Categories
बिना श्रेणी

बी-टाउन celebs जिन्होंने ने अडोप्शंस को कहा हाँ और बच्चों को दिया बेहतर जीवन

बॉलीवुड हस्तियाँ जिन्होंने बच्चों को गोद लेकर बेहतर जीवन दिया


हमारे समाज में बच्चा गोद लेना हमेशा प्रश्नों से घेरा रहा हैं। जब भी कभी गोद लेने का नाम आता है तो लोग प्रश्न भरी नजरों से देखते हैं या महिला के बाँझ होने पर  सवाल उठा देते हैं।निश्चित रूप से माता-पिता बनने समाज का एक सबसे पारंपरिक तरीका है लेकिन आज भी समाज में कुछ ऐसे लोग है जो बच्चों को गोद लेने का फैसला करते हैं। ऐसा करने का मतलब यह नहीं कि उन्हें बच्चा नहीं हो सकता बल्कि वो गर्भवती होने की कठिन प्रक्रिया से गुजरना नहीं चाहते और वो समाज की भलाई के बारें में सोचते हैं।

आज भी हमारे समाज में कुछ ऐसी बॉलीवुड हस्तियां है जिन्होंने बच्चे को गोद लेने की निर्णय लेकर उन्हें एक बेहतर जीवन दिया। साथ ही उन्हें सभी हक़ और प्यार भी दिया। ऐसा साहसिक कदम उठाने का फैसला उन्होंने अपने बलबूते पर लिया।आइये जानते है ऐसी बॉलीवुड हस्तियां जिन्होंने ऐसा कदम उठाया।

1. मिथुन चक्रबर्ति

हमारे समाज में जहाँ लड़की के होने पर उसे सड़क पर छोड़ दिया जाता है या मार दिया जाता है वही मिथुन दा ने पश्चिम बंगाल में एक गलियारे में कचरे के ढेर के पास एक बच्ची को बचाते हुए उससे एक नया जीवनदान और एक बेहतर जीवन दिया। हालाँकि दिशानी को अपनाने से पहले मिथुन और उनकी पत्नी योगिता बाली के पहले से ही तीन बेटे थे- मिमोह, रिमोह और नमशी। दिशानी अब न्यूयॉर्क में अभिनय का कोर्स कर रही हैं।

2. शोभना

एक प्रमुख समाचार पोर्टल के अनुसार, प्रसिद्ध भरतनाट्यम नर्तक और मलयालम अभिनेता ने 2001 में एक बच्ची को गोद लिया था जब वो सिर्फ 6 महीने की थी। अब वो 6 माह की बच्ची जिसका नाम अनंतनारायणी रखा था, अब एक प्यारी सी लड़की बन गई है। शोभना ने अपने जीवन में बेबी अनंतनारायणी का खुले हाथों से स्वागत किया है और वह अकेले ही उसको बड़ा करने में लगी हैं।

3.सुष्मिता सेन

सुष्मिता सेन ने अपने जीवन में हर भूमिका को अत्यंत सफलता के साथ निभाया है। चाहे वह मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता जीतने की बात हो या ऑनस्क्रीन किसी महिला भूमिका को निभाने की बात कही हैं। दूसरी तरफ एक सिंगल मदर बनने में भी वो कामयाब रही। दो खूबसूरत लड़कियों रिनी  और अलिसाह को गोद लेना उनके जीवन की सबसे बड़ी उपलब्धियों में से एक है। हमारे देश में गोद लेने के कठिन कानूनों के कारण, दूसरी बेटी को गोद लेना सुष्मिता के लिए आसान नहीं था। हमारे कानून के मुताबिक, एक ही लिंग के दो बच्चों को अपनाने की अनुमति नहीं होती है। अभिनेत्री ने सभी कानूनी बाधाओं के होने के बावजूद दो बेटियों को गोद लिया।

Read more: Holi Detox – होली के बाद बॉडी डेटॉक्स करने के लिए 5 टिप्स

4. रवीना टंडन

रवीना टंडन ने दो खूबसूरत लड़कियों – छाया और पूजा को गोद लेने का फैसला किया।  उन्होंने उस वक़्त इन दोनों बच्चियों को गोद लिया जब जब वह अपने करियर के पीक पर थी। इस अभिनेत्री ने दूर के चचेरे भाई की लड़कियों को गोद लिया और उन्हें एक माँ के रूप में पाला। बाद में, उन्होंने अनिल थडानी से शादी कर की और शादी के बाद दो बच्चों  –  राशा और रणबीर को जन्म दिया। पूजा और छाया अब शादीशुदा खुशहाल जिंदगी जी रही हैं।

5. सलीम खान

प्रसिद्ध पटकथा लेखक, निर्माता और अभिनेता सलीम ने समाज के उन सभी मानदंडों को तोड़ दिया जब उन्होंने हेलेन से शादी करने के बाद अर्पिता को गोद लिया था। हालाँकि सलीम खान को हेलेन से अरबाज, सोहेल, सलमान और अलवीरा के पिता बनने का सुख मिला। अर्पिता की परवरिश उनके चार बच्चों के साथ हुई थी और वे उनके परिवार की एक मुख्य और प्यारी सदस्य हैं। उनकी शादी आयुष शर्मा के साथ हो चुकी हो और वीओ अब दो बच्चों की माँ हैं।

अगर आपके पास भी हैं कुछ नई स्टोरीज या विचार, तो आप हमें इस ई-मेल पर भेज सकते हैं info@oneworldnews.com

Categories
मनोरंजन

मै हूँ ना के 8 ‘unforgettable’ dialogues

फिल्म मैं हूँ को हो गए 14 साल : आज भी इसका जादू है कायम


फिल्म मैं हूँ ना को हाल मे ही 14 साल पूरे हुए है.  इस फिल्म में शाहरुख़ खान और सुष्मिता सेन ने एक साथ काम किया था.  दर्शको को इनकी केमिस्ट्री काफी पसंद है आज भी इस फिल्म के डायलॉग दर्शको को लुभाते है

जब बात रोमांस के किंग की हो तो यह फिल्म शारुख के फैन्स अपने आप ये फिल्म देखने जाते है. साथ ही इस फिल्म में सुष्मिता सेन के एक्टिंग  की काबिल –ऐ तारीफ है.

मै हूँ ना

जाने मैं हूँ ना के डायलोगस जो हमको लुभाते है :

  1. Zindagi nikalti jaati hai aur hum sab pyar ke bina jeena seekh lete hai … kyun pyar ko mauka nahi dete, kyun apno par vishvas nahi karte
  2. Nafrat bahut soch samajhkar karni chahiye … kyun ki ek din hum bhi wahi ban jaate hai, jise hum nafrat karte hai
  3. Apne baalo ko khule hi rakhiye , aap khule balon mai bahut achhi lagti hai
  4. Yeh zindagi nafrat ke liye bahut choti hai
  5. Teen baar lagataar fail hona koi mamuli baat nahi hai … lekin dosto agar mehnat, lagan aur imaandari se koshish ki jaye toh aap sab is mukaam pe pahunch sakte ho
  6. Fasla kitna bhi lamba ho … shuruvat ek kadam se hoti hai
  7. Bees saalon ke zakhm … bees dino mein nahi bhare jaate hai
  8. Chehra wahi chupate hai … jinhe apni asliyat se sharam aati hai

यह वोह डायलॉग्स है जो हमे अभी भी याद है.

Have a news story, an interesting write-up or simply a suggestion? Write to us at info@oneworldnews.in