगह तय करनी है कर लो।

हर जगह मन की बात

प्रधानमंत्री की मन की बात की चर्चा करते हुए अखिलेश ने कहा कि टीवी पर मन की बात, रेडियो पर मन की बात हर जगह मन की बात लेकिन आज तक कोई नहीं समझ पाया बीजेपी के मन की बात।
सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि मोदी जी ने कल तीन पन्नों का भाषण दिया। लेकिन इतने लंबे भाषण ने कहीं भी किसान और गरीबों का जिक्र नहीं था।
कब्रस्तान और श्माशान को उठाते हुए अखिलेश ने कहा कि प्रधानमंत्री कब्रिस्तान और श्मासान की बात कर रहे हैं। हमे उनके डिजिटल इंडिया के सपने को बढ़ा रहे हैँ। इसके लिए हम लैपटॉप और स्मार्टफोन की बात कर हैं। प्रधानमंत्री जी को पता भी नहीं है कि यूपी मे डायल 100 भी है।

Categories
पॉलिटिक्स भारतीये पॉलिटिक्स

लखीमपुर रैली- प्रदेश में कानून व्यवस्था सही नहीं है- मोदी

प्रदेश में कानून व्यवस्था सही नहीं है- मोदी


हर दिन 15-15 हत्याएं हो रही हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज लखीमपुर खीरी में चुनावी रैली कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहां प्रदेश में कानून व्यवस्था सही नहीं है । यह रैली दूसरे चरण के चुनाव के लिए की जा रही है। आपको बता दें दूसरे चरण का चुनाव 15 फरवरी को होने वाला है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

लखीमपुर खीरी में दूसरे चरण में चुनाव होने वाला है। आज दूसरे चरण के चुनाव के लिए प्रचार का आखिरी दिन है। अपनी रैली के दौरान पीएम ने सपा, बसपा और कांग्रेस को आड़े हाथों लिया है।

लोगों के जीवन में कोई बदलाव नहीं

रैली को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि अभी तक राज्य में अधिकतर कांग्रेस, सपा और बसपा की सरकार बनी है पर क्या इन्होंने अभी तक लोगों के जीवन में बदलाव लाया है। साथ ही कहा है कि साल 2014 में लोगों ने सभी पार्टियों को साफ कर दिया था। बाकी सिर्फ दो कुनबों के लोग 2014 में जीते थे।
अपनी रैली के दौरान ने मुख्यमंत्री अखिलेश सिंह यादव की चुटकी लेते हुए कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था सही नहीं है।
साथ ही कहा है ‘जेल से गैंग चलते हैं, हर दिन बलात्कार और हत्याएं होती है इसे आप राज्य में अखिलेश जी काम कहेंगे या सपा का करनामा?’
साथ ही कहा है ‘आज दिल्ली में एक ऐसा भाई बैठ है आपका जो आपकी सेवा करना चाहता है बस एक मौका तो दीजिए।‘
मोदी ने सपा और कांग्रेस के गठबंधन पर वार करते हुए कहा है कि सपा ने कांग्रेस के साथ हाथ मिलाकर डॉ लोहिया की बेइज्जती की है जिन्होंने कांग्रेस का विरोध किया था।

क्या कहा मोदी ने लखीमपुर में

-साल 2014 में परिवार नहीं टूटा
-हड़बड़ी में तीसरा घोषणापत्र जारी
-10 मुद्दे लाने पर भी यूपी में बचने की संभावना नहीं है।
-हर दिन 15-15 हत्याएं हो रही है।
-मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश को सपा-कांग्रेस की राजनीति ने तबाह कर दिया है।
-बीजेपी की सरकार बनी तो छोटे किसानों का कर्ज माफ कर दिया जाएगा।
-उत्तर प्रदेश की वजह से 30 साल बाद पूर्ण बहुमत की सरकार बनी, बीजेपी की सरकार बनने की पहली ही मीटिंग में किसानों का कर्ज माफ कर दिया जाएगा।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
पॉलिटिक्स भारतीये पॉलिटिक्स

अखिलेश और राहुल की की मेरठ मे दूसरी रैली

अखिलेश और राहुल ने आज मेरठ मे दूसरी बार रैली की


यूपी चुनाव के दौरान सपा और कांग्रेस में हुए गठबंधन के बाद आज दूसरी बार अखिलेश और राहुल ने एक रैली की। यह रैली मेरठ में की गई थी।

एक तरफ संसद तो दूसरी तरफ मेरठ में कसे गए तंज

जहां एक ओर अखिलेश और राहुल मेरठ में रैली कर रहे थे। वहीं दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संसद में राहुल पर तंज कस रहे थे।
यूपी में पहले चरण का चुनाव 11 फरवरी को होना है। पहले चरण के चुनाव मेरठ में भी होना है। इसलिए यहां चुनाव प्रचार का दौर चल रहा है। इससे पहले को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह यहां पदयात्रा करने आने वाले थे। लेकिन व्यापारी की हत्या के कारण वहां पदयात्रा रद्द करनी पड़ी। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी यहां यात्रा की।

राहुल गांधी और अखिलेश सिंह यादव

और पढ़े : राहुल गांधी ने यूपी की रैली में अखिलेश को बताया ‘ठीक लड़का’
चुनाव प्रचार के द्वारा सभी पार्टियां जनता को लुभाने में लगी है।

आज की इस रैली के दौरान राहुल गांधी ने कहा कि मोदी जी आते हैं और क्रोध फैलाते हैं, यहां से ये मैसेज जाना चाहिए कि इस प्रदेश में नफरत नहीं फैलाई जा सकती। मोदी जी से हम कहना चाहते हैं कि हम यूपी के साथ खड़े हैं इसे तोड़ा नहीं जा सकता।
और पढ़े : सपा ने जारी की उम्मीदवारों की पहली लिस्ट
स्कैम की परिभाषा ने मुझे हैरान कर दिया

अखिलेश यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले दिनों स्कैम की जो परिभाषा बताई उसने मुझे हैरान कर दिया। हैरान इसलिए क्योंकि इसमें मायावती का भी नाम था। आखिर मायावती को इसमें क्यों शामिल किया गया जबकि बीजेपी तीन बार यूपी में उनकी सहयोगी रह चुकी है।

इस मौके पर सपा और कांग्रेस के कार्यकर्ता यूपी को ये साथ पसंद है का बैनर लेकर आए थे।

इसके अलावा तख्यियां अखिलेश और राहुल को संबोधित करते हुए लिखा था करण अर्जुन आ गए मोदी तो गयो।
इससे पहले अखिलेश और राहुल ने रोड़ शो किया था।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
पॉलिटिक्स

कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर भड़के मुलायम सिंह

कार्यकर्ताओं को 105 सीटों पर भरे नामाकंन


कुछ ही दिनों में यूपी में विधानसभा चुनाव होने वाले है। लेकिन इससे पहले ही मुलायम सिंह एक बार और भड़क गए है। सपा और कांग्रेस के गठजोड़ को लेकर वह बहुत ज्यादा खफा हैं। सपा और कांग्रेस के गठजोड़ के खिलाफ होते हुए रविवार को मुलायम सिंह ने कहा “मैं चुनाव प्रचार नहीं करुंगा।“
सोमवार को थोड़ा और आगे बढ़ते हुए मुलायम सिंह ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि वह कांग्रेस को मिली सभी 105 सीटों पर नामांकन दाखिल करें। वहीं राहुल और अखिलेख साझा प्रेसे कॉफ्रेंस कर रहे हैं और रोड शो कर रहें हैं।

मुलायम सिंह
और पढ़े : सपा ने जारी की उम्मीदवारों की पहली लिस्ट

पहले चरण का नामांकन खत्म

सपा के साथ गठबंधन के तहत कांग्रेस को 105 सीटें मिली हैं। पहले चरण का नामांकन खत्म हो चुका है। मुलायम के इस निर्देश का मतलब है कि अगले पांच चरणों के चुनावों में कांग्रेस को मुलायम समर्थकों का भी सामना करना पड़ेगा।
मुलायम सिंह ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि मैंने जिदंगी भर सपा को कांग्रेस के खिलाफ लड़कर खड़ा किया और अब साथ जाने का कोई मतलब नहीं बनता है। साथ ही मुलायम सिंह ने कहा कि वह अभी भी अखिलेश को इस गठबंधन के खिलाफ समझाने की कोशिश कर रहे हैं। मुलायम ने कहा कि यह गठबंधन पार्टी को खत्म कर देगा।

सबने मेहनत की है उनका क्या होगा?

मुलायम सिंह यादव ने कहा कि कांग्रेस को मिली 105 सीटों पर हमारे नेता और कार्यकर्ता क्या करेंगे? सबने मेहनत की थी। अब उनका क्या होगा? ये ठीक नहीं. मैं पार्टी को खत्म नहीं होने दूंगा।
इससे पहले रविवार को समाजवादी पार्टी के पूर्व प्रमुख मुलायम सिंह ने यूपी विधानसभा चुनावों के लिए सपा और कांग्रेस के बीच हुए गठबंधन का विरोध किया था। लखनऊ में जब राहुल और अखिलेश एक साथ कैंपेन कर रहे थे। नाराज मुलायम दिल्ली पहुंच गए और कहा कि मैं गठबंधन के लिए प्रचार नहीं करुंगा।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
भारत

यूपी चुनाव में आरएलडी हुआ महागठबंधन से अलग

यूपी चुनावसे पहले महागठबंधन को लेकर चल रहा पेंच आजहुआ खत्म

यूपी चुनाव से पहले महागठबंधन को लेकर चल रहा पेंच आज खत्म हो गया है। आने वाले चुनाव में आरएलडी अकेले ही मैदान में उतरेंगी. महागठबंधन में आरएलडी ने अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान किया है।

सीटें के बंटवारे के लेकर है सारा मामला

सारा मामला सीटों को लेकर शुरु हुआ है। दरअसल आरएलडी यूपी में होने वाले चुनाव के लिए 30 सीटों के मांग कर रही है। लेकिन सपा उसे 17-20 तक सीट देने की बात कर रही है।

वहीं दूसरी ओर कांग्रेस के साथ भी गठबंधन को लेकर सीटों के बंटवारे की बात पर अटक रही है।

अजीत सिंह

कांग्रेस 100 से कम सीटों पर लड़ने को तैयार नहीं है। वहीं दूसरी ओर सपा सिर्फ 85 सीटें देने को तैयार हैं। इस बीच कांग्रेस अपनी परम्परागत सीट अमेठी-रायबरेली की सभी सीटें चाहती है। जबकि रामपुर की सीट को लेकर भी पेच फंसा हुआ है। अन्य दलों को लेकर भी महागठबंधन में शामिल करने को लेकर दिक्कतें हैं। इन सबके बीच अखिलेश सिंह यादव सपा की तैयारियों और रणनीति बनाने में जुटे हुए हैं। अखिलेश यादव गुरुवार को लखनऊ में सपा विधायकों से मुलाकात की।

विधायकों से मिलने के मद्देनजर कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर सस्पेंस बना हुआ है। लेकिन इस पर सहमति बनी हुई है। सारी बात सीटें के बंटवारे को लेकर अटकी हुई है।

राहुल गांधी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से की मुलाकात

 इससे पहले कांग्रेस महासचिव गुलाम नबी आजाद ने कहा कि वैसे तो इसका फैसला 24 से 36 घंटे में होना था, लेकिन कभी-कभी ये 100 घंटे भी हो सकते हैं। इससे पहले सपा के महागठबंधन की तैयारियों के बीच कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाधी ने प्रदेश के नेताओं के साथ बैठक की । इसमें प्रियंका भी शामिल हुई।

इससे पहले कांग्रेस की मुख्यमंत्री उम्मीदवार शीला दीक्षित ने कहा है कि अगर सपा और कांग्रेस का गठबंधन हो जाता है तो वह मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवारी छोड़ देगी। उनका कहना है कि एक राज्य में दो मुख्यमंत्री उम्मीदवार नहीं हो सकते हैं।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in
Categories
भारत

मुलायम सिंह अब भी सपा का चेहरा है- मुख्यमंत्री अखिलेश सिंह यादव

मुलायम सिंह यादव अब भी पार्टी का चेहरा: मुख्यमंत्री अखिलेश सिंह यादव

समाजवादी पार्टी में कई दिनों से चल रहे परिवारवाद के संघर्ष पर आखिरकार चुनाव आयोग ने विराम चिन्ह लगा ही दिया। कई दिनों से चल रहे इस आपसी मतभेद के बीच चुनाव आयोग ने सपा की कमान यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश सिंह यादव को सौंप दी है।

मुलायम सिंह यादव अब भी पार्टी का चेहरा

चुनाव आयोग के फैसले के बाद आज यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेख सिंह यादव ने कहा है“उनके पिता और समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव अब भी पार्टी का चेहरा हैं।“

इससे पहले चुनाव आयोग ने अखिलेख को साइकिल को चुनाव चिन्ह देने की अनुमति दी थी।

इसके साथ ही अखिलेश ने कहा कि उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में सपा मुलायम सिंह यादव के संरक्षण में लड़ेगी।

अखिलेश सिंह और मुलायम सिंह एक साथ

गठबंधन के लिए कुछ दिन और करना होगा इंतजार

वहीं दूसरी ओर कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर भी सपा जोर मारने लगी है। मुख्यमंत्री अखिलेख सिंह यादव का कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर कहना है कि अभी कुछ दिन और इंतजार करना होगा।

इसी के साथ ही कहा कि विधानसभा चुनाव को लिए उम्मीदवारों की सूची एक दो दिन में जारी की जाएंगी।

पिता के साथ रिश्ता कभी खत्म नहीं हो सकता

अखिलेश का अपने पिता मुलायम सिंह के साथ संबंध को लेकर कहना है कि वह एक ऐसा रिश्ता है जो कभी खत्म नहीं हो सकता। लेकिन पिता और पुत्र का झगड़ा किसी से नहीं छुपा है। बात चुनाव आयोग तक पहुंच गई।

इसके साथ ही कहा है कि हम दोनों के बीच कोई मतभेद नहीं है। यहां तक की हम दोनों के लिस्ट में लगभग 90 फीसदी उम्मीदवार एक समान हैं। अब हम पर बड़ी जिम्मेदारी है और हमारा पूरा ध्यान सरकार बनाने पर है।

इससे पहले गठबंधन को लेकर कांग्रेस की तरफ से मुख्यमंत्री उम्मीदवार शीला दीक्षित ने कहा है कि अगर कांग्रेस और सपा का गठबंधन हो जाता है तो वह मुख्यमंत्री उम्मीदवार से नाम वापस ले लेगी क्योंकि एक राज्य में दो मुख्यमंत्री नहीं हो सकते।

Categories
पॉलिटिक्स

मेरे रहते पार्टी टूट नहीं सकती- मुलायम सिंह यादव

सपा में चल रही परिवार कलह के बीच आज सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने पार्टी कार्यलय ने पार्टी के कार्याकताओं को संबोधित किया।

पार्टी की संबोधित करते हुए कहा कि ‘मेरे रहते पार्टी टूट नहीं सकती।

मुलायम ने यह सारी बातें पार्टी में चल रही कलह को लेकर कहा है। साथ ही कहा कि पार्टी को बनाने में सभी ने बहुत मेहनत की है।

मुलायम सिंह यादव

मुलायम ने इशारों इशारों ने कहा है कि बर्खास्त मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति को  पार्टी में दोबारा से शामिल किया जा सकता है।

आपको बता दें मंगलवार को अखिलेश यादव और उसके चाचा शिवपाल के बीच पार्टी के पदों को लेकर आपसी मतभेद हो गया था।

शिवपाल को सपा प्रदेशाध्यक्ष बनाए जाने के बाद अखिलेश सरकार ने उनके सारे पदभारों को छीन लिया गया था। जिसके बाद से ही शिवपाल नाराज चल रहे थे। जिसे मुलायम ने बहुत जदोजह्त के बाद मना लिया था। लेकिन बाद में शिवपाल ने अपने सभी पदों से इस्तीफा दे दिया था।

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at
info@oneworldnews.in